News Nation Logo

हेल्थ होने लगेगी बूस्ट, जब करेंगे इस अजब-गजब तेल का प्रयोग

सरसों का तेल ऐसे तो बहुत टाइम पहले से इस्तेमाल होता आ रहा है. क्योंकि इसमें बना खाना टेस्टी तो होता ही है साथ ही हेल्दी भी होता है. लेकिन, आजकल के बच्चों को इस तेल में बना खाना पसंद नहीं आता.

News Nation Bureau | Edited By : Megha Jain | Updated on: 25 Sep 2021, 09:24:39 AM
Mustard Oil

Mustard Oil (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • सरसों का तेल मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड (monounsaturated fatty acid) से भरपूर होता है.
  • सरसों का तेल बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करके गुड कोलेस्ट्रॉल की क्वांटिटी को बढ़ाता है.
  • सरसों के तेल का इस्तेमाल करने से जुकाम को कम करने में काफी मदद मिलती है.

नई दिल्ली:

जब बात खाने की आती है तो अक्सर हम ये ही सोचते है कि खाने को घी में बनाएं. क्योंकि घी में बना खाना बेहद फायदेमंद होता है. लेकिन, अगर हम ये कहें कि एक ऐसा तेल भी है जिसके फायदे कुछ अजब-गजब है तो. हम सच कह रहें हैं भई. सरसों का तेल ऐसे तो बहुत टाइम पहले से इस्तेमाल होता आ रहा है. क्योंकि इसमें बना खाना टेस्टी तो होता ही है साथ ही हेल्दी भी होता है. लेकिन, आजकल के बच्चों को इस तेल में बना खाना पसंद नहीं आता. लेकिन, इसके फायदे सिर्फ खाना बनाते वक्त ही नहीं होते बल्कि इसे बहुत तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है. तो चलिए आज जरा आपको सरसों के तेल के फायदे बता देते हैं. उसके बाद आप खुद ही इसका इस्तेमाल करना शुरू कर देंगे. 

यह भी पढ़े : केला खाकर सुबह के नाश्ते की भूख मिटाएं, झटपट अपना वजन घटाएं

आज कल के बच्चों को भूख बड़ी कम लगती है. या ना के बराबर ही लगती है और इस वजह से आपकी हेल्थ पर असर हो रहा है. तो भई परेशान मत होइए उसका हल हमने ढूंढ़ निकाला है. जो है ये सरसों का तेल. जो कि भूख लगवाने में काफी मददगार साबित हो सकता है. क्योंकि ये तेल स्टमक में ऐपेटाइजर (appetizer) के रूप में काम करता है. इसे इस्तेमाल करके देखिए अपने आप भूख लगना शुरू हो जाएगी. साथ ही ये बॉडी के डाइजेस्टिव सिस्टम को दुरूस्त रखने में भी काफी फायदेमंद साबित होता है. 

ये तो बहुत टाइम पहले से भी आपने सुना होगा. जब घर के बड़े-बुजुर्ग सर्दी-जुकाम हो जाने पर कहते हैं कि नाक में दो बूंद सरसों का तेल डालों और राहत पाओ. लेकिन, ये भी शायद ही सबको पता होता है कि सर्दी-जुखाम के टाइम पर सरसों के तेल का इस्तेमाल करने से जुखाम को कम करने में काफी मदद मिलती है. ये ना सिर्फ सर्दी-जुखाम में बल्कि खांसी और गले दर्द में भी बेहद आराम देता है. सरसों के तेल की मसाज (massage) करने से बॉडी की मसल्स (muscles) स्ट्रॉन्ग रहती हैं. साथ ही ब्लड सर्कुलेशन (blood circulation) भी बेहतर होता है. यह गठिये में भी आराम देता है. 

यह भी पढ़े : शरीर हो रहा है बीमारियों से बेकाबू तो चलाएं सौंफ वाले दूध का जादू

वहीं अगर खाना बनाने की बात की जाए तो सरसों के तेल में खाना बनाने का एक गजब का फायदा ये है कि ये वेट को कंट्रोल में रखता है. सरसों का तेल बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करके गुड कोलेस्ट्रॉल की क्वांटिटी को बढ़ावा देता है. साथ ही इसमें मौजूद विटामिन्स जैसे थियामाइन (thiamin), फोलेट (folate) और नियासिन (Niacin) बॉडी के मेटाबाल्ज़िम (metabolism) को बढ़ावा देते हैं. जिससे वज़न कम करने में मदद मिलती है. ये तेल बहुत ही न्यूट्रिशियस (nutritious) माना जाता है. 

बेनिफिट्स की लिस्ट में दिल भी शामिल है. सरसों का तेल मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड (monounsaturated fatty acid) से भरपूर होता है. इस फैटी ऐसिड को कई तरह के फायदों से जोड़ा गया है. खासकर जब बात दिल की हेल्थ की आती है. कई रिसर्च में ये पता चला है कि ये तेल ट्राइग्लिसराइड (triglyceride) , ब्लड प्रेशर (blood pressure) और ब्लड शुगर (blood sugar) के लेवल को कम करने में भी मदद करता हैं. ये सभी हार्ट डिजीजिज के रिस्क को कम करता है. 

First Published : 25 Sep 2021, 09:24:39 AM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो