News Nation Logo

मैक्सिको के मेयर ने अपने जीवनसाथी बतौर चुना घड़ियाल को, जानें क्यों...

ओआस्का के पैसिफिक कोस्ट के चोंटाल और हुआव आदिवासी समुदाय में यह परंपरा सदियों से चली आ रही है. यह प्रकृति की संपन्नता और आशीर्वाद के लिए की जाती है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 02 Jul 2022, 12:38:10 PM
Alligator Marriage

छोटे से शहर सैन पेड्रो हुआमेलुला में सदियों पुरानी है रस्म. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • 17वीं सदी से चली आ रही घड़ियाल से शादी की परंपरा
  • भरपूर बारिश और प्रचुर मात्रा में मछली मिलने की कामना
  • घड़ियाल का नामकरण कर पहनाते हैं शादी का जोड़ा

सैन पेड्रो हुआमेलुला:  

लोग अपने जीवनसाथी बतौर एक ऐसे साथी की कल्पना करते हैं, जो सूरत-सीरत में हर लिहाज से अच्छा हो. हालांकिमैक्सिको (Mexico) के एक छोटे से शहर सैन पेड्रो हुआमेलुला के मेयर क्‍टर ह्यूगो ने अपने जीवनसाथी बतौर एक घड़ियाल (Alligator) को चुना. उन्होंने मैक्सिको के सामाजिक रीति-रिवाज से घड़ियाल के साथ शादी की. फिर ब्राइड-ग्रूम (Bride Groom) किस की रस्म को अंजाम देते हुए उसके थूथन को चूमा भी. यह अलग बात है कि घड़ियाल उन्हें काटे नहीं, इसके लिए उसके थूथन को पहले से ही कसकर बांध दिया गया था. इस तरह मेयर की घड़ियाल से शादी की रस्म प्रकृति का आशीर्वाद पाने के लिए प्री-हिस्पैनिक काल यानी 17वीं सदी से अमल में लाई जा रही है. 

प्रकृति की संपन्नता की कामना की चाह
ओआस्का के पैसिफिक कोस्ट के चोंटाल और हुआव आदिवासी समुदाय में यह परंपरा सदियों से चली आ रही है. यह प्रकृति की संपन्नता और आशीर्वाद के लिए की जाती है. सोसा ने कहा, 'हम प्रकृति से पर्याप्त बारिश, पर्याप्त भोजन की मांग करते हैं. हम मांग करते हैं कि नदी में हमें मछली मिले. ओक्साका मैक्सिको के गरीब दक्षिण इलाके में है. यहां देश का सबसे समृद्ध संस्कृति है और कई समूहों ने अपनी भाषा और परंपरा को सहेज कर रखने की ज़िद उठा रखी है.' मैक्सिको का यह इलाका धन-समृद्धि के मामले में थोड़ा पिछड़ा माना जाता है. 

यह भी पढ़ेंः ईरान: 4 घंटों में 4 बार हिली धरती, 5 की मौत; पड़ोसी देशों में भी दहशत

शादी के जोड़े में सजता है मगरमच्छ
यह आयोजन एक लिहाज से पर्यावरण, इंसानों और जानवरों के रिश्‍ते की महत्ता भी बताता है. लोगों को लगता है कि ऐसा करने से वे ईश्‍वर से अपनी मनचाही चीज पा सकते हैं. लोगों की आम इच्‍छा अच्‍छी बारिश और मछुआरों के लिए भरपूर मछली पकड़ना ही होती है. इस रस्म के तहत घड़ियाल का सबसे पहले नामकरण किया जाता है. फिर शादी की तारीख तय कर मेहमानों और नाते-रिश्तेदारों को निमंत्रित किया जाता है. यानी सभी के सामने शादी होती है. घड़ियाल को शादी का जोड़ा पहनाया जाता है. शादी से जुड़ी विभिन्न रस्मों के दौरान गीत-संगीत भी बजता रहता है. 

First Published : 02 Jul 2022, 12:35:25 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.