News Nation Logo

चौतरफा घिरे ओली का फिर उभरा राम मंदिर प्रेम, रामनवमी पर प्राण प्रतिष्ठा

चितवन में नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के कुछ नेताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि नेपाल के बीरगंज में मंदिर को लेकर काम शुरू हो गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 31 Jan 2021, 02:57:44 PM
KP Sharma Oli

सियासी संकट में घिरे नेपाली पीएम को बार-बार याद आ रही राम मंदिर की. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

चितवन:

अंदरूनी राजनीति में चौतरफा घिरे नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli) का राम मंदिर प्रेम फिर से उभर आया है. बीते दिनों काठमांडू स्थित पशुपतिनाथ मंदिर में दर्शन कर सियासी संकट की दुआ मांगने वाले पीएम ओली ने फिर से राम मंदिर (Ram Mandir) का राग छेड़ा है. चितवन में नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के कुछ नेताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि नेपाल के बीरगंज में मंदिर को लेकर काम शुरू हो गया है. बता दें कि पिछले साल जुलाई में भी ओली ने राम के जन्म स्थान को लेकर विवाद खड़ा किया था.

रामनवमी पर प्राण प्रतिष्ठा
चितवन में ओली ने कहा कि अयोध्यापुरी में राम मंदिर बनाने को लेकर एक मास्टर प्लान तैयार किया गया है. उन्होंने ये भी कहा कि राम की मूर्ति तैयार हो चुकी है, जबकि सीता की मूर्ति बनने का काम जारी है. ओली ने ये भी कहा कि इस मंदिर में लक्ष्मण और हनुमान की मूर्ति स्थापित की जाएगी. ओली के मुताबिक अगले साल रामनवमी के दिन भगवान राम की जन्मस्थली अयोध्यापुरी में एक भव्य प्राण प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन किया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः हावड़ा रैली में अमित शाह ने भरी हुंकार, बोले- टीएमसी को उखाड़ फेंकेंगे

पर्यटन स्थल बनाने का प्लान
ओली ने उम्मीद जताई कि इस राम मंदिर के बाद, चितवन क्षेत्र को एक शानदार पर्यटन स्थल के रूप में भी विकसित किया जाएगा. चितवन पूरे विश्व के हिंदुओं, पुरातत्वविदों, मानव सभ्यता और संस्कृति विशेषज्ञों के लिए आकर्षण का केंद्र बन जाएगा. बता दें कि नेपाल में संसद भंग करने के बाद देश में नए सिरे से चुनाव कराए जाने की तैयारी चल रही है. ओली की नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी भी दो फाड़ हो चुकी है. मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुका है.

यह भी पढ़ेंः शिवसेना साध रही एक तीर से दो निशाने, बीजेपी के साथ कांग्रेस पर हमला

पिछले साल दिया था विवादित बयान
बता दें पिछले साल ओली ने अपनी विवादास्पद टिप्पणी में कहा था कि भगवान राम बीरगंज के पास ठोरी में पैदा हुए थे और असली अयोध्या नेपाल में है. साथ ही उन्होंने कहा था कि भगवान राम नेपाली हैं, ना कि भारतीय. बता दें कि ओली पहले कह चुके हैं कि भारत उनको सत्ता से हटाने की साजिश रच रहा है. नेपाल के अलग-अलग राजनीतिक दलों के शीर्ष नेताओं ने ओली की इस टिप्पणी की कड़ी निंदा की और इसे 'निरर्थक तथा अनुचित' करार दिया था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 31 Jan 2021, 02:57:44 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो