News Nation Logo

बांग्लादेश के तट की ओर 400 किमी अंदर आ गया 'अम्फान', 1 की मौत, लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा

चक्रवाती तूफान अम्फान के चलते बंगाल और ओडिशा में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है. लोगों की सुरक्षा के लिए एनडीआरएफ की 41 टीमों को तैनात किया गया है. अनुमान लगाया जा रहा है कि अम्फान भारी तबाही मचा सकता है.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 20 May 2020, 04:56:09 PM
amphan

चक्रवाती तूफान अल्फान (Photo Credit: ट्विटर ANI)

नई दिल्ली:

चक्रवाती तूफान अम्फान (Cyclone Amphan) के चलते बंगाल और ओडिशा में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है. लोगों की सुरक्षा के लिए एनडीआरएफ (NDRF) की 41 टीमों को तैनात किया गया है. अनुमान लगाया जा रहा है कि अम्फान भारी तबाही मचा सकता है. हालांकि आपदा दल को तैनात कर दिया गया है. किसी भी जोखिम से निपटने को तैयार है. लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है. वहीं दूसरी तरफ बंगाल के तट पर चंक्रवाती तूफान अल्फान पहुंच गया है. जिससे बांग्लादेश में एक लोगों की मौत हो गई है. अल्फान के बंगाल के तट पर पहुंचते ही पश्चिम बंगाल के सुन्दरबन के नजदीक तेज बारिश शुरू हो गई है. हवा की रफ्तार अधिकतम 155-165 किलोमीटर प्रतिघंटा है. अम्फान के आने के मद्देनजर 20 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा है और चक्रवात से जुड़ी घटनाओं से निपटने के लिए सेना को तैनात किया है.

यह भी पढ़ें- आयुष्मान भारत योजना (PMJAY) के तहत अभी तक एक करोड़ से अधिक लोगों ने निशुल्क इलाज का लाभ उठाया

चक्रवात के बाद भी 24 टीमें 15 मिनट के समय पर वायुसेना की मदद से और बुलाई जा सकती है

अल्फान बांग्लादेश के तट की ओर 400 किमी अंदर आ गया है और बुधवार शाम तक इसके असर दिखाने की आशंका है. रिपोर्ट में आपदा प्रबंधन एवं राहत मंत्री इनामुर रहमान के हवाले से कहा गया कि बुधवार शाम छह बजे चक्रवात आने की आशंका है. एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि चक्रवात तटरेखा छू चुका है. दक्षिण 24 परगना में ndrf कमांडर मौजूद हैं. सभी 20 टीमें मैदान पर हैं. कलकत्ता में 2 अतिरिक्त टीमें भेजी गई हैं. सभी के पास सेटेलाइट फोन है, करोना के संदर्भ में काम चल रहा है. सभी 41 टीमें लगी हई हैं. पश्चिम बंगाल में कुल 19 टीमें डिप्लाइ की गई हैं, 2 रिजर्व पर है. उड़िसा में 20 टीमें लगाई गई हैं. चक्रवात के बाद भी 24 टीमें 15 मिनट के समय पर वायुसेना की मदद से और बुलाई जा सकती है.

यह भी पढ़ें- पार्टी के अंदर ही होने लगा प्रियंका का विरोध, आदिती सिंह के बाद पूर्व मंत्री ने कही ये बात

160km/h रफ्तार से हवाएं चल रही हैं

पश्चिम बंगाल से 5 लाख, उड़िसा से 1.58 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. शेल्टर क्षेत्रों में भी ndrf की टीम मौजूद है. उत्तर उड़ीसा में अम्फन का सबसे ज्यादा असर रहा है. अनुमान के मुताबिक बारिश हुई. दीघा और हतिया द्रीप से तटरेखा पर अम्फन पहुंचा. चक्रवात शाम तक कोलकाता पहुंचेगा. 160km/h रफ्तार से हवाएं चल रही हैं. कोलकाता में 110km/h रफ्तार से हवा चल सकती है. 24 परघना और मिदनापुर सबसे ज्यादा प्रभावित होगा. चक्रवात की आई तटरेखा पर पहुंची. आई आने पर आधे घंटे के लिए वर्षा और हवाएं थम जाएंगी. इसके बाद तेज़ बारिश होगी. तब ज्यादा खतरा रहेगा. पेड़ों, कच्चे घरों, बिजली, रेल, सड़कों को नुकसान की आशंका है,. 13 मई से हमें अंदाज़ा हो गया था, 16 से हमने चक्रवात का पूर्वअनुमान लगाया था.

यह भी पढ़ें- Top 5 Sports News : टीम इंडिया के दो बड़े खिलाड़ियों की प्रेक्टिस में फंसा पेंच, पढ़ें दिन की बड़ी खबरें

10-15 तटरेखा के अंदर तक असर दिखेगा. कच्चे मकानों को नुकसान पहुंचेगा

185km/h मिदनापुर और 24 परगना में, कलकत्ता 135 की रफ्तार की हवाएं. बांग्लादेश समेत 13 देशों को चक्रवात की जानकारी दे रहे हैं. कल असम और मेघालय में बहुत तेज़ बारिश होगी. उड़ीसा और पश्चिम बंगाल में सिर्फ आज ही तेज़ बारिश होगी. कल से बारिश में कमी दिखेगी. 21 तारीख को उत्तरी पश्चिमी बगांल, सिक्कम, मेघालय में बारीश होगी. 4-5 मीटर की लहरें रहेंगी. इससे छोटी नदियों में भी असर दिखेगा. 10-15 तटरेखा के अंदर तक असर दिखेगा. कच्चे मकानों को नुकसान पहुंचेगा. मैदानी जिलों में भी तेज़ हवाओं से नुकसान होगा.

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 20 May 2020, 04:18:06 PM

Related Tags:

Amphan Cyclone Bangladesh Death