News Nation Logo
Banner

किसान आंदोलन से अब तक 14 हजार करोड़ के व्यापार का नुकसान: CAIT

Farmers Protest LIVE Updates: कैट (CAIT) ने इस मामले को लेकर किसान नेताओं एवं केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि बातचीत के द्वारा इस मसले को तुरंत सुलझाया जाए.

IANS | Updated on: 22 Dec 2020, 12:48:45 PM
The Confederation of All India Traders-CAIT

The Confederation of All India Traders-CAIT (Photo Credit: IANS )

नई दिल्ली :

Farmers Protest LIVE Updates: कृषि कानूनों (Farm Bill 2020) को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन लगातार जारी है ऐसे में व्यापारियों का संगठन कैट द्वारा कहा गया है कि इस आंदोलन से दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान एवं उत्तर प्रदेश के क्षेत्रों में अब तक लगभग 14 हजार करोड़ रुपए के व्यापार का बड़ा नुकसान हुआ है. कैट (CAIT) ने इस मामले को लेकर किसान नेताओं एवं केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि बातचीत के द्वारा इस मसले को तुरंत सुलझाया जाए. वहीं सर्वोच्च न्यायलाय से भी अनुरोध किया है कि व्यापारियों एवं अन्य लोगों की परेशानियों को देखते हुए सर्वोच्च न्यायालय की वैकेशन बेंच इस मामले की तुरंत सुनवाई की तारीख निश्चित करे.

यह भी पढ़ें: रतन टाटा को एकता, शांति और स्थिरता के लिए मिला FIICC का प्रतिष्ठित पुरस्कार

रोजाना दिल्ली से बाहर अन्य राज्यों के लिए सामान लेकर जाते हैं करीब 30 हजार ट्रक 
कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्ज (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने अनुमान लगाते हुए कहा है कि आंदोलन के कारण लगभग 20 प्रतिशत ट्रक देश के अन्य राज्यों से सामान दिल्ली नहीं ला पा रहे हैं, जिसके कारण दिल्ली से अन्य राज्यों को भेजे जाने वाले सामान पर भी विपरीत असर पड़ रहा है. कैट के अनुसार दिल्ली में प्रतिदिन लगभग 50 हजार ट्रक देश भर के विभिन्न राज्यों से सामान लेकर दिल्ली आते हैं और लगभग 30 हजार ट्रक प्रति दिन दिल्ली से बाहर अन्य राज्यों के लिए सामान लेकर जाते हैं. फिलहाल दिल्ली में आवश्यक वस्तुओं सहित अन्य वस्तुओं की कोई किल्लत नहीं है.

यह भी पढ़ें: HDFC Bank, ICICI Bank, SBI को लेकर जारी हुई ये रिपोर्ट, पढ़ें पूरी खबर

कैट एवं ट्रांसपोर्ट सेक्टर के सबसे बड़े संगठन ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेल्फैएर एसोसिएशन (ऐटवा) दोनों संयुक्त रूप से माल की आवाजाही पर प्रतिदिन निगाह रखे हुए हैं और पूरा प्रयत्न कर रहे हैं की दिल्ली अथवा अन्य किसी राज्य में किसी भी वस्तु की कोई कमी न हो. उन्होंने आगे कहा कि, मुख्य रूप से अन्य राज्यों से एफएमसीजी प्रोडक्ट, लोगों द्वारा रोजमर्रा के उपयोग का सामान, खाद्धान, फल एवं सब्जी, किराने का सामान, ड्राई फ्ऱूट, इलेक्ट्रॉनिक्स, बिजली का सामान, दवाइयां, भवन निर्माण का सामान, लोहा-स्टील, कपड़ा, मशीनरी, बिल्डिंग हार्डवेयर, लकड़ी एवं प्लाइवुड, रेडीमेड वस्त्र आदि प्रतिदिन बड़ी संख्या में दिल्ली आते हैं.

First Published : 22 Dec 2020, 12:47:06 PM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.