News Nation Logo
3 लोकसभा और 7 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे आज PM मोदी आज 'मन की बात' कार्यक्रम को करेंगे संबोधित भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा कोरोना संक्रमित दिल्ली: बादली इलाके के प्लास्टिक गोदाम में लगी आग, मौके पर फायर ब्रिगेड फायर उत्तर प्रदेश: आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के लिए मतगणना जारी पाकिस्तान के जेल में मारे गए सरबजीत सिंह की बहन का हार्ट अटैक से निधन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जर्मन प्रेसीडेंसी के तहत G7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए जर्मनी पहुंचे एकनाथ शिंदे ने 12 बजे गुवाहाटी के होटल में विधायकों की बैठक बुलाई है भारत में आज 11,739 नए Covid19 मामले सामने आए, सक्रिय मामले 92,576 हैं विपक्षी पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा कल दाखिल करेंगे अपना नामांकन

इनफोसिस में मचा घमासान, फाउंडर्स ने उठाया विशाल सिक्का के वेतन का मुद्दा

इस पत्र के जरिए कंपनी के सीईओ विशाल सिक्का को मिलने वाले सालाना पैकेज के साथ साथ उनके फैसले को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं।

News Nation Bureau | Edited By : Abhiranjan Kumar | Updated on: 09 Feb 2017, 02:20:58 PM
इंफोसिस के सिईओ विशाल सिक्का (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

आईटी कंपनी इंफोसिस में एडमिनिस्ट्रेशन की खामियों को लेकर नाराजगी देखने को मिल रही है। कंपनी के फाउंडर्स एनआर नारायण मूर्ति, क्रिस गोपालकृष्णन और नंदन नीलकेणी ने कंपनी के बोर्ड को पत्र लिखकर इस पर चिंता जताई है।

पत्र में इस बात का जिक्र है कि कंपनी के भीतर कॉरपोरेट गवर्नेंस के मानकों का पालन नहीं हो रहा है। इस पत्र के जरिए कंपनी के सीईओ विशाल सिक्का को मिलने वाले सालाना पैकेज के साथ साथ उनके फैसले को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं।

सीईओ विशाल सिक्का पर लगे आरोप के बाद कंपनी ने उनका बचाव किया और कहा कि ये फैसले कंपनी के हित में लिए गए हैं।

खबरों के अनुसार तीन प्रमोटर्स- एनआर नारायणमूर्ति, कृष गोपालकृष्णन और नंदन नीलेकणी ने कार्यों पर सवाल उठाते हुए कंपनी के बोर्ड को चिट्ठी लिखी थी। दिसंबर 2016 में कंपनी में प्रमोटर्स और उनके परिजनों की शेयर होल्डिंग 12.75% थी।

इसे भी पढ़ेंः इंफोसिस में 9 हज़ार कर्मचारियों की गई नौकरी, ऑटोमेशन के चलते हुई है छंटनी

विशाल सिक्का 1 अगस्त 2014 को सीईओ बने थे। 2015-16 में 74.5 लाख डॉलर (करीब 50 करोड़ रु.) का पैकेज मिला था। अक्टूबर 2016 में उनका कार्यकाल 2021 तक बढ़ा दिया गया। साथ में सालाना पैकेज भी 48% बढ़ाकर 1.1 करोड़ डॉलर (74 करोड़ रु.) कर दिया गया।

इसे भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में इंफोसिस के ऑफिस के भीतर महिला सॉफ्टवेयर इंजीनियर की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

सिक्का का यह पे जनवरी 2017 से प्रभावी हुआ है। इसमें 10 लाख डॉलर (6.7 करोड़ रु.) बेसिक सैलरी और 30 लाख डॉलर (20 करोड़ रु.) वैरिएबल पे है। वैरिएबल पे कंपनी के प्रदर्शन से जुड़ा है। बाकी 70 लाख डॉलर स्टॉक ऑप्शन के रूप में हैं।

First Published : 09 Feb 2017, 08:15:00 AM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Infosys Vishal Sikka