News Nation Logo
Banner

काबुल एयरपोर्ट पर गोलीबारी से अफरा-तफरी, एक सैनिक की मौत 3 घायल

जर्मनी और यूएस (US) की सेनाएं आज काबुल हवाई अड्डे के उत्तरी गेट पर एक मुठभेड़ में शामिल हुईं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह मुठभेड़ तब शुरू हुई, जब अफगानी गार्ड्स और अज्ञात हमलावरों ने अचानक गोलीबारी शुरू कर दी.

News Nation Bureau | Edited By : Rajneesh Pandey | Updated on: 23 Aug 2021, 02:47:33 PM
An encounter at the north gate of Kabul airport

काबुल हवाई अड्डे के उत्तरी गेट पर हुई मुठभेड़ (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • काबुल हवाई अड्डे के उत्तरी गेट पर फिर हुई मुठभेड़
  • रविवार को भी फायरिंग की वजह से मची थी भगदड़
  • इस दौरान सात लोगों की गई थी जान

नई दिल्ली:

जर्मनी और यूएस (US) की सेनाएं आज काबुल हवाई अड्डे के उत्तरी गेट पर एक मुठभेड़ में शामिल हुईं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह मुठभेड़ तब शुरू हुई, जब अफगानी गार्ड्स और अज्ञात हमलावरों ने अचानक गोलीबारी शुरू कर दी. इस दौरान एक गार्ड मारा भी गया. यह जानकारी जर्मन सेना ने दी. मालूम हो कि रविवार को भी काबुल में फायरिंग की खबर सामने आई थी. इस दौरान फायरिंग की वजह से भगदड़ मच गई थी और सात लोगों के मारे गये थेे. कुछ दिनों पहले तालिबान ने कहा था कि उसके लड़ाके पंजशीर प्रांत की ओर बढ़ रहे हैं, जो एकमात्र तालिबान विरोधी चौकी है, जिसपर अभी तक तालिबान का कब्जा नहीं हुआ है. अफगानी मीडिया ने बताया कि उन्होंने रविवार को कहा कि लड़ाकों ने पंजशीर प्रांत के रास्ते में कोई प्रतिरोध नहीं देखा और अब वे घटनास्थल के करीब पहुंच रहे हैं. पंजशीर प्रांत काबुल के उत्तर-पश्चिम में उतरी एक पहाड़ी घाटी है जिसे शेरों की भूमि के रूप में जाना जाता है. भूगोल अब सैकड़ों अफगान राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों, विशेष बलों और मिलिशिया का घर है, जिसका नेतृत्व मारे गए अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : अफगानिस्तान में और रह सकती है अमेरिकी सेना, बाइडेन ने दिए संकेत

अहमद मसूद ने हाल ही में एक वैश्विक तार सेवा के साथ टेलीफोन पर साक्षात्कार में कहा कि वह तालिबान के साथ बातचीत करने को तैयार हैं और वार्ता को आगे बढ़ने का एकमात्र तरीका मानते हैं. तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के प्रवक्ता, नईम वरदाक ने भी रविवार को कहा कि उनकी नीति बातचीत के माध्यम से सब कुछ निपटाने की है. उन्होंने उम्मीद जताई कि पंजशीर प्रांत के लोगों और आदिवासी नेताओं के साथ उनकी मुलाकात हो सकेगी और हिंसा को रोकने में मदद मिलेगी. पूर्व प्रथम उप राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह और पूर्व कार्यवाहक रक्षा मंत्री बिस्मिल्लाह मुहम्मदी दो अन्य शख्सियत हैं, जिन्होंने तालिबान के खिलाफ अहमद मसूद का समर्थन किया और लड़ाई, प्रतिरोध का नाम दिया.

First Published : 23 Aug 2021, 02:08:19 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Encounter Kabul Airport Kabul

LiveScore Live IPL 2021 Scores & Results

वीडियो

×