News Nation Logo

तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन  ने कहा- पैगंबर का अपमान करने वालों की जीभ काट दूंगा

राष्ट्रपति जीभ काट लेने का बयान देकर आलोचना झेल रहे हैं. तुर्की के नोबेल विजेता ओरहान पामुक ने भी एक कलाकार के प्रति एर्दोगन के रुख की आलोचना की है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 25 Jan 2022, 06:00:36 PM
Turkish President Erdogan

रेचेप तैय्यप एर्दोगन, तुर्की के राष्ट्रपति (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली:  

इस्लामिक देशों में पैगंबर का अपमान बड़ा मुद्दा रहा है. एक समय आधुनिक राष्ट्रों में शुमार तुर्की जैसे देश में भी यह एक मुद्दा है. बात केवल किसी आम आदमी तक सीमित होता तो कोई बात नहीं, लेकिन तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप एर्दोगन ने पैगंबर का अपमान करने वाले की जीभ काट लेने का बयान देते हैं. मामला तुर्की की पॉप आइकन सेजेन अक्सू  से जुड़ा है. एर्दोगन का कहना है कि सेजेन अक्सू ने अपने गाने के माध्यम से इस्लाम के पवित्र मूल्यों का अपमान किया है. राष्ट्रपति जीभ काट लेने का बयान देकर आलोचना झेल रहे हैं. तुर्की के नोबेल विजेता ओरहान पामुक ने भी एक कलाकार के प्रति एर्दोगन के रुख की आलोचना की है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 67 वर्षीय सेजेन अक्सू को सरकार समर्थित लोगों से भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. विरोध 2017 के उनके एक गाने को लेकर है जिसके लिरिक्स में एडम और ईव का जिक्र है. अक्सू पर आरोप है कि गाने के माध्यम से उन्होंने इस पवित्र जोड़े का अपमान किया है और उन्हें अज्ञानी बताया है. एर्दोगन ने अक्सू की आलोचना करते हुए कहा है कि इस्लामी शिक्षाओं के अनुसार, पहले पैगंबर का अपमान करने वाले 'किसी भी व्यक्ति की जीभ काटना' उनका कर्तव्य है. जो लोग भी इन्हें आदर नहीं देंगे, उन्हें उनकी सही जगह दिखाई जाएगी.

यह भी पढ़ें: मुंबई में खेल का मैदान बना राजनीति का अखाड़ा, टीपू सुल्तान के नाम पर भड़की BJP

एर्दोगन की इस आलोचना पर मुख्य विपक्षी पार्टी रिपब्लिकन पीपुल्स पार्टी के नेता केमल किलिकडारोग्लू ने कहा कि अक्सू पर हमला करके एर्दोगन इसे एक राष्ट्रीय एजेंडा बना रहे हैं क्योंकि अब वो लाचार महसूस कर रहे हैं. उन्होंने अपने एक ट्वीट में लिखा, 'तुर्की के राष्ट्रपति का ये कहना कि वो 'कलाकार की जीभ काट देंगे' बताता है कि वो एक ऐसा एजेंडा सेट करने की कोशिश कर रहे हैं जिससे वो कुछ समय के लिए गायब थे.'

पिछले कुछ हफ्तों के दौरान अक्सू पर एक क्रिमिनल केस दर्ज किया गया है. इसके बाद से ही इस्तांबुल स्थित उनके घर के सामने विरोध प्रदर्शन जारी हैं. सरकार के शीर्ष अधिकारियों समेत सरकार समर्थित लोग सोशल मीडिया पर उन्हें निशाना बना रहे हैं. विपक्षी गुड पार्टी के नेता मेराल एक्सनेर ने रविवार को कहा कि एर्दोआन अपने विरोधियों को डराने और चुप कराने के लिए अक्सू का इस्तेमाल कर रहे हैं. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'सरकार सभी को डराने की कोशिश कर रही है. वो ये मानसिकता पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं कि हम हारने जा रहे हैं. उनका उद्देश्य नागरिकों, विरोधियों और मतदाताओं में सेजेन अक्सू के माध्यम से डर पैदा करना है.'

इसी बीच अक्सू ने एक और गाना निकाला है जिसके माध्यम से उन्होंने एर्दोगन पर जमकर हमला बोला है. अपने एक फेसबुक पोस्ट में गाने की लिरिक्स शेयर करते हुए उन्होंने लिखा, 'तुम मुझे मार नहीं सकते. मेरे पास एक आवाज है, एक साज है और शब्द हैं. मैं सब में हूं. आखिरकार मैं 47 वर्षों से लिख रही हूं और आगे भी लिखती रहूंगी.'

तुर्की की लोकप्रिय एक्ट्रेस एक्ट्रेसबेरेन सैट ने रविवार को अक्सू का समर्थन करते हुए कहा कि विश्वास नहीं होता कि ये वही एर्दोगन हैं जिन्हें कभी अपनी कविता के लिए जेल में डाल दिया गया था. एर्दोगन गाने के बोल को लेकर एक पॉप स्टार को निशाना कैसे बना सकते हैं.

एक्ट्रेस ने अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा, 'हम सब तुम से प्यार करते हैं सेजेन. हमारी प्यारी सेजेन को चुप कराकर वो हमें उसके सैकड़ों गाने, जिन्हें हम दिल से जानते हैं, को आने वाली पीढ़ियों तक पहुंचाने से नहीं रोक सकते.' नोबेल पुरस्कार विजेता उपन्यासकार ओरहान पामुक ने भी एर्दोगन पर निशाना साधा है. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'लाखों लोग आज सेजेन अक्सू के साथ हैं. हम अपने कलाकारों को कुचलने वाले लोग नहीं हैं.'

वरिष्ठ थियेटर कलाकार जेनको एर्कल ने भी अक्सू का समर्थन किया है. उन्होंने अपने एक ट्वीट में लिखा, 'कला की शक्ति हमेशा से सरकारों को डराती आई है.'

First Published : 25 Jan 2022, 06:00:36 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.