News Nation Logo

Budget 2021-22: आगामी बजट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आज अर्थशास्त्रियों के साथ अहम बैठक

Budget 2021-22: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अर्थशास्त्रियों और विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ प्रधानमंत्री की आज की बैठक का आयोजन नीति आयोग के द्वारा किया जा रहा है.

Written By : बिजनेस डेस्क | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 08 Jan 2021, 09:20:20 AM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) (Photo Credit: newsnation)

नई दिल्ली:

Budget 2021-22: कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Epidemic) की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था के ऊपर काफी नकारात्मक असर पड़ा है. वहीं 1 फरवरी 2021 को आगामी बजट पेश होने जा रहा है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज यानि 8 जनवरी 2021 को देश के बड़े अर्थशास्त्रियों और विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ चर्चा करेंगे. 

यह भी पढ़ें: आगामी बजट में होटल और पर्यटन जैसे सेक्टर के लिए हो सकता है बड़ा ऐलान

इकोनॉमी की ग्रोथ को बढ़ाने के लिए उपायों पर हो सकती है चर्चा 
बैठक में इकोनॉमी की ग्रोथ को बढ़ाने के लिए उपायों पर चर्चा हो सकती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इन उपायों को आगामी बजट में शामिल किया जा सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आज की बैठक शाम 4.30 बजे हो सकती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अर्थशास्त्रियों और विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ प्रधानमंत्री की आज की बैठक का आयोजन नीति आयोग के द्वारा किया जा रहा है. आज की बैठक में नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत, नीति आयोग उपाध्यक्ष राजीव कुमार, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर शामिल हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें: Bank Of Baroda के ग्राहक WhatsApp पर निपटा सकेंगे बैंक से जुड़े सभी काम

चालू वित्त वर्ष में जीडीपी में 7.7 फीसदी गिरावट का अनुमान
बता दें कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में चालू वित्तवर्ष 2020-21 के दौरान 7.7 फीसदी गिरावट का अनुमान है, जबकि पिछले वित्तवर्ष में देश की आर्थिक विकास दर 4.2 फीसदी दर्ज की गई थी. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा गुरुवार को चालू वित्तवर्ष की जीडीपी का पहला अग्रिम अनुमान जारी किया गया. एनएसओ के आंकड़ों के अनुसार, वित्तवर्ष 2020-21 में देश की वास्तविक जीडीपी यानी स्थिर कीमत (2011-12) के आधार पर जीडीपी 134.40 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है, जबकि 31 मई 2020 को जारी पिछले वित्तवर्ष 2019-20 की जीडीपी का प्रोविजनल अनुमान 145.66 लाख करोड़ रुपये था. इस प्रकार, वित्तवर्ष 2020-21 में जीडीपी में 7.7 फीसदी गिरावट रहने का अनुमान है जबकि पिछले वित्तवर्ष 2019-20 के दौरान जीडीपी वृद्धिदर 4.2 फीसदी दर्ज की गई थी.

First Published : 08 Jan 2021, 08:44:22 AM

For all the Latest Business News, Budget News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो