News Nation Logo
Banner

मोदी सरकार जन औषधि केंद्र (Jan Aushadhi Kendra) खोलने के लिए देती है पैसा, आप भी उठा सकते हैं फायदा, जानिए कैसे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 2015 में जनऔषधि परियोजना (Janaushadhi Pariyojana) की शुरुआत की थी. जनऔषधि परियोजना के जरिए सरकार का उद्देश्य आम लोगों तक सस्ती दवाओं को पहुंचाना है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 18 Aug 2020, 12:14:47 PM
Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Pariyojana PMBJP

Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Pariyojana-PMBJP (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना (Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Pariyojana-PMBJP): केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार ने लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं. इसी के तहत प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने 2015 में जनऔषधि परियोजना की शुरुआत की थी. जनऔषधि परियोजना के जरिए सरकार का उद्देश्य आम लोगों तक सस्ती दवाओं को पहुंचाना है. सरकार के जन औषधि केंद्रों (Jan Aushadhi Kendra) पर आम लोगों को 90 फीसदी तक सस्ती जेनरिक दवाएं मिलती हैं.

यह भी पढ़ें: बच्चे की अच्छी पढ़ाई के लिए अभी से शुरू करें तैयारी, भविष्य में नहीं होगी कोई परेशानी

जन औषधि केंद्रों को खोलने के लिए आर्थिक मदद दे रही है सरकार
बता दें कि केंद्र सरकार जेनरिक दवाओं को बढ़ावा देना चाहती है और यही वजह है कि सरकार जन औषधि केंद्रों को खोलने के लिए सुविधाओं के साथ आर्थिक मदद भी दे रही है. ऐसे में जो लोग अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं यह योजना उनके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है.

2.5 लाख रुपये की आर्थिक मदद देती है सरकार
केंद्र सरकार लोगों को जन औषधि केंद्र खोलने के लिए 2.5 लाख रुपये की आर्थिक मदद मुहैया कराती है. अगर आप अपना बिजनेस शुरू करने की योजना बना रहे हैं तो सरकार के द्वारा दिया गया ये मौका आपके सपने को पूरा कर सकता है. कोई भी व्यक्ति जन औषधि केंद्र खोलकर पहले दिन से ही अच्छी कमाई कर सकता है.

यह भी पढ़ें: अगर आप पेट्रोल पंप (Petrol Pump) खोलना चाहते हैं तो यहां जानिए पूरा प्रोसेस

5,500 से ज्यादा जन औषधि केंद्र हैं संचालित
मौजूदा समय में देशभर में 5,500 से ज्यादा जन औषधि केंद्र संचालित हो रहे हैं. इन औषधि केंद्रों पर दवाईयां बेहद सस्ती दरों पर आम लोगों को उपलब्ध कराई जाती है. जन औषधि केंद्र के आवेदन के लिए आधार (Aadhaar) और पैन कार्ड (Pan Card) की जरूरत होती है. हालांकि गैर सरकारी संगठन (NGO), फार्मासिस्ट, डॉक्टर, और मेडिकल प्रैक्टिशनर द्वारा जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आवेदन करने पर आधार कार्ड, पैन कार्ड, संस्था बनाने का सर्टिफिकेट और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट देना जरूरी होगा. औषधि केंद्र खोलने के लिए कम से कम 120 वर्गफीट की जगह होना जरूरी है. SC, ST और दिव्यांग आवेदकों को जन औषधि केंद्र खोलने के लिए 50 हजार रुपये मूल्य तक की दवा बतौर एडवांस दिया जाता है.

यह भी पढ़ें: फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) में करना चाहते हैं निवेश, तो यहां मिल रहा है सबसे ज्यादा ब्याज

हर महीने होगी मोटी कमाई
इन केंद्रों से दवा की बिक्री पर 20 फीसदी मार्जिन और हर महीने की बिक्री पर 15 फीसदी इंसेंटिव भी मिलेगा. हालांकि इंसेंटिव अधिकतम 10 हजार रुपये प्रति माह ही मिलेगा. सरकार की योजना के मुताबिक 2.5 लाख रुपये पूरे होने तक इंसेंटिव दिया जाएगा. बता दें कि जन औषधि केंद्र खोलने में भी करीब 2.5 लाख रुपये का खर्च आता है. ऐसे में आपके द्वारा निवेश की गई पूंजी का पूरा खर्च सरकार ही उठा लेती है. जन औषथि खोलने के लिए इस लिंक http://janaushadhi.gov.in/index.aspx पर जाकर पूरी जानकारी को हासिल कर सकते हैं.

First Published : 18 Aug 2020, 12:14:47 PM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो