News Nation Logo
Banner

पाकिस्तान : सीमा बंद होने के बाद तोरखम सीमा नाके पर लंबी कतारें

तोरखम सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से पाक अधिकारियों और अफगानिस्तान की तरफ से सशस्त्र तालिबान लड़ाकों द्वारा  पैदल यात्रियों के लिए कड़ाई से प्रतिबंधित है. 

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 04 Sep 2021, 09:31:38 PM
torkham

तोरखम सीमा (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के साथ लगी अपनी सीमा को बंद कर दिया है
  • तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान में स्थिति दिनोंदिन बदतर होती जा रही है
  • अफगान पुलिस ने तालिबान के सामने आत्मसमर्पण कर दिया

नई दिल्ली:

पाकिस्तान की सीमा पर अफगान शरणार्थियों, जिसमें कई बीमार भी शामिल हैं, की लंबी कतार सीमापार करने के लिए इंतजार कर रही है. यह घटना सिर्फ एक दिन पहले की है. पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के साथ लगी अपनी सीमा को बंद कर दिया है. जिससे अफगान शरणार्थी सीमापार करने को इंतजार करने के लिए मजबूर किया जा रहा है. शुक्रवार को तोरखम में लंबी कतारें और चिंतित चेहरे नजर आए. तोरखम सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से पाक अधिकारियों और अफगानिस्तान की तरफ से सशस्त्र तालिबान लड़ाकों द्वारा  पैदल यात्रियों के लिए कड़ाई से प्रतिबंधित है. 

पाकिस्तान ने फैसले के पीछे 'सुरक्षा चिंताओं' और COVID-19 को कारण बताया है. सीमा पर तैनात तालिबान के एक कमांडर ने स्थिति पर चर्चा की और जोर देकर कहा कि सीमा जल्द ही खोली जाएगी. उन्होंने कहा, "रास्ता दो या तीन दिनों में खुल जाएगा." काबुल पर तालिबान के कब्जा के बाद से सीमा पर यातायात बढ़ गया है और हजारों लोग रोजाना पाकिस्तान में प्रवेश कर रहे हैं. पाकिस्तान में पहले से ही 30 लाख अफगान शरणार्थी मौजूद हैं. 

यह भी पढ़ें:UNHRC ने अफगानिस्तान की स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा, इसे मानवीय त्रासदी नहीं बनने दिया जा सकता

तालिबान के कब्जे वाले तोरखम सीमा नाके को बंद करने के फैसले पर पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद अहमद ने कहा कि तोरखम सीमा (Torkham Border) को बंद करने का निर्णय सीमा पार एक असाधारण स्थिति के कारण लिया गया है.
 
अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर तालिबान के कब्जे के बाद ही पाकिस्तान की अफगानिस्तान के साथ लगती तोरखम सीमा (Torkham Border) पर तालिबान का कब्जा हो गया. इसके बाद अफगान पुलिस ने तालिबान के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. इस घटना को देखकर पाकिस्तान भी सावधान हो गया है. इसके बाद पाकिस्तान ने इस सीमा नाके को बंद कर दिया. 

तालिबान (Taliban) के हमले के बाद अफगानिस्तान में स्थिति दिनोंदिन बदतर होती जा रही है. पाकिस्तान पहले ही कह चुका है कि वह युद्धग्रस्त देश में संकट के मद्देनजर नए अफगान शरणार्थियों का बोझ नहीं सह सकता. पाकिस्तान सीमा पर बाड़ लगाने का काम पूरा करने वाला है. उसने कहा है कि सीमा पार आतंकवादियों का आवागमन रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है. 

First Published : 04 Sep 2021, 09:31:38 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.