News Nation Logo
Banner

धमकी से डरे या वैक्सीन बिजनेस बढ़ाने लंदन गए अदार पूनावाला!

सरकार के बयान के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने यूके में वैक्सीन बिजनस में 240 मिलियन पाउंड का निवेश किया है

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 04 May 2021, 10:39:08 AM
Adar Poonawala

लंदन सरकार के सहयोग से शुरू किया वैक्सीन उत्पादन (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • कंपनियां कह रहीं सरकार ने ही कम किए ऑर्डर
  • सरकार का कहना कंपनियां नहीं कर पा रहीं आपूर्ति
  • इस बीच अदार पूनावाला ने लंदन में शुरू किया वैक्सीन उत्पादन

नई दिल्ली/लंदन:

भारत (India) में बढ़ते कोरोना कहर (Corona Virus) के बीच टीकाकरण पर राजनीति भी तेज होती जा रही है. 1 मई से 18 प्लस के लोगों को वैक्सीनेशन (Vaccination) अभियान के बाद तो कोरोना वैक्सीन की किल्लत को लेकर काफी कुछ कहा-सुना जा चुका है. इस रार के बीच सीरम इंस्टूट्यूट के अदार पूनावाला ने सरकार को ही कठघरे में खड़ा करते हुए बयान दे दिया कि कोरोना केस घटते देख वैक्सीन का ऑर्डर ही नहीं दिया. हालांकि सरकार ने कहा कि पर्याप्त ऑर्डर दिए गए, लेकिन कंपनियां ही सप्लाई नहीं कर पा रहीं. इस बीच अदार पूनावाला (Adar Poonawala) भारी दबाव का एक और आरोप लगा ब्रिटेन चले गए. अब पता चला है कि उन्होंने वहां वैक्सीन का उत्पादन भी शुरू कर दिया है. 

अदार ने सरकार पर कम ऑर्डर देने का लगाया एक और आरोप
गौरतलब है कि अदार ने कहा था कि जनवरी में जब केस घटने लगे तो सरकार ने कोरोना संक्रमण को हल्के में ले लिया  और वैक्सीन के ऑर्डर मिलने बंद हो गए. इस वजह से सीरम इंस्टीट्यूट ने टीके बनाने की क्षमता को नहीं बढ़ाया. वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में भी ये दावा किया गया कि सरकार ने पर्याप्त वैक्सीन के ऑर्डर नहीं दिए. इसी बीच सरकार का बयान आया है कि वैक्सीन के ऑर्डर दिए गए हैं, लेकिन कंपनियां वैक्सीन की सप्लाई नहीं कर पा रही हैं. यहां तक कि दूसरे चरण के ऑर्डर की भी पूरी वैक्सीन आपूर्ति नहीं हो पाई हैं.

यह भी पढ़ेंः ऑक्सीजन की कमी से 23 मौत होने के बाद कनार्टक सरकार ने दिए जांच के आदेश

सरकार ने कंपनियों पर कम आपूर्ति का लगाया आरोप
भारत सरकार के मुताबिक पिछले ही महीने 160 मिलियन वैक्सीन का ऑर्डर दे दिया गया था, जिन्हें इन तीन महीनों में डिलीवर किया जाना है. सरकार ने 28 अप्रैल को 110 मिलियन कोविशील्ड वैक्सीन (सीरम इंस्टीट्यूट की) और 50 मिलियन कोवैक्सिन (भारत बायोटेक की) का ऑर्डर दे दिया है. सरकार ने ये भी कहा है कि 28 अप्रैल को ही सीरम इंस्टीट्यूट को 1732 .5 करोड़ रुपये और भारत बायोटेक को 787.5 करोड़ रुपयों का पूरा भुगतान एडवांस में ही कर दिया है. सरकार ने कहा है कि ऐसे में ये कहना गलत होगा कि सरकार ने नए ऑर्डर नहीं दिए थे. सरकार ने ये भी कहा है कि ऑर्डर और पेमेंट के बावजूद अभी कंपनियां दूसरे ऑर्डर को भी पूरा डिलीवर नहीं कर पाई हैं. सीरम इंस्टीट्यूट ने 100 मिलियन डोज के ऑर्डर में से अब तक 87.4 मिलियन डोज डिलीवर की हैं और भारत बायोटेक ने 8.81 मिलियन ऑर्डर डिलीवर किए हैं, जिसे 20 मिलियन डोज का ऑर्डर दिया गया था.

यह भी पढ़ेंः कोरोना के मामलों में गिरावट, 24 घंटे में 3.57 लाख नए बीमार, 3449 मौतें

वैक्सीन बिजनस में पूनावाला का 240 मिलयन पाउंड का निवेश
अब सरकार और वैक्सीन कंपनियों के दावों-प्रदावों के बीच ब्रिटिश सरकार का एक बयान आया है. बोरिस जॉनसन सरकार ने एक बयान में कहा है कि यूके के पीएम ने यूके-इंडिया की नई ट्रेड डील के तहत 1 अरब पाउंड की घोषणा की है, जिससे देश में करीब 6500 से भी अधिक नौकरियां पैदा होंगी. सरकार के बयान के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने यूके में वैक्सीन बिजनस में 240 मिलियन पाउंड का निवेश किया है, जिसके तहत एक नया सेल्स ऑफिस भी खोला जाएगा. ऐसे में अब ये भी सवाल उठने लगे हैं कि वाकई धमकियों से डर कर पूनावाला ब्रिटेन भागे थे या फिर ये अपने बिजनस को बड़ा करने का बहाना था?

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 04 May 2021, 10:33:09 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.