News Nation Logo

दिल्ली: एक बार फिर स्पीड पकड़ रहा है कोरोना वायरस, सता रहा नई लहर का डर

देश की राजधानी दिल्ली में लगातार चौथे दिन कोविड-19 के 400 से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए. दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए विशेषज्ञों ने चिंता जताई है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 15 Mar 2021, 09:30:00 AM
दिल्ली: एक बार फिर स्पीड पकड़ रहा है कोरोना वायरस, नई लहर का डर

दिल्ली: एक बार फिर स्पीड पकड़ रहा है कोरोना वायरस, नई लहर का डर (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • दिल्ली में फिर बढ़ रहे कोरोना वायरस के नए केस
  • लगातार 4 दिनों से दर्ज हो रहे 400 से ज्यादा मामले
  • विशेषज्ञों को सता रहा है नई लहर का डर

नई दिल्ली:

भारत में कोरोना वायरस ने एक बार फिर वापसी कर ली है. देशभर में चल रहे विश्व के सबसे बड़े वैक्सीनेशन अभियान के बीच कोरोनावायरस के बेकाबू मामलों ने सभी की टेंशन बढ़ा दी है. देश की राजधानी दिल्ली में लगातार चौथे दिन कोविड-19 के 400 से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए. दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए विशेषज्ञों ने चिंता जताई है. दिल्ली स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी नए बुलेटिन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटों में 407 नए मामले दर्ज किए गए हैं, जिससे कोरोना मामलों की संख्या बढ़कर 6,43,696 हो गई, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.60 प्रतिशत हो गई.

ये भी पढ़ें- BJP सांसद कौशल किशोर की बहू ने की आत्महत्या की कोशिश, अस्पताल में भर्ती

बुलेटिन के अनुसार, पिछले 24 घंटे में इस महामारी से 2 और लोगों की मौत हो गई, जिससे यहां इस वायरस से मरने वाले की संख्या बढ़कर 10,941 हो गई. राजधानी में शुक्रवार को 431 कोरोना मामले दर्ज किए गए थे, जो दो महीने में सबसे अधिक एकल मामले थे. वहीं शनिवार को 419 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि गुरुवार 409 मामले सामने आए थे. शहर में बीमारी के सक्रिय मामलों की संख्या शनिवार को 2,207 से बढ़कर 2,262 हो गई, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.60 प्रतिशत बनी रही.

ये भी पढ़ें- AIADMK घोषणापत्रः परिवार को एक सरकारी नौकरी और 6 LPG सिलेंडर मुफ्त

हालांकि, दिल्ली सरकार इसे खतरनाक बढ़ोतरी नहीं मान रही है. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार को कहा कि प्रतिदिन 400 से अधिक के आंकड़े 'चिंताजनक नहीं' है. उन्होंने कहा कि पॉजिटिविटी दर अभी भी एक प्रतिशत से नीचे है. बयान के विपरीत, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेतावनी दी कि अगर कड़े कदम नहीं उठाए गए तो मामले जल्द ही लहर में बदल सकते हैं. आईसीएमआर में महामारी विज्ञान और संचार रोग विभाग के पूर्व प्रमुख डॉ. ललित कांत ने कहा कि लोगों को इस बारे में जागरूक किया जाना जरूरी है कि महामारी अभी भी यहां है.

ये भी पढ़ें- इंजीनियर से गन प्वाइंट पर लूटी कार, पत्नी-बच्चों को अगवा कर सड़क किनारे फेंका

बताते चलें कि फिलहाल देशभर में महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है. जहां एक समय पर महाराष्ट्र में कुल 2 हजार के करीब नए मामले सामने आ रहे थे, वहीं अब ये संख्या 15 हजार से ऊपर पहुंच गई है. महाराष्ट्र की स्थिति काफी चिंताजनक होती जा रही है, जिसे लेकर शासन और प्रशासन तरह-तरह के उपाय कर रहा है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 15 Mar 2021, 09:30:00 AM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.