News Nation Logo
उत्तराखंड : बारिश के दौरान चारधाम यात्रा बड़ी चुनौती बनी, संवेदनशील क्षेत्रों में SDRF तैनात आंधी-बारिश को लेकर मौसम विभाग ने दिल्ली-NCR के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया राजस्थान : 11 जिलों में आज आंधी-बारिश का ऑरेंज अलर्ट, ओला गिरने की भी आशंका बिहार : पूर्णिया में त्रिपुरा से जम्मू जा रहा पाइप लदा ट्रक पलटने से 8 मजदूरों की मौत, 8 घायल पर्यटन बढ़ाने के लिए यूपी सरकार की नई पहल, आगरा मथुरा के बीच हेली टैक्सी सेवा जल्द महाराष्ट्र के पंढरपुर-मोहोल रोड पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत- 3 की हालत गंभीर बारिश के कारण रोकी गई केदारनाथ धाम की यात्रा, जिला प्रशासन के सख्त निर्देश आंधी-बारिश के कारण दिल्ली एयरपोर्ट से 19 फ्लाइट्स डाइवर्ट
Banner

अमेरिका से दोस्ती बढ़ा QUAD से भारत को हटाना चाह रहा है दक्षिण कोरिया 

क्वॉड में भारत के विकल्प के तौर पर दक्षिण कोरिया (South Korea) अपनी जगह बनाने में जुटा है. दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति हिंद प्रशांत क्षेत्र में दक्षिण कोरिया के रुख में बदलाव करने के बारे में सोच रहे हैं. 

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 01 May 2022, 08:07:59 PM
quad

क्‍वॉड सम्मेलन (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली:  

भारत के साथ रूस के संबंधों से अमेरिका (America) खुश नजर नहीं आ रहा है और इसका नतीजा ये है कि दक्षिण कोरिया (South Korea) अमेरिका के साथ अपनी दोस्ती को बढ़ा रहा है. इस बीच खबर सामने आई है कि चीन पर लगाम लगाने के लिए बनाए गए 'क्‍वॉड' में अब दक्षिण कोरिया, भारत का विकल्प बन सकता है. दरअसल दक्षिण कोरिया (South Korea) हिंद प्रशांत क्षेत्र में अमेरिका (America) के साथ आगे बढ़ने के लिए ज्यादा हाथ पैर मार रहा है और इसके पीछे की वजह हैं दक्षिण कोरिया के नए राष्‍ट्रपति यून सुक येओल. वो भी ये बात जानते हैं कि अमेरिका, रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच भारत द्वारा रूस की आलोचना ना करने से नाराज है.  

हालही में अमेरिकी अधिकारी दलीप सिंह जब भारत आए थे, तो उन्होंने भी रूस को लेकर भारत के रवैये पर असंतुष्टि जाहिर की थी. दरअसल भारत रूस के साथ अच्छे संबंध बनाए रखने पर जोर दे रहा है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन इसी मामले को लेकर भारत से तनाव की स्थिति में हैं. 

यह भी पढ़ें: DC vs LSG IPL 2022 : रोमांचक मैच में लखनऊ ने दिल्ली को 6 रन से हराया

इन्हीं सारी बातों को ध्यान में रखते हुए अब ये कहा जा रहा है कि क्वॉड में भारत के विकल्प के तौर पर दक्षिण कोरिया (South Korea) अपनी जगह बनाने में जुटा है. खबर ये भी है कि दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति हिंद प्रशांत क्षेत्र में दक्षिण कोरिया के रुख में बदलाव करने के बारे में सोच रहे हैं. 

रूस को लेकर अमेरिका और भारत के बीच जो मतभेद पनप रहा है, उसका फायदा दक्षिण कोरिया उठाने में लगा है. कहा जा रहा है कि दक्षिण कोरिया क्‍वॉड प्‍लस और जी-7 प्‍लस में भी ज्यादा ताकत हासिल करने की कोशिश भविष्य में कर सकता है. बता दें कि हालही में दक्षिण कोरिया के नए राष्‍ट्रपति ने ये ऐलान भी किया था कि उनका देश विस्‍तारित क्‍वॉड का सदस्‍य बनने के लिए तैयार हैं. 

क्वाड्रीलैटरल सिक्योरिटी डायलॉग (QUAD) चार देशों का समूह है, जिसमें अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और जापान हैं. इन चारों देशों के बीच 2004 में आई सुनामी के बाद समुद्री सहयोग शुरू हुआ था. पहले चीन के दबाव की वजह से ऑस्ट्रेलिया इस ग्रुप में नहीं था लेकिन बाद में वह ग्रुप में शामिल हो गया.

साल 2017 में जब चीन का खतरा बढ़ा और वह दादागीरी पर उतर आया तो इन चारों देशों ने मिलकर फिर से क्वॉड को जिंदा कर लिया और इसका विस्तार किया. इसके तहत हिंद महासागर और पश्चिमी प्रशांत महासागर के देशों से लगे समुद्र में फ्री ट्रेड को बढ़ावा मिला. 

QUAD का मुख्य उद्देश्य इंडो-पैसिफिक के समुद्री रास्तों पर किसी भी देश की तानाशाही को रोकना है. इसमें खासतौर पर चीन की दादागीरी को रोकना अहम है. बीते सालों में क्वॉड एक ताकतवर क्षेत्रीय संगठन बनकर उभरा है जो एशिया-प्रशांत क्षेत्र में लगातार अपना प्रभाव बढ़ाने की कोशिश में जुटे चीन पर नकेल कसने में सफल रहा है. 

First Published : 01 May 2022, 08:07:59 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.