News Nation Logo
Banner

दिग्गज फिल्म एडिटर वामन भोसले का निधन, राष्ट्रीय पुरस्कार से हो चुके हैं सम्मानित

वामन भोसले ने अपनी फिल्मी करियर की शुरुआत 1969 में आई फिल्म दो रास्ते से की थी. उसके बाद उनकी फिल्म ‘इनकार’ आई. इस फिल्म के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 26 Apr 2021, 07:30:49 PM
Waman Bhonsle

Waman Bhonsle (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • लंबे समय से बीमार चल रहे थे वामन भोसले
  • फिल्म 'इनकार' के लिए मिला था नेशनल अवॉर्ड
  • फिल्म 'कैरी' वामन की आखिरी फिल्म है

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बीच फिल्म जगत (Film Industry) से एक और दुखद खबर सामने आई है. राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता (National Award Winner) फिल्म संपादक वामन भोसले (Waman Bhonsle) का आज निधन हो गया. वे काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे. 89 साल की उम्र में आज सुबह उन्होंने अपने जीवन की अंतिम सांस ली. वामन भोसले के भतीजे दिनेश भोसले ने बताया कि 25वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में ‘इनकार' के लिए सर्वश्रेष्ठ संपादक का पुरस्कार पाने वाले वामन का गोरेगांव आवास पर तड़के चार बजकर 25 मिनट पर निधन हो गया. भोसले के निधन पर पूरे फिल्म जगत ने शोक जताया है.

ये भी पढ़ें- ‘बालवीर’ फेम आशका गोराडिया ने लिया एक्टिंग से सन्यास, ये है वजह

पिछले साल से बीमार चल रहे थे भोसले

वामन भोसले (Waman Bhonsle) के भतीजे दिनेश भोसले ने बताया कि "वे पिछले साल लॉकडाउन के कारण उनकी दिनचर्या और दूसरी गतिविधियां प्रभावित हुई थी."

फिल्म ‘दो रास्ते’ से शुरू किया करियर

गोवा के पोमबुरपा गांव में जन्मे भोसले नौकरी की तलाश में 1952 में मुंबई आए थे और ‘पाकीजा' फिल्म के संपादक डी एन पई से बॉम्बे टॉकीज में प्रशिक्षण लेने लगे. वामन भोसले ने अपनी फिल्मी करियर की शुरुआत 1969 में आई फिल्म दो रास्ते से की थी. उसके बाद उनकी फिल्म ‘इनकार’ आई.

‘इनकार’ के लिए मिला नेशनल अवॉर्ड

इस फिल्म के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था. उनके जीवन की बेहतरीन फिल्मों में आंधी, कर्ज, मिस्टर इंडिया, राम लखन, अग्निपथ, सौदागर और गुलाम का नाम हमेशा लिया जाएगा. बॉलीवुड के कई सेलेब्स ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करके वामन भोसले के निधन पर शोक व्यक्त किया है.

वामन की आखिरी फिल्म ‘कैरी’ थी

अमोल पालेकर निर्देशित ‘कैरी' संपादक के तौर पर वामन भोसले (Waman Bhonsle) की आखिरी फिल्म थी. वामन भोसले (Waman Bhonsle) ने ‘मेरा गांव मेरा देश', ‘दो रास्ते', ‘इनकार', ‘दोस्ताना', ‘अग्निपथ', ‘परिचय', ‘कालीचरण', ‘कर्ज', ‘राम लखन', ‘सौदागर', ‘गुलाम' समेत 230 से ज्यादा फिल्मों का संपादन किया.

ये भी पढ़ें- Oscar में एक्टर की स्पीच सुनकर शर्मिंदा हो गईं मां, Video हुआ वायरल

कई सितारों ने शोक व्यक्त किया

मधुर भंडारकर ने ट्वीट किया-मास्टर फिल्म एडिटर वामन भोसले जी के निधन के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ. मैं भाग्यशाली हूं कि मैंने अपने करियर की शुरुआती दिनों में उनके साथ काम किया था. मधुर भंडारकर के अलावा अभिनेता-फिल्मकार विवेक वसवानी, प्रख्यात लेखक गीतकार वरूण ग्रोवर ने भोसले के निधन पर शोक जताया है.

First Published : 26 Apr 2021, 06:47:34 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live Scores & Results

वीडियो

×