News Nation Logo

बाजार में 1000 रुपये की मिलेगी कोविशील्ड, फरवरी तक आएंगी 5.6 करोड़ डोज

Covishield Vaccine Market Price: सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute) ने मंगलवार से कोविशील्‍ड (Covishield vaccine) की 56.5 लाख डोज की पहली खेप की डिलीवरी कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 13 Jan 2021, 11:01:12 AM
Covishield

बाजार में 1000 रुपये की मिलेगी कोविशील्ड, फरवरी तक आएंगी 5.6 करोड़ डोज (Photo Credit: ANI)

पुणे:

Covishield Vaccine Market Price: कोरोना वैक्सीन के लिए भारत में 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान (Covid Vaccination in India) शुरू किया जा रहा है. इसके लिए सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute) ने मंगलवार को कोविशील्‍ड (Covishield vaccine) की पहली खेप की डिलीवरी शुरू कर दी है. सीरम के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने फरवरी में कोविशील्ड की 5.6 करोड़ डोज की डिलीवरी होगी. उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि बाजार में वैक्सीन की कीमत 1000 रुपये रखी गई है.

यह भी पढ़ेंः Jack Ma की कंपनियों का राष्ट्रीयकरण कर सकती है चीन की सरकार

फरवरी तक भेजेंगे सरकार का बाकी का ऑर्डर
पूनावाला ने कहा, 'सीरम की पहली प्राथमिकता भारत सरकार है. सरकार ने 1.1 करोड़ कोविशील्‍ड का ऑर्डर दिया है. 56.5 लाख डोज की डिलीवरी हो चुकी है. सरकार का शेष ऑर्डर 5.6 करोड़ डोज फरवरी तक सप्‍लाई कर दिया जाएगा.' उन्होंने कहा, 'सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) में हर माह सात से आठ करोड़ डोज का उत्‍पादन किया जा सकता है. एसआईआई वैक्सीन की डोज का समान वितरण सुनिश्चित करना चाहती है.'

प्राइवेट मार्केट में वैक्सीन की एक डोज की कीमत 1000 रुपये
अदार पूनावाला ने कहा, 'हम आम आदमी, कमजोर, गरीब और हेल्‍थकेयर वर्कर की मदद करना चाहते हैं. इसलिए हमने भारत सरकार के आग्रह पर पहले एक करोड़ डोज के लिए 200 रुपये की विशेष कीमत तय की है. शेष 5.6 करोड़ डोज के लिए भी हमने उचित कीमत रखी है. यह 200 रुपये से कुछ अधिक होगी जो हमारा लागत मूल्‍य है. इसके बाद हम प्राइवेट मार्केट में इसे 1000 रुपये प्रति डोज की कीमत से बेचेंगे.'

यह भी पढ़ेंः उपराष्ट्रपति पेंस का ट्रंप को हटाने से इनकार, महाभियोग पर बहस शुरू

कई देशों के साथ है सीरम के करार
अदार पूनावाला ने बताया, 'हमारे कई देशों के साथ करार हैं-सऊदी अरब, ब्राजील, बांग्‍लादेश और अफ्रीकी देश. ये देश भारत की ओर उम्‍मीद से देख रहे हैं, क्‍योंकि हमारे पास बड़ी उत्‍पादन सुविधाएं हैं. दुनिया की छोटी कंपनियां अभी समुचित संख्‍या में कोरोना डोज का निर्माण करने की स्थिति में नहीं हैं.'

अदार पूनावाला ने कहा, कई देश प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र लिखकर हमारी वैक्‍सीन की मांग कर रहे हैं. हम सभी को खुश करने की कोशिश में हैं पर हमें अपने देश और आबादी का सबसे पहले ख्‍याल रखना है. साउथ अफ्रीका और अन्‍य अफ्रीकी देशों में हम वैक्सीन सप्लाई की कोशिश कर रहे हैं. पूनावाला बोले- हम हर महीने 7-8 करोड़ डोज बना रहे हैं. इस बात पर मंथन किया जा रहा है कि कितने डोज देश में और कितने विदेशों में भेजने हैं. हेल्थ मिनिस्ट्री के लॉजिस्टिक्स प्लांस के अनुसार हमने ट्रांसपोर्टेशन के लिए प्राइवेट प्लेयर्स के साथ भी पार्टनरशिप की है.

First Published : 13 Jan 2021, 11:01:12 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.