logo-image
लोकसभा चुनाव

मध्य प्रदेश: चुनाव आयोग ने इस विवादित बयान पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को दी क्लीन चिट

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान के बाद चीफ इलेक्टोरल ऑफिसर ने सीहोर के कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी थी.

Updated on: 27 Apr 2019, 01:09 PM

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) की भोपाल से प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जब से चुनावी मैदान में आई हैं, उनके नाम के साथ एक के बाद एक विवाद खड़ा होता जा रहा है. हाल ही में मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सीहोर में प्रचार अभियान के दौरान विपक्षी दल कांग्रेस के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह को अप्रत्यक्ष रूप से आतंकी कहने पर भी उन्हें आलोचना झेलनी पड़ी थी. लेकिन अब उन्हें इस बयान को लेकर सीहोर के कलेक्टर ने क्लीनचिट दे दी है.

'आचार संहिता का उल्लंघन नहीं'

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Sadhvi Pragya Thakur) के बयान के बाद चीफ इलेक्टोरल ऑफिसर ने सीहोर के कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी थी. सूत्रों के मुताबिक कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा ने उन्हें दी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उन्होंने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं पाया है. रिपोर्ट के मुताबिक साध्वी प्रज्ञा ने किसी का नाम नहीं लिया और यह जाहिर नहीं है कि उन्हें किसी शख्स के लिए आतंकी शब्द का इस्तेमाल किया था.

यह भी पढ़ें- भोपाल: प्रज्ञा ठाकुर के समर्थन में उतरीं प्रज्ञा ठाकुर, बीजेपी ज्वाइन की

इससे पहले ठाकुर ने भी अपने बयान पर उपजे विवाद के बाद यू-टर्न ले लिया था. उन्होंने सफाई देते हुए कहा था कि उन्होंने दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) को आतंकी नहीं कहा. प्रज्ञा से जब पत्रकारों ने पूछा कि आपने दिग्विजय सिंह के लिए कहा था कि वह आतंकी हैं ? इस पर प्रज्ञा ने कहा, ‘मैंने नहीं कहा आतंकी, वह कह सकते हैं. उन्होंने कहा है, हमने नहीं कहा.’

'आतंकी के समापन के संन्यासी को खड़ा होना पड़ा'

गौरतलब है कि सीहोर में साध्वी प्रज्ञा (Sadhvi Pragya) ने बयान दिया था, ‘राज्य में 16 साल पहले उमा दीदी ने हराया था और वह 16 साल मुंह नहीं उठा पाया, और राजनीति करने की कोशिश नहीं कर पाया. अब फिर से सिर उठा है तो दूसरी संन्यासी सामने आ गई है, जो उसके कर्मों का प्रत्यक्ष प्रमाण है.’

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश : कलेक्टर को शिवराज के धमकाने पर आईएएस एसोसिएशन ने जताई आपत्ति

उन्होंने आगे कहा था, ‘एक बार फिर ऐसे आतंकी का समापन करने के लिए, बेरोजगारी बढ़ाने वाले लोगों के लिए फिर से संन्यासी को खड़ा होना पड़ा है. अब जब समापन होगा, तो फिर कभी उग नहीं पाएगा.’ भोपाल (Bhopal) संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को उम्मीदवार बनाया है. बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा लगातार दिग्विजय सिंह और कांग्रेस (Congress) पर हमले कर रही हैं. भोपाल में 12 मई को मतदान होना है.

यह वीडियो देखें-