News Nation Logo
Banner

Corona संक्रमण बढ़ रहा सुरसा के मुंह की तरह, नए मामले 2.60 लाख पार

भारत में कोविड-19 रोगियों की संख्या 1.50 करोड़ और मृतकों की संख्या 1.75 लाख के करीब पहुंचने के नजदीक है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 18 Apr 2021, 07:39:08 AM
Corona

लगातार तीसरे दिन कोरोना संक्रमण के नए मामले 2 लाख पार. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • लगातार तीसरे दिन कोरोना संक्रमण ने पार की 2 लाख की संख्या
  • एक दिन में मिले 2,60,533 कोविड-19 संक्रमण के नए मामले
  • 15 राज्यों में सबसे बुरा हाल. महाराष्ट्र, दिल्ली, यूपी में भयावह होड़

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी की भयावहता का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि लगातार तीसरे दिन नए संक्रमण के मामलों ने 2 लाख की संख्या पार की है. शनिवार देर रात तक तो भारत (India) में कोविड-19 संक्रमण के मामले ढाई लाख पार कर 2,60,533 तक पहुंच गए. यही नहीं, बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण (Corona Epidemic) से 1500 से अधिक लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा है. देश के तमाम राज्यों में लॉकडाउन औऱ कर्फ्यू जैसे हालातों से बड़ी आबादी को गुजरना पड़ रहा है. इसके साथ ही दिल्ली सहित 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ऑक्सीजन सिलेंडर, टीके की खुराक और रेमडेसिविर की मांग भी बढ़ गई है. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) जहां कोविड-19 की समीक्षा बैठक को विवश हुए तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कोविड-19 महामारी की स्थिति को 'चिंतित करने वाला करार दिया है.

कुल रोगियों की संख्या डेढ़ करोड़ पहुंचने के करीब
इसके साथ ही कुल संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ 47 लाख 82 हजार के पार पहुंच गया है. यानी भारत में कोविड-19 रोगियों की संख्या 1.50 करोड़ और मृतकों की संख्या 1.75 लाख के करीब पहुंचने के नजदीक है. नए मामले बढ़ने से मरीजों के उबरने की दर लगातार गिर रही है और वर्तमान में यह 87.23 फीसद पर आ गई है. दैनिक मौतों का आंकड़ा भले ही बढ़ रहा है, लेकिन मृत्युदर में लगातार गिरावट आ रही है और अभी यह 1.21 फीसद है. वहीं, राज्यों द्वारा हाल में बढ़े मामलों के रोकथाम और प्रबंधन के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बैठक की. कोविड-19 की स्थिति से निपटने के लिए जन स्वास्थ्य तैयारियों की समीक्षा करने के लिए बुलाई गई बैठक में मोदी ने महामारी को हराने के लिए राज्यों में सहयोग का आह्वान किया और साथ ही कहा कि दवा निर्माण की पूर्ण राष्ट्रीय क्षमता का इस्तेमाल किया जाए.

यह भी पढ़ेंः Live: कोरोना से बिगड़े हालात, लाखों की भीड़ अस्पतालों में तो देश की आधी जनता घरों में कैद

15 राज्यों में सबसे बुरा हाल
महाराष्ट्र समेत देश के 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में महामारी की स्थिति सबसे खराब है. सबसे बुरी तरह से प्रभावित महाराष्ट्र में रिकॉर्ड 67,123 नए केस मिले हैं. उत्तर प्रदेश में लगातार दूसरे दिन 27 हजार से अधिक (27,334) मामले पाए गए. दिल्ली में 24,375 नए केस सामने आए और कर्नाटक में 17 हजार से ज्यादा नए मामले पाए गए हैं. केरल में रिकॉर्ड 13,835 नए केस मिले हैं. मंत्रालय के मुताबिक 2.34 लाख नए मामलों में से 79.32 फीसद सिर्फ 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में मिले हैं. ये राज्य हैं महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, केरल, गुजरात, तमिलनाडु और राजस्थान. 

यह भी पढ़ेंः  दिल्लीः कोरोना ने सभी रिकॉर्ड तोड़े 24 घण्टे में 24375 नए मामले; 167 की मौत

पीएम मोदी अधिकारियों के साथ की बैठक
संभवतः कोविड-19 संक्रमण के सुरसा जैसे बड़े मुंह को देखते हुए शनिवार को बैठक में प्रधानमंत्री ने जांच, संपर्क का पता लगाने और फिर उपचार की दिशा में आगे बढ़ने पर जोर दिया और कहा कि इनका कोई विकल्प नहीं है. उन्होंने राज्यों से बेहतर तालमेल सुनिश्चित करने और कोविड-19 के मरीजों के लिए अस्पतालों में बिस्तर की उपलब्धता को बढ़ाने के लिए हरसंभव कदम उठाने का निर्देश दिया. उन्होंने लोगों की चिंताओं के प्रति स्थानीय प्रशासन को संवेदनशील और आगे बढ़कर सक्रियता दिखाने पर जोर दिया. प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर दवाइयों की बढ़ती मांग के मद्देनजर देश के दवा निर्माता उद्योग की पूरी क्षमता का उपयोग करने की आवश्यकता जताई तथा साथ ही रेमडेसिविर और अन्य दवाइयों की आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा की.

First Published : 18 Apr 2021, 07:33:31 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.