News Nation Logo

सुशांत सिंह राजपूत मामले पर पहली बार बोले अनुपम खेर, Video शेयर कर कही ये बात

अनुपम खेर (Anupam Kher) ने कहा कि इतने उतार-चढ़ाव के बाद अब यह केस निर्णायक अंत तक पहुंचना चाहिए. क्योंकि उनके परिवार और फैंस को सच जानने का हक है

IANS | Updated on: 05 Aug 2020, 12:58:40 PM
anupam kher

अनुपम खेर का सुशांत सिंह राजपूत केस पर आया रिएक्शन (Photo Credit: फोटो- @anupampkher Instagram)

नई दिल्ली:

बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर (Anupam Kher) ने सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के मौत पर खुल कर बात की. अनुपम खेर (Anupam Kher) ने कहा कि इतने उतार-चढ़ाव के बाद अब यह केस निर्णायक अंत तक पहुंचना चाहिए. क्योंकि उनके परिवार और फैंस को सच जानने का हक है. अनुपम खेर (Anupam Kher) ने मंगलवार को ट्वीट किया, 'सुशांत के परिवार और फैंस को सच जानने का हक है. इतना कुछ कहा जा चुका है, इतनी सारी साजिशों की बातें चल रही हैं, लेकिन कौन किस साइड है, मुद्दा अब यह नहीं रहा, अब यह केस निर्णायक अंत तक पहुंचना चाहिए. हमें सच जानना है. हैशटैग जस्टिस फॉर सुशांत.'

यह भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत केस की CBI जांच की सिफारिश पर मोदी सरकार ने लगाई मुहर

दिग्गज अभिनेता ने एक वीडियो भी पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने कहा, 'सुशांत सिंह राजपूत की मौत का किस्सा 14 जून से अब तक जहां पहुंचा है, इतने उतार-चढ़ाव के बाद तो इस पर न बोलना आंख मूंदने वाली बात है. बहुत दिनों तक मैंने नहीं बोला है या शायद बहुत से लोग नहीं बोलना चाह रहे क्योंकि समझ नहीं आ रहा कि क्या बोलें लेकिन अब जो स्थिति एक नजर आ रही है, उसमें बिना किसी को दोष दिए हुए इतना तो हमारा फर्ज बनता है कि हम उसको एक लॉजिकल एंड तक लेकर जाएं.'

यह भी पढ़ें: बीजेपी नेता नारायण राणे ने कहा- सुशांत सिंह राजपूत ने नहीं की खुदकुशी, उनकी हत्या की गई

अनुपम खेर (Anupam Kher) ने कहा, 'एक सह-कलाकार होने के नाते, एक को-ऐक्टर होने के नाते, एक इंसान होने के नाते, वह किसी का बेटा है, किसी का भाई है. हम सबने उसकी प्रशंसा की है और उसने बहुत अच्छा काम किया है. इस समय चुप रहना, जरूरी नहीं है कि हमें किसी को क्रिटिसाइज करना है. उसकी मौत का एक लॉजिकल एंड बहुत जरूरी है. यह कैसे हो सकता है, इसमें कौन कसूरवार है, और कौन नहीं है, यह फैसला तो होना ही चाहिए. न केवल मेरा, न उसके फैंस का, 50 हजार थ्योरी हैं, हम उससे एग्री करें या ना करें, लेकिन उनके परिवार, रिश्तेदार इंसाफ के लिए लड़ रहे हैं. उनको तो हमको महसूस कराना चाहिए की हम उनके साथ हैं. आंख मूंदना तो कायरता की निशानी है और कायर होना अच्छी बात नहीं है.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 05 Aug 2020, 12:58:40 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.