News Nation Logo
Banner

दिल्ली हिंसा: प्रमुख षड्यंत्रकारियों ने 'गुरिल्ला रणनीति' को अपनाने का लिया था फैसला

देश की राजधानी दिल्ली में फरवरी में हिंसा के मामले में परत-दर-परत साजिशों का खुलासा हो रहा है. इस हिंसा को लेकर अब एक और खुलासा हुआ है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 23 Sep 2020, 07:47:02 AM
Delhi Violence

दिल्ली हिंसा: साजिशकर्ताओं ने गुरिल्ला रणनीति अपनाने का लिया था फैसला (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

देश की राजधानी दिल्ली में फरवरी में हिंसा के मामले में परत-दर-परत साजिशों का खुलासा हो रहा है. इस हिंसा को लेकर अब एक और खुलासा हुआ है. प्रमुख षड्यंत्रकारियों ने नरसंहार के लिए कानून प्रवर्तन एजेंसियों को जिम्मेदार ठहराने के लिए 'गुरिल्ला रणनीति' को अपनाने का फैसला किया था. दिल्ली पुलिस ने आरोप पत्र में इस बात का दावा किया है. दिल्ली की अदालत में 16 सितंबर को पुलिस ने आरोप पत्र में दाखिल था.

यह भी पढ़ें: दिल्ली हिंसाः 1 करोड़ रुपए से जुटाया गया CAA पर विरोध-प्रदर्शन 

पुलिस ने आरोप लगाया, 'जब दिल्ली प्रोटेस्ट सपोर्ट ग्रुप (डीपीएसजी) के कुछ सदस्यों ने इस पर अपनी नाराजगी जाहिर की और उनकी आतंकवादी गतिविधियों को उजागर करने की धमकी दी तो षड्यंत्रकारी घबरा गए थे.' पुलिस ने आरोप पत्र में दावा किया गया है, 'प्रमुख साजिशकर्ताओं द्वारा की गई हिंसा से असंतुष्ट और निराश डीपीएसजी व्हाट्सएप समूहों के कुछ सदस्यों ने डीपीएसजी समूह के उन सभी दोषियों को बेनकाब करने की धमकी दी जो इन दंगों के लिए जिम्मेदार है.'

यह भी पढ़ें: ED ने दुबई में इकबाल मिर्ची की 200 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की

इसमें दावा किया गया है, 'फेसबुक पोस्ट और व्हाट्सएप बातचीत उन तथ्यों को स्थापित करते हैं, जिनमें जेएनयू के छात्र शरजील इमाम ने खुद को कभी भी विरोध से अलग नहीं किया था.' ज्ञात हो कि राष्ट्रीय नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थकों और विरोधियों के बीच हुई हिंसा के बाद गत 24 फरवरी को उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा में 53 लोगों की मौत हो गई थी. इस हिंसा में लगभग 200 अन्य घायल हुए थे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 23 Sep 2020, 07:47:02 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो