News Nation Logo

पार्टी के अंदर ही होने लगा प्रियंका का विरोध, आदिती सिंह के बाद पूर्व मंत्री ने कही ये बात

उत्तर प्रदेश में बस पॉलिटिक्स चल रही है. प्रियंका गांधी ने यह मांग की थी कि कांग्रेस पार्टी अपने खर्चे से प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाना चाहती है. इसके लिए पार्टी एक हजार बसों का इंतजाम करेगी. जिस पर योगी सरकार ने कहा था कि बसों की लिस्ट और ड्राइवरों का नाम उपलब्ध कराया जाए. खबर है कि कांग्रेस ने बसों की जो लिस्ट भेजी थी उसमें ऑटो और मोटरसायकिल के नंबर भी शामिल थे.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 20 May 2020, 04:13:41 PM
satya dev

सत्य देव त्रिपाठी। (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में बस पॉलिटिक्स चल रही है. प्रियंका गांधी ने यह मांग की थी कि कांग्रेस पार्टी अपने खर्चे से प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाना चाहती है. इसके लिए पार्टी एक हजार बसों का इंतजाम करेगी. जिस पर योगी सरकार ने कहा था कि बसों की लिस्ट और ड्राइवरों का नाम उपलब्ध कराया जाए.

अब खबर यह है कि कांग्रेस ने बसों की जो लिस्ट उपलब्ध कराई थी उसमें ऑटो और मोटरसायकिल के नंबर भी शामिल थे. जिसके बाद अब पार्टी के भीतर ही प्रियंका के विरोध के सुर सुनाई दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें- क्या सरकार ऑटो पायलट पर चल रही है? लॉकडाउन को लेकर कांग्रेस का सवाल

पहले रायबरेली की विधायक आदिति सिंह ने अपनी ही पार्टी पर निशाना साधा. तो वहीं अब पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी ने अपनी पार्टी पर निशाना साधा है. फेसबुक पोस्ट में सत्यदेव त्रिपाठी ने कहा कि 'देश भयानक संकट से गुजर रहा हैं कांग्रेस नेतृत्व राजनीति में सस्ती लोकप्रियता के लिए खिलवाड़ कर रहा हैं. गंभीरता को ताक पर रखकर केवल प्रचार के लिए बसों का फर्ज़ीवाड़ा करके जनता के बीच मजाक का पात्र बन गया हैं.'

यह भी पढ़ें- घर के फ्रिज में रखा खीरा है बड़ा फायदेमंद, चुटकी में ला सकता है चेहरे पर चमक

वहीं आदिती सिंह ने कहा कि अगर बसे हैं तो राजस्थान, पंजाब और महाराष्ट्र में लगानी चाहिए. आदिती सिंह ने ट्वीट कर कहा कि 'आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत,एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 आटो रिक्शा व एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान,पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई.'

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 20 May 2020, 03:59:42 PM