News Nation Logo

वैक्‍सीन असंतुलन दूर नहीं हुआ तो 2024 तक खत्‍म नहीं होगा कोरोना

दुनिया के गरीब लोगों तक कोरोना वायरस वैक्‍सीन पहुंचाने के लिए और ज्‍यादा प्रयास किए जाने की जरूरत है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 06 May 2021, 01:48:54 PM
Vaccine Production

अमीर-गरीब देशों में कोरोना वैक्सीन पर है बहुत बड़ी असमानता. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • अमीर देशों के पास प्रति नागरिक कई-कई वैक्सीन
  • गरीब देशों के पास एक वैक्सीन का गंभीर संकट
  • इस असंतुलन को खत्म करने की पैरवी की फ्रांस ने

पेरिस:

कोरोना संक्रमण (Corona Epidemic) खासकर कोरोना वैक्सीन (Vaccine) को लेकर गंभीर असंतुलन पर अब फ्रांस (France) ने ध्यान आकृष्ट कराया है. फ्रांसीसी विदेश मंत्री जीन यवेस ली ड्र‍ियान ने समूह-7 देशों को चेतावनी दी है कि वे कोरोना वायरस वैक्‍सीन का उत्‍पादन बढ़ाएं नहीं, तो 2024 तक यह महामारी दुनिया से खत्‍म नहीं होगी. जीन ने कहा कि हमें कोरोना वैक्‍सीन का उत्‍पादन बढ़ाकर उसे अफ्रीकी (Africa) देशों को भी देना होगा. उन्‍होंने कहा कि इस बात को लेकर बहस चल रही है कि दवा कंपनियों के पेटेंट प्रतिबंधों में ढील दी जाए, लेकिन हमारी पहली प्राथमिकता उत्‍पादन बढ़ाना होना चाहिए.

अमीर देश दें गरीब देशों को वैक्सीन
फ्रांसीसी विदेश मंत्री ने गार्डियन अखबार से बातचीत में कहा कि उन्‍होंने अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन से जनवरी से लेकर अब तक इतनी ज्‍यादा बार बातचीत की है जितना पूर्व अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से उनके तीन साल के कार्यकाल में नहीं किया था. उन्‍होंने माना कि दुनिया के गरीब लोगों तक कोरोना वायरस वैक्‍सीन पहुंचाने के लिए और ज्‍यादा प्रयास किए जाने की जरूरत है. जीन ने कहा कि यह दुनिया के 7 सबसे अमीर देशों की जिम्मेदारी है कि वे गरीबों को वैक्‍सीन मुहैया कराएं. उन्‍होंने कहा, 'अगर हम इसी गति से आगे बढ़ते रहे तो वर्ष 2024 तक ही वैश्विक इम्‍यूनिटी आएगी.' फ्रांसीसी विदेश मंत्री ने कहा, 'क्‍या हम वर्ष 2024 तक मास्‍क पहनने की बाध्‍यता, टेस्‍ट और भय से जूझते रहेंगे. मैं नहीं समझता हूं कि यह हमारे लिए या दुनिया के लिए समाधान हैं.'

यह भी पढ़ेंः  होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के लिए दिल्ली सरकार ने उठाया बड़ा कदम

दुनियाभर में कोरोना के 154.7 मिलियन मामले
फ्रांसीसी विदेश मंत्री का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब वैश्विक कोविड 19 मामलों की संख्‍या बढ़कर 15 करोड़ 47 लाख पहुंच गई है. वहीं 32 लाख 30 हजार से अधिक मौते हो चुकी हैं. इस वैश्विक केस और मृत्यु दर क्रमश: 154,763,588 और 3,237,435 है. सीएसएसई के अनुसार, दुनिया में सबसे अधिक 32,557,299 और 579,265 मौतों के साथ अमेरिका सबसे खराब स्थिति वाला देश है. संक्रमण के संदर्भ में, भारत 20,665,148 मामलों के साथ दूसरे स्थान पर है. सीएसएसई के आंकड़ों के अनुसार, दो मिलियन से अधिक पुष्टिकारक वायरस मामलों वाले अन्य देश ब्राजील (14,930,183), फ्रांस (5,767,541), तुर्की (4,955,594), रूस (4,792,354), यूके (4,441,642), इटली (4,070,400), स्पेन (3,551,262), जर्मनी (3,471,616), अर्जेंटीना (3,071,496), कोलम्बिया (2,934,611), पोलैंड (2,811,951), ईरान (2,591,609), मेक्सिको (2,356,140) और यूक्रेन (2,146,121) है. मौतों के मामले में, ब्राजील 414,399 मृत्यु दर के साथ दूसरे स्थान पर है. भारत तीसरे स्‍थान पर है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 06 May 2021, 01:42:18 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.