News Nation Logo

US  ने कहा- यूक्रेन दूतावास से कर्मियों के परिवार लौटें देश, ब्रिटेन ने भी दिया आदेश

इस बीच अमेरिका सरकार ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है जब यूक्रेन की सीमा पर रूस की सैन्य मौजूदगी बढ़ने के कारण तनाव बढ़ गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 24 Jan 2022, 03:20:56 PM
Ukraine Embassy

Ukraine Embassy (Photo Credit: Twitter)

highlights

  • यूक्रेन की सीमा पर रूस की सैन्य मौजूदगी से तनाव बढ़ा
  • अमेरिका और रूस के विदेश मंत्री ने की थी वार्ता पर निकला परिणाम
  • यूक्रेन पर कभी भी कर सकता है रूस की सेना हमला

वाशिंगटन:  

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने यूक्रेन स्थित अमेरिकी दूतावास में कार्यरत सभी अमेरिकी कर्मियों के परिवारों को रूसी हमले के बढ़ते खतरों के बीच देश छोड़ने का आदेश दिया है. मंत्रालय ने यूक्रेन स्थित अमेरिकी दूतावास के कर्मियों के आश्रितों को परामर्श दिया कि उन्हें देश छोड़ देना चाहिए. उसने यह भी कहा कि दूतावास में कार्यरत गैर-जरूरी कर्मी सरकारी खर्चे पर देश छोड़कर आ सकते हैं. इस बीच ब्रिटेन ने भी यूक्रेन से दूतावास के कुछ कर्मचारियों को वापस बुलाने का आदेश दिया है. रूसी आक्रमण की चेतावनी के बीच यह फैसला लिया गया है. 

यह भी पढ़ें : सीरिया में ISIS-कुर्द फोर्सेस की जंग, 4 दिन में 84 आतंकियों समेत 136 की मौत

इस बीच अमेरिका सरकार ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है जब यूक्रेन की सीमा पर रूस की सैन्य मौजूदगी बढ़ने के कारण तनाव बढ़ गया है. अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और रूस के विदेश मंत्री सर्गेइ लावरोव ने तनाव कम करने के लिए शुक्रवार को वार्ता की, लेकिन इस दौरान सफलता नहीं मिली. विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि यूक्रेन स्थित दूतावास खुला रहेगा और इस घोषणा का मतलब यूक्रेन से अमेरिकी अधिकारियों को निकाला जाना नहीं है. उन्होंने कहा कि इस कदम पर लंबे समय से चर्चा हो रही थी और इसका अर्थ यह नहीं है कि अमेरिका यूक्रेन के प्रति समर्थन को कम कर रहा है.

ब्रिटेन के आधे कर्मचारी लौटेंगे देश

ब्रिटेन के अधिकारियों ने कहा कि यूक्रेन में ब्रिटिश राजनयिकों को कोई विशेष खतरा नहीं है, लेकिन कीव में काम करने वाले लगभग आधे कर्मचारी ब्रिटेन लौट आएंगे. ब्रिटेन यह फैसला तब किया है जब अमेरिका ने अपने दूतावास के कर्मचारियों के रिश्तेदारों को यूक्रेन छोड़ने का आदेश दिया है. उन्होंने कहा कि यह फैसला ऐसे समय किया गया है जब रूसी सेना किसी भी समय हमला कर सकता है.

First Published : 24 Jan 2022, 03:20:56 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.