logo-image
लोकसभा चुनाव

Article 370 OTT Release: इस दिन ओटीटी पर रिलीज होगी यामी गौतम की आर्टिकल 370, घर बैठ देखें यहां

यामी गौतम ने फिल्म आर्टिकल 370 में शानदारअभिनय किया है. उन्हें क्रिटिक्स ने खूब सराहा था.

Updated on: 18 Apr 2024, 06:22 PM

नई दिल्ली:

Article 370 OTT Release: बॉलीवुड एक्ट्रेस यामी गौतम हाल में फिल्म आर्टिकल 370 में नजर आई थीं. ये इस साल की पॉपुलर हिट फिल्मों में शामिल है. फिल्म 23 फरवरी, 2024 को सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी. इसको दर्शकों और समीक्षकों ने खूब सराहा था. राजनीतिक एक्शन थ्रिलर आर्टिकल 370 में यामी के अलावा प्रियामणि भी अहम रोल में नजर आई थीं. यामी के पति आदित्य धर के प्रोडक्शन में बनी इस फिल्म को जल्द ही ओटीटी पर रिलीज किया जाएगा. आइए जानते हैं आखिर आर्टिकल 370 कब और कहां रिलीज हो रही है. आप इसे घर बैठे देख सकते हैं. 

ये भी पढ़ें- Kabir Singh: इस एक्टर को है कबीर सिंह करने का अफसोस, संदीप रेड्डी वांगा ने दिया मुंहतोड़ जवाब

इस दिन रिलीज होगी आर्टिकल 370
यामी गौतम की आर्टिकल 370 की डिजिटल रिलीज का इंतजार खत्म हो गया है. मेकर्स ने आखिरकार इसके आगमन की घोषणा कर दी है. फिल्म आर्टिकल 370 डिजिटल रिलीज के लिए पूरी तरह तैयार है. यह फिल्म 19 अप्रैल, 2024 से नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीम करने के लिए उपलब्ध होगी. निर्माताओं ने सोशल मीडिया पर ओटीटी रिलीज की घोषणा की है. दर्शक घर बैठे फिल्म का आनंद ले सकते हैं.

यामी गौतम ने फिल्म में शानदारअभिनय किया है. उन्हें क्रिटिक्स ने खूब सराहा था. साथ में मोहन अगाशे और सुखिता अय्यर की शानदार एक्टिंग से सजी यह फिल्म दिल को छू लेती है.  'आर्टिकल 370' में आपको भरपूर मिलिट्री एक्शन ड्रामा देखने को मिलेगा. 

ये भी पढ़ें- Jigra: फिल्म जिगरा के लिए आलिया भट्ट को सीखना पड़ा ये खेल, ले रही हैं खतरनाक ट्रेनिंग

कैसी है फिल्म की कहानी
आर्टिकल 370 एक एक्शन-राजनीतिक-ड्रामा फिल्म है. ये जम्मू-कश्मीर के विशेष राज्य दर्जे वाले मुद्दे पर बनी है. फिल्म में सरकार द्वारा इस आर्टिकल को हटाने वाली घटना को दिखाया गया है.  अनुच्छेद 370 के अनुसार, जम्मू-कश्मीर के बाहर का कोई भी व्यक्ति राज्य में संपत्ति नहीं खरीद सकता था. राष्ट्रीय सरकार के पास जम्मू-कश्मीर में वित्तीय आपातकाल घोषित करने का भी अधिकार नहीं था. इसलिए भारत सरकार ने  5 अगस्त 2019 को  जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रभाव को खत्म कर दिया था. राज्य को 2 हिस्सों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांट दिया था और दोनों को केंद्र शासित प्रदेश बना दिया था.