News Nation Logo
Banner

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मोदी सरकार पर किया हमला, 21 दिन में कोरोना को खत्म करने का था वादा लेकिन खत्म...

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार ने 21 दिन में कोरोना वायरस को खत्म करने का वादा किया था लेकिन करोड़ों रोजगार और छोटे उद्योग खत्म कर दिए गए.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 09 Sep 2020, 12:04:20 PM
Rahul Gandhi

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने आज फिर एक वीडियो जारी किया है. इस बार उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के ऊपर कोरोना वायरस लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) को लेकर तीखा हमला बोला है. वीडियो में उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के द्वारा अचानक किया गया लॉकडाउन असंगठित वर्ग के लिए मृत्युदंड जैसा साबित हुआ है. उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार ने 21 दिन में कोरोना वायरस को खत्म करने का वादा किया था लेकिन करोड़ों रोजगार और छोटे उद्योग खत्म कर दिए गए.

यह भी पढ़ें: रिलायंस रिटेल में 7,500 करोड़ रुपये में हिस्सा खरीदेगी Silver Lake

असंगठित क्षेत्र के रीड़ की हड्डी 21 दिन में ही टूट गई: राहुल गांधी
राहुल गांधी ने वीडियो में कहा कि प्रधानमंत्री जी ने कहा कि कोरोना वायरस से 21 दिन की लड़ाई है लेकिन असंगठित क्षेत्र के रीड़ की हड्डी 21 दिन में ही टूट गई. वीडियो में इस बात का जिक्र भी है कि लॉकडाउन की वजह से 20 से 30 साल की आयु के 2.7 करोड़ युवा बेरोजगार हो गए हैं.

यह भी पढ़ें: प्रॉविडेंट फंड के पैसे को लेकर हो सकता है बड़ा फैसला, आज है EPFO की अहम बैठक

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बाद जब खोलने का समय आया तो कांग्रेस ने एक बार नहीं कई बार सरकार से कहा कि गरीबों की मदद करनी ही पड़ेगी और न्याय योजना जैसी योजना लागू करनी पड़ेगी. गरीबों के बैंक अकाउंट में पैसा सीधे डालना पड़ेगा लेकिन सरकार ने नहीं किया. हमने कहा कि एमएसएमई सेक्टर के लिए एक राहत पैकेज तैयार करने की मांग की.

सरकार ने सबसे अमीर 15-20 लोगों का लाखों करोड़ रुपये का टैक्स माफ किया: राहुल गांधी
राहुल गांधी ने कहा कि मौजूदा समय में एमएसएमई सेक्टर को बचाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि बगैर सरकारी मदद के पैसे के यह सेक्टर नहीं बच पाएगा, लेकिन सरकार ने कुछ नहीं किया उल्टा सरकार ने सबसे अमीर 15-20 लोगों का लाखों करोड़ रुपये का टैक्स माफ कर दिया. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन कोरोना के ऊपर आक्रमण नहीं था बल्कि लॉकडाउन हिंदुस्तान के करोड़ों गरीबों के ऊपर आक्रमण था. हमारे युवायों के भविष्य पर आक्रमण था. लॉकडाउन मजदूर, किसान और छोटे व्यापारियों के ऊपर आक्रमण था.

यह भी पढ़ें: कपास उत्पादकों के लिए खुशखबरी, SBI की नई लोन स्कीम से किसानों को मिलेगी बड़ी मदद

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन हमारी असंगठित अर्थव्यवस्था पर आक्रमण था. उन्होंने देशवासियों से इस आक्रमण के खिलाफ खड़े होने की अपील की है. बता दें कि कांग्रेस ने मोदी सरकार के ऊपर आरोप लगाया है कि बड़े उद्योगपतियों को 1.45 लाख करोड़ रुपये की टैक्स छूट दी है. कांग्रेस ने एमएसएमई सेक्टर के लिए 1 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की मांग की थी.

First Published : 09 Sep 2020, 11:45:11 AM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो