News Nation Logo
Banner

दिल्ली में कोरोना से हाहाकार, CM केजरीवाल ने की CBSE परीक्षा रद्द करने की मांग

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं को कैंसिल करने की मांग की है. केजरीवाल ने कहा कि इस बार जो वेव है वो बहुत खतरनाक है. इस वेव में यूथ और बच्चे इफेक्ट हो रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 13 Apr 2021, 12:45:27 PM
Arvind Kejriwal

Arvind Kejriwal (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • यूथ और बच्चे ज्यादा इफेक्टेड हो रहे हैं-केजरीवाल
  • केजरीवाल ने लोगों से घर में क्वारंटीन होने की अपील की

नई दिल्ली:  

देश में कोरोना (Coronavirus) की दूसरी लहर बड़ी तेजी के साथ बढ़ रही है. इस महामारी (COVID-19) के कारण एक बार फिर हालात एक बार फिर से बेकाबू होते जा रहे हैं. कोरोना के नए केस ने पुराने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए. आलम ये है कि तकरीबन हर रोज एक लाख से ज्यादा नए मरीज सामने आ रहे हैं. यूपी में कोरोना वायरस से हाहाकार मचा हुआ है. दिल्ली-मुंबई के हालात तो इतने खराब हो चुके हैं कि यहां अस्पतालों में बेड्स की कमी सामने आने लगी है. श्मशान घाटों पर भी अंतिम संस्कार के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है. 

ये भी पढ़ें- खतरनाक हो रही कोरोना की दूसरी लहर, एकसाथ टूटे कई अनचाहे रिकॉर्ड

दिल्ली में कोरोना हर रोज नया रिकॉर्ड बना रहा है. दिल्ली में आज कोरोना के 13 हजार 500 नए मामले सामने आए हैं. ऐसे हालातों को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं को कैंसिल करने की मांग की है. केजरीवाल ने कहा कि इस बार जो वेव है वो बहुत खतरनाक है. इस वेव में यूथ और बच्चे इफेक्ट हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि 65% मरीज 45 साल से कम उम्र के हैं, ऐसे में मेरी युवाओं से अपील है कि वे अपना विशेष ख्याल रखें.

उन्होंने कहा है कि अभी सीबीएसई के एग्जाम आने वाले हैं और दिल्ली में 6 लाख बच्चे इन परीक्षाओं में बैठेंगे, मेरी हाथ जोड़कर केंद्र से अपील है कि सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द कर दीजिए. उन्होंने कहा कि बच्चों को पास करने का कोई दूसरा तरीका हो सकता है लेकिन परीक्षा रद्द करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि 1 लाख अध्यापक परीक्षा लेने में शामिल होंगे और बड़ा खतरा है कि परीक्षा की वजह से संक्रमण तेजी से फैल सकता है. 

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन के डर से दिल्ली-महाराष्ट्र से मजदूरों का पलायन, रेलवे स्टेशनों पर जमा हुई भीड़

केजरीवाल ने कहा कि इस वाली वेव में यूथ और बच्चे ज्यादा इफेक्टेड हो रहे हैं. सबसे पहले युवाओं से अपील है, पिछले 10-15 दिन का डाटा दिखाता है कि 65 प्रतिशत मामले 45 साल से कम उम्र के हैं, युवाओं से अपील है कि वे देश के लिए बहुत कीमती हैं. आपका स्वास्थ्य और सुरक्षा हम सबके लिए बेहद जरूरी है. उन्होंने कहा कि मैं समझ सकता हूं कि आपके ऊपर अपने परिवार की जिम्मेदारी है, आपको घर से निकलना पड़ता है उन जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए, रोटी कमाने के लिए जिंदगी चलाने के लिए. लेकिन घर से अगर निकला है तो तभी निकले जब जरूरी हो और निकलते समय कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन करें, अगर आप 45 साल से ऊपर हैं तो जल्द जाकर वैक्सीन लगवा लीजिए.

उन्होंने ने लोगों से घर में क्वारंटीन होने की अपील की. उन्होंने कहा कि अस्पताल में जो मरीज हैं, एक-एक डॉक्टर चेक कर रहे हैं कि अगर वो घर मे ठीक हो सकते हैं तो उन्हें घर जाने का अनुरोध कर रहे हैं. ताकि अस्पताल में बेड खाली हो सके, डॉक्टर की सलाह के तरह लोग काम करें सभी की जान कीमती है.

First Published : 13 Apr 2021, 12:27:20 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.