News Nation Logo

अंततः जो बाइडन की जुबान पर आया सच, पाकिस्तान को बताया खतरनाक देशों में एक

Written By : श्रवण शुक्ला | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 15 Oct 2022, 01:38:23 PM
Joe Biden

परमाणु हथियारों को लेकर पाकिस्तान खतरनाक देशों में से एक. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • परमाणु हथियारों की सुरक्षा पर पाकिस्तान को बाइडन ने कठघरे में किया खड़ा
  • कहा- पाकिस्तान सरकार और सेना में परमाणु हथियारों पर कोई सामंजस्य नहीं
  • रूस और चीन को लेकर भी बहुत तीखा बोले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन

कैलिफोर्निया:  

अंततः अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) की जुबान पर सच आ ही गया. यही नहीं, संभवतः जो बाइडन का यह बेहद बेबाक बयान है, जिसमें उन्होंने पाकिस्तान (Pakistan) को दुनिया के सबसे खतरनाक देशों में से एक करार दिया है. इसके पीछे बाइडन ने तर्क दिया है कि पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार (Nuclear Weapons) हैं, जिस पर सरकार और पाकिस्तानी सेना के बीच में ही कोई सामंजस्य नहीं है. वह एक के बाद परमाणु बम बनाता जा रहा है, वह भी बगैर उनकी सुरक्षा की चिंता किए. अमेरिकी राष्ट्रपति ने सच्चाई से भरा यह बयान कैलिफोर्निया में डेमोक्रेटिक पार्टी की चुनाव अभियान समिति के एक कार्यक्रम में कही.  पाकिस्तान पर यह टिप्पणी अमेरिकी राष्ट्रपति ने उस समय की जब वह चीन और व्लादिमीर पुतिन की रूस के संबंध में अमेरिकी विदेश नीति पर बात कर रहे थे. बाइडन ने यह कहकर निष्कर्ष निकाला कि वह पाकिस्तान को दुनिया का सबसे खतरनाक देश मानते हैं. इस दौरान उन्होंने चीन और रूस की भी जमकर निंदा की. 

बाइडन के बयान से शहबाज शरीफ को झटका
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग पर चर्चा करते हुए जो बाइडन ने कहा, 'वह एक ऐसा शख्स है, जिसे समझ है कि वह क्या चाहता है, लेकिन उसके सामने समस्याओं का अंबार लगा हुआ है. आखिर हम इससे कैसे निपटेंगे? इसी तरह रूस में जो हो रहा है, उसके सापेक्ष हम इन स्थितियों को कैसे संभालेंगे? इन तमाम परिस्थितियों के आलोक में मेरा विचार है कि पाकिस्तान दुनिया के सर्वाधिक खतरनाक देशों में से एक है. जिसके पास परमाणु हथियार है वह भी बगैर किसी सामंजस्य के.' जाहिर है अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को यह बयान पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम शहबाज शरीफ के लिए एक बहुत बड़ा झटका है, जो अमेरिकी से संबंधों को सुधारने के लिए ऐड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं. 

यह भी पढ़ेंः बलूचिस्तान में मस्जिद के बाहर पूर्व मुख्य न्यायाधीश की गोली मारकर हत्या

अमेरिका के पास बदलाव के प्रचुर अवसर मौजूद
इसी कार्यक्रम में बाइडन ने यह भी कहा कि अमेरिका के पास 21वीं सदी की दूसरी तिमाही में बदलाव लाने के लिए पर्याप्त और प्रचुर अवसर मौजूद हैं. उन्होंने कहा, 'तो दोस्तों, बहुत कुछ चल रहा है और अमेरिका के पास इस सदी की दूसरी तिमाही में बदलाव लाने के लिए प्रचुर अवसर मौजूद हैं.' गौरतलब है कि पाकिस्तान समेत रूस-चीन के खिलाफ जो बाइडन का तीखा बयान राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति जारी करने के 48 घंटों के भीतर आया है. यहां यह भी जानना रोचक रहेगा कि बाइडन ने पाकिस्तान को खतरानक देशों में से एक तो करार दिया, लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति में उसका जिक्र तक नहीं है. 

First Published : 15 Oct 2022, 01:37:30 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.