News Nation Logo
Breaking
Banner

बच्चों के लिए निवेश योजनाओं में पैसा लगाने से इन बातों का ध्यान रखना है बेहद जरूरी

Child Insurance Plan: निवेशक जब किसी चाइल्ड इंश्योरेंस प्लान या चाइल्ड इनवेस्टमेंट प्लान में निवेश करता है तो उन्हें इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि वह कितना जोखिम उठा सकते हैं.

Business Desk | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 16 Oct 2021, 10:40:57 AM
Best Investment Idea For Children

Best Investment Idea For Children (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • विशेषज्ञों का कहना है कि लंबी अवधि के लिए निवेश करने की रणनीति अपनानी चाहिए
  • बच्चों के लिए निवेश की योजना बना रहे लोगों को जल्द से जल्द शुरू कर देना चाहिए

नई दिल्ली:  

Child Insurance Plan: अगर आप अपने बच्चों के भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए चाइल्ड इंश्योरेंस प्लान लेने की योजना बना रहे हैं तो आपको कुछ आम गलतियों से बचना बेहद जरूरी है. दरअसल, माता-पिता अपने बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए पैसों की जरूरत को देखते हुए चाइल्ड इंश्योरेंस या चाइल्ड इनवेस्टमेंट प्लान (Child Investment Plan) में निवेश करते हैं. हालांकि कुछ गलतियां होने की वजह से उस समय उन्हें इस निवेश के ऊपर कम रिटर्न मिलता है. बता दें कि आज के मौजूदा समय में स्कूल से लेकर हायर एजुकेशन तक की पढ़ाई महंगी होने की वजह से अच्छी खासी फंड की जरूरत होती है. ऐसे में अगर सही समय पर निवेश की प्लानिंग की जाए तो आप अच्छा खासा फंड तैयार कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: जल्द लॉन्च होने जा रहा है LIC बैलेंस्ड एडवांटेज फंड, जानिए कब से कर सकते हैं निवेश

जोखिम को परखना जरूरी
निवेशक जब किसी चाइल्ड इंश्योरेंस प्लान या चाइल्ड इनवेस्टमेंट प्लान में निवेश करता है तो उन्हें इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि वह कितना जोखिम उठा सकते हैं. हालांकि यह बात सही है जितना ज्यादा रिस्क होगा उतना ज्यादा रिटर्न मिलेगा, लेकिन अगर आपने बगैर सोचे समझे अपनी मेहनत का सारा पैसा निवेश कर दिया तो हो सकता है कि आपको नुकसान उठाना पड़ जाए. ऐसे में निवेश से पहले आपको अपनी जोखिम लेने की क्षमता को समझ लेना चाहिए. विशेषज्ञों का कहना है कि लंबी अवधि के लिए निवेश करने की रणनीति अपनानी चाहिए. साथ ही मध्यम स्तर के जोखिम के साथ निवेश को आगे बढ़ाना चाहिए. 

महंगाई को देखते हुए करें निवेश
निवेश को महंगाई दर के साथ जोड़कर देखना जरूरी है. मान लीजिए किसी कोर्स की फीस आज 10 लाख रुपये है तो हो सकता है कि 10 या 15 साल बाद उस कोर्स की फीस 20 लाख रुपये के आस-पास हो जाए. ऐसे में किन इंस्ट्रूमेंट में निवेश किया जा रहा है उसका सही तरीके से आकलन करना जरूरी है ताकि आपको जब पैसे की जरूरत हो तो उस समय सही रिटर्न के साथ पैसा मिल जाए. 

पहले खुद का टर्म इंश्योरेंस कराएं
चाइल्ड प्लान लेने से पहले सबसे ज्यादा जरूरी यह है कि आप खुद का टर्म इंश्योरेंस (Term Insurance) कराएं. दरअसल, आपकी असामयिक मृत्यु होने की स्थिति में यह इंश्योरेंस आपके पूरी परिवार को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है. साथ ही संकट के समय इससे आपके परिवार की काफी मदद भी होती है. टर्म इंश्योरेंस लेने के बाद ही बच्चे के लिए प्लान लेना चाहिए. 

यह भी पढ़ें: हर भारतीय को मिलेगा सस्ता हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance), मोदी सरकार ने बनाई ये योजना

जल्द से जल्द निवेश की योजना बनाएं
बच्चों के लिए अगर आप निवेश की योजना बना रहे हैं तो उसे जितना जल्दी हो शुरू कर दीजिए. आप निवेश की प्रक्रिया को जितना देर करेंगे रिटर्न में उसी हिसाब से कमी देखने को मिल सकती है. ऐसे में बच्चे के पैदा होने के साथ ही निवेश की योजना बनाना शुरू कर देना चाहिए.

First Published : 16 Oct 2021, 10:37:34 AM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.