News Nation Logo

मोदी सरकार ने सरकारी बीमा कंपनियों के खर्चों को लेकर दिया ये बड़ा बयान

सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए कहा कि यह निर्देश विशेषरूप से नेशनल इंश्योरेंस, ओरियंटल इंश्योरेंस और यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस के लिए है, जिससे इन कंपनियों की वित्तीय सेहत सुधारी जा सके.

Bhasha | Updated on: 30 Nov 2020, 10:28:53 AM
Finance Ministry

Finance Ministry (Photo Credit: newsnation)

नई दिल्ली:

वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने सार्वजनिक क्षेत्र (Public Sector) की बीमा कंपनियों (Insurance Companies) को अपनी शाखाओं को सुसंगत करने तथा ऐसे खर्चों में कटौती करने को कहा है, जिनसे बचा जा सकता है. सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए कहा कि यह निर्देश विशेषरूप से नेशनल इंश्योरेंस, ओरियंटल इंश्योरेंस और यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस के लिए है, जिससे इन कंपनियों की वित्तीय सेहत सुधारी जा सके.

यह भी पढ़ें: RBI Credit Policy 2020: लगातार तीसरी बार ब्याज दरों को स्थिर रख सकता है RBI

इसी साल केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विलय की प्रक्रिया को रोक दिया था
बता दें कि इससे पहले इसी साल केंद्रीय मंत्रिमंडल ने तीनों सार्वजनिक क्षेत्र की साधारण बीमा कंपनियों की विलय की प्रक्रिया को रोक दिया था. तीनों कंपनियों की खराब वित्तीय स्थिति को देखते हुए यह कदम उठाया गया था. सरकार ने इन कंपनियों में 12,450 करोड़ रुपये की पूंजी डालने की मंजूरी दी थी ताकि ये नियामकीय मानकों को पूरा कर सकें. सूत्रों ने बताया कि वित्त मंत्रालय ने इन कंपनियों से अपनी शाखाओं को तर्कसंगत करने तथा गेस्ट हाउस जैसे बेवजह के खर्चों में कटौती करने को कहा है. इसके अलावा इन कंपनियों से डिजिटल माध्यम से अपने कारोबार का विस्तार करने को भी कहा गया है.

यह भी पढ़ें: गुरु नानक जयंती (Gurunanak Jayanti) के मौके पर आज बंद रहेंगे शेयर मार्केट

2020-21 के बजट में इन कंपनियों में 6,950 करोड़ रुपये की पूंजी डालने का किया गया था प्रावधान 
पूंजी डालने की प्रक्रिया के तहत सरकार ने नेशनल इंश्योरेंस कंपनी की अधिकृत शेयर पूंजी को बढ़ाकर 7,500 करोड़ रुपये करने की अनुमति दी है. यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस तथा ओरियंटल इंश्यारेंस कंपनी की अधिकृत पूंजी को 5,000 करोड़ रुपये करने की मंजूरी दी गई है. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जुलाई में इन कंपनियों में 12,450 करोड़ रुपये की पूंजी डालने की मंजूरी दी है. इसमें 2019-20 के दौरान इन कंपनियों को उपलब्ध कराई गई 2,500 करोड़ रुपये की राशि भी शामिल है. इस साल सरकार इन कंपनियों में 3,475 करोड़ रुपये की पूंजी डाल चुकी है. शेष 6,475 करोड़ रुपये की राशि एक या अधिक किस्तों में डाली जाएगी. सरकार ने 2020-21 के बजट में इन कंपनियों में 6,950 करोड़ रुपये की पूंजी डालने का प्रावधान किया था.

First Published : 30 Nov 2020, 10:27:58 AM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.