News Nation Logo

मैं झूठ नहीं बोलने वाला, चाहे मेरा भविष्य डूब जाए- भारत-चीन विवाद पर बोले राहुल

राहुल गांधी ने एक नया वीडियो जारी किया है और कहा है कि एक भारतीय होने के नाते मेरी पहली प्राथमिकता देश और इसकी जनता है. उन्होंने कहा है कि देश के बारे में सच बताने वाला देशविरोधी नहीं होता.

News Nation Bureau | Edited By : Aditi Sharma | Updated on: 27 Jul 2020, 12:19:34 PM
rahul gandhi

राहुल गांधी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

राहुल गांधी ने एक नया वीडियो जारी किया है और कहा है कि एक भारतीय होने के नाते मेरी पहली प्राथमिकता देश और इसकी जनता है. उन्होंने कहा है कि देश के बारे में सच बताने वाला देशविरोधी नहीं होता. जब उनके पूछा गया कि उन लोगों के बारे में आपका क्या ख्याल है जो कहते हैं, प्रधानमंत्री से चीन पर आपके सवाल, भारत को कमजोर कर रहे हैं ? तो उन्होंने कहा, अब, यह एकदम साफ है कि चीनी हमारे इलाके में घुस गये हैं. यह बात मुझे परेशान करती है. इससे मेरा खून खौलने लगता है.

यह भी पढ़ें: मोदी है तो मुमकिन हैः रूस ने निभाई भारत से दोस्ती, चीन को नहीं देगा S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम

उन्होंने कहा, कैसे एक दूसरा देश हमारे इलाके में घुस आया? अब आप एक राजनीतिज्ञ के तौर पर चाहते हैं कि मैं चुप रहूं और अपने लोगों से झूठ बोलूं. जबकि मैं निश्चित रूप से जान गया हूं. मैंने उपग्रह की तस्वीरें देखी हैं. मैंने पूर्व सैन्यकर्मियों से बात की है.

उन्होंने कहा, अगर आप चाहते हैं कि मैं झूठ बोलूं कि चीनी इस देश में नहीं घुसे हैं तो मैं स्पष्ट कर दूं कि मैं झूठ नहीं बोलने वाला. मैं चिंता नहीं करता, चाहे मेरा पूरा भविष्य डूब जाए. लेकिन मैं झूठ नहीं बोल सकता. मैं सोचता हूं, वो लोग जो चीनियों के हमारे देश में घुसने के बारे में झूठ बोल रहे हैं, वही लोग राष्ट्रवादी नहीं हैं.

यह भी पढ़ें: भारत आ रहा है 'गेंमचेंजर' फाइटर जेट, फ्रांस से राफेल (Rafale) विमान रवाना

राहुल गांधी ने कहा, मेरे ख्याल में, जो लोग झूठ बोल रहे और कह रहे हैं कि चीनी भारत में नहीं घुसे हैं, वो ऐसे लोग हैं. जो देशभक्त नहीं हैं. इसलिए स्पष्ट कहूं, मैं चिंता नहीं करता यदि इसका राजनीतिक मूल्य भी चुकाना पड़े. जहां तक भारतीय क्षेत्र का संबंध है, मैं केवल सच बोलूंगा. गौरतलब है कि लद्दाख में एलएसी पर पिछले कई हफ्तों से तनाव बना हुआ है. दोनों देशों के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है और चीन ने अपने सैनिकों को पीछे हटाने पर सहमति जताई थी, हालांकि खबरों में कहा गया है कि कुछ इलाकों में गतिरोध की स्थिति अब भी बनी हुई है

First Published : 27 Jul 2020, 12:11:27 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.