News Nation Logo

निशंक बोले- भारत को इंटरनेशनल कंपटीशन के लिए तैयार करेगी नई शिक्षा नीति

नई शिक्षा नीति से देश में बड़े बदलाव होंगे. इसका प्रभाव देश के हर हिस्से में दिखाई देगा. यह शिक्षा नीति बहुत बृहद और विशाल है. ये कहना हैं केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक का.

IANS | Updated on: 24 Aug 2020, 09:40:03 AM
Ramesh Pokhriyal Nishank

डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

नई शिक्षा नीति से देश में बड़े बदलाव होंगे. इसका प्रभाव देश के हर हिस्से में दिखाई देगा. यह शिक्षा नीति (Education policy) बहुत बृहद और विशाल है. ये कहना हैं केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pokhriyal Nishank) का. निशंक ने मोदी सरकार की नई शिक्षा नीति को सरकार की सबसे बड़े कार्यों में एक बताया. उन्होंने कहा, इस शिक्षा नीति में भारत जैसे विशाल देश के हर हिस्से का विचार और विमर्श समाहित हैं. केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि स शिक्षा नीति में देश के गांव के प्रधान से देश के प्रधानमंत्री तक सभी लोगों का प्रतिनिधित्व शामिल है. इसमें करोड़ों लोगों को शामिल किया गया हैं.

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी ने नई शिक्षा नीति पर दूर किए सभी कंफ्यूजन

उन्होंने कहा,अब से पहले विश्व में इतना बड़ा कोई विमर्श आज तक देखने को नहीं मिला है. यही व्यापकता इसको इतना प्रभावशाली बनाती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के आत्मनिर्भर भारत और 2025 तक भारत को 5 खरब डॉलर की विशाल अर्थव्यवस्था के सपने को पूरा करने का सामथ्र्य इस नई शिक्षा नीति में है.

यह भी पढ़ें : शिक्षा का 'सुपरपावर' बनेगा भारत, नई शिक्षा नीति पर आज देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

निशंक के मुताबिक प्रारम्भिक स्तर से ही छात्रों को बहुआयामी बनाने और साक्षरता के साथ हर प्रकार से बच्चों का विकास हो इस पर शिक्षा मंत्रालय जोर देगा और रटकर सीखने के बजाय रचनात्मक तरीके से सीखने पर जोर दिया जाएगा. शिक्षा मंत्री ने कहा, भारत की संस्कृति बहुत बहुआयामी और महान है और देश के नागरिक होने के नाते हमें इसे आगे बढ़ाना है.

यह भी पढ़ें : नई शिक्षा नीति का कांग्रेस नेता खुशबू ने किया समर्थन, राहुल गांधी से मांगी माफी

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर स्टूडेंट्स, टीचर्स और पैरेंट्स के मन में कोई भी प्रश्न उठ रहा हो, तो उनके सभी सवालों का जवाब देने के लिए पोखरियाल खुद एक सितंबर को अपने ट्वीटर पर लाइव संवाद करेंगे, जिससे की किसी के मन में किसी भी प्रकार का कोई भ्रम न रह जाए.

यह भी पढ़ें : नई शिक्षा नीति में दो बार बोर्ड परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने बताया कि यह शिक्षा नीति विश्व के सबसे बड़े परामर्श के बाद आई है. जिसका मुख्य लक्ष्य भारत (India) को ज्ञान आधारित महाशक्ति बनना है. निशंक ने कहा, यह नीति पहली बार पूरी तरह से भारतीय नीति है जो नवाचार युक्त गुणवत्तापरक प्रोद्योगिकीयुक्त होने के साथ भारतीय मूल्यों पर आधारित है. साथ ही यह नीति युवा भारत को अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार करने हेतु कृतसंकल्पित है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 24 Aug 2020, 08:39:08 AM

For all the Latest Education News, More News News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.