News Nation Logo
Banner

कोरोना वैक्सीन पर सबसे बड़ी खुशखबरी, भारत में दो वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी

कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रकोप के लिए भारत के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी आई है. कोरोना वैक्सीन पर  ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने बड़ा ऐलान किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 03 Jan 2021, 12:23:01 PM
Corona Vaccine

कोरोना वैक्सीन पर सबसे बड़ी खुशखबरी, दो वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रकोप के लिए भारत के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी आई है. कोरोना वैक्सीन पर  ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने बड़ा ऐलान किया है. भारत में 2 कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है. डीसीजीआई ने सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को आपातकाल इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी दी है. जिसके बाद अब इन वैक्सीन को देश में आम लोगों को भी लगाया जा सकेगा. 

यह भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन पर बदल गए अखिलेश के सुर, चौतरफा घिरने के बाद डैमेज कंट्रोल की कोशिश

डीसीजीआई ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कोविड-19 के लिए भारत बायोटेक की स्वदेशी कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट के टीके कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए विशेषज्ञों के पैनल ने सिफारिश की है. जिसके बाद भारत में कोवैक्सीन और कोविशील्ड के आपात इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है. डीसीजीआई की ओर से यह भी बताया कि मैसर्स केडिला हेल्थकेयर को भारत में तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल करने की अनुमति दी जाती है. 

कोरोना वैक्सीन के साइड इफेक्ट पर DCGI का जवाब

डीसीजीआई की ओर से कोरोना वैक्सीन के साइड इफेक्ट भी जानकारी दी गई है. डीसीजीआई ने बताया कि वैक्सीन 110 प्रतिशत सुरक्षित हैं. किसी भी वैक्सीन के थोड़े साइड इफेक्ट होते हैं जैसे दर्द, बुखार, एलर्जी होना. डीसीजीआई के निदेशक वीसी सोमानी ने बताया कि अगर सुरक्षा की थोड़ी भी चिंता है, तो हम कभी भी कुछ भी मंजूर नहीं करेंगे. टीके 110 प्रतिशत सुरक्षित हैं. उन्होंने कहा कि हल्के बुखार, दर्द और एलर्जी जैसे कुछ दुष्प्रभाव हर टीका के लिए आम हैं. 

यह भी पढ़ें: कोरोना का टीका लगवाने के लिए इस ऐप पर करना होगा रजिस्टर, यह है पूरा प्रोसेस 

डीसीजीआई के निदेशक वीजी सोमानी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि दोनों वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित हैं. इसका इस्तेमाल इमरजेंसी की स्थिति में किया जा सकेगा. डीसीजीआई के अनुसार, इन दोनों वैक्सीन की दो-दो डोज इंजेक्शन के रूप में दी जाएंगी. वहीं इन टीकों को 2 से 8 डिग्री के तापमान में ही सुरक्षित रखा जा सकेगा. 

क्या वैक्सीन लगाने से लोग नपुंसक हो जाएंगे?

देश में कोरोना वैक्सीन को लेकर चल रही अफवाहों को लेकर भी डीसीजीआई की ओर से स्थिति साफ की गई है. वैक्सीन लगाने से लोग नपुंसक हो जाएंगे, इस तरह की अफवाह को डीसीजीआई के निदेशक ने बकवास बताया है. वीजी सोमानी ने कहा कि यह बात पूरी तरह से बकवास है. इस पर जरा भी ध्यान देने की जरूरत नहीं है. 

First Published : 03 Jan 2021, 12:08:33 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.