logo-image
लोकसभा चुनाव

Aditya L1: अपने लक्ष्य के करीब पहुंचा आदित्य एल-1, इसरो प्रमुख ने दी ये अहम जानकारी

Aditya L1 Update: भारत का सूर्य मिशन आदित्य एल-1 अगले महीने की 6 तारीख को अपने लक्ष्य पर पहुंच जाएगा. इस संबंध में इसरो चीफ सोमनाथ ने जानकारी दी है.

Updated on: 23 Dec 2023, 05:07 PM

highlights

  • 6 जनवरी को एल-1 प्वॉइंट पर पहुंचेगा आदित्य एल-1
  • इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने दी जानकारी
  • भारत का पहला सूर्य मिशन है आदित्य एल-1

 

नई दिल्ली:

Aditya L1 Update: भारत का पहले सौर्य मिशन आदित्य एल-1 अपने लक्ष्य की ओर तेजी से बढ़ रहा है. इसके 6 जनवरी 2024 को सूर्य के लैंग्रेजियन प्वॉइंट पर पहुंचने की उम्मीद है. भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो के अध्यक्ष एस सोमनाथ ने इसे लेकर अहम जानकारी दी है. इसरो प्रमुख सोमनाथ के मुताबिक, फिलहाल इस बात की उम्मीद पूरी है कि आदित्य एल-1 6 जनवरी को लैंग्रेजियन प्वॉइंट में प्रवेश कर जाएगा. उन्होंने कहा कि सटीक समय की जानकारी सही समय आने पर दे दी जाएगी. इस बात की जानकारी इसरो प्रमुख सोमनाथ ने भारतीय विज्ञान सम्मेलन के दौरान मीडिया को दी. इसके साथ ही इसरो चीफ ने बताया कि आने वाले दिनों में भारत अपना पहला इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन स्थापित करने जा रहा है. जिसे 2028 में लॉन्च किया जाएगा और ये 2035 में पूरी तरह से काम करने लगेगा.

ये भी पढ़ें: Rajya Sabha Election: दिल्ली और सिक्किम की 4 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव की तारीखों का ऐलान, ये है पूरा शेड्यूल

लक्ष्य पर पहुंचने के बाद फिर से फायर होगा इंजन

इसरो अध्यक्ष एस सोमनाथ ने कहा कि आदित्य एल-1 जब एल-1 प्वॉइंट पर पहुंचे तक इंजन को एक बार फिर से फायर करना पड़ेगा. जिससे वह बहुत आगे न निकले. यहां पहुंचने के बाद आदित्य एल-1 घूमने लगेगा. इसरो प्रमुख ने आगे कहा कि अपने लक्ष्य पर पहुंचने के बाद आदित्य एल1 अगले 5 साल तक काम करेगा और इस दौरान वह सूर्य पर होने वाली गतिविधियों के बारे में जानकारी भेजेगा. इससे जुटाए गए आंकड़ों से भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर के देशों को फायदा होगा. इन आंकड़ों के जरिए सूरज के डायनेमिक्स और इंसानी जिंदगी पर पड़ने वाले इसके असर के बारे में जानकारी हासिल की जा सकेगी.

ये भी पढ़ें: Rohit Sharma : रोहित शर्मा फिर बनेंगे मुंबई इंडियंस के कप्तान ! सामने आई बड़ी वजह

तकनीकी के मामले में बढ़ रही भारत की ताकत

इसरो चीफ सोमनाथ का कहना है कि भारत तकनीकी रूप से ताकतवर बन रहा है जो बहुत महत्वपूर्ण है. सोमनाथ ने कहा कि इसरो एक स्पेस स्टेशन बनाने जा रहा है. जिसका नाम भारतीय स्पेस स्टेशन होगा. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने इस बारे में निर्देश दिए हैं. सोमनाथ ने कहा कि अंतरिक्ष के क्षेत्र में हम नए खिलाड़ियों का उदय देख रहे हैं. नई पीढ़ी के पास अर्थव्यवस्था का समर्थन, प्रोत्साहन और निर्माण होने जा रहा है. भारत भले ही सभी क्षेत्रों में लीडर न बने लेकिन जिन सेक्टर्स में वह ऐसा कर सकता है वहां फोकस करना जरूरी है.

ये भी पढ़ें: विवेक बिंद्रा के खिलाफ FIR दर्ज, पत्नी से मारपीट का लगा आरोप, पहले भी रहा है विवादों से नाता