News Nation Logo

कोरोना संक्रमण के बीच चीन ने रक्षा बजट को 179 अरब डॉलर तक बढ़ाया, भारत के मुकाबले तीन गुना

चीन (China) ने अपने रक्षा बजट (Defence Budget) को पिछले साल के 177.6 अरब डॉलर से बढ़ाकर 179 अरब डॉलर कर दिया है. यह भारत (India) के रक्षा बजट का करीब तीन गुना है और अमेरिका के बाद दुनिया में सबसे अधिक.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 22 May 2020, 02:24:54 PM
China Defence Budget

कोरोना संक्रमण के बीच दक्षिण एशिया में सैन्य प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • चीन ने 179 अरब डॉलर किया अपना रक्षा बजट.
  • यह भारत के रक्षा बजट का करीब तीन गुना है.
  • चीन के पास 20 लाख सैनिकों का सबसे बड़ा सैन्य बल.

बीजिंग:

चीन (China) ने अपने रक्षा बजट (Defence Budget) को पिछले साल के 177.6 अरब डॉलर से बढ़ाकर 179 अरब डॉलर कर दिया है. यह भारत (India) के रक्षा बजट का करीब तीन गुना है और अमेरिका के बाद दुनिया में सबसे अधिक. हालांकि, कोरोना वायरस (Corona Virus) के कारण अर्थव्यवस्था में आए भारी व्यवधान के चलते हाल के वर्षों में की गई ये सबसे कम बढ़ोतरी है. देश की शीर्ष विधायिका नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) में शुक्रवार को पेश किए गए एक मसौदा बजट रिपोर्ट के अनुसार 2020 में चीन के रक्षा बजट की वृद्धि दर 6.6 प्रतिशत रहेगी. चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ न्यूज ने बताया कि इस तरह लगातार पांचवे वर्ष चीन के रक्षा बजट में 10 प्रतिशत से कम बढ़ोतरी होगी.

यह भी पढ़ेंः लद्दाख और सिक्किम सीमा पर भारत-चीन में तनाव बरकरार, इस बार ड्रैगन ने कर दी गलती

दुनिया का सबसे बड़ा सैन्य दल
चीन के पास 20 लाख सैनिकों का दुनिया का सबसे बड़ा सैन्य बल है. एनपीसी को सौंपे गए मसौदा रक्षा बजट के अनुसार इस साल चीन का रक्षा बजट 1,270 अरब युआन (करीब 179 अरब डॉलर) का होगा. रिपोर्ट के मुताबिक 2019 में चीन का कुल रक्षा व्यय अमेरिका के मुकाबले एक चौथाई था, जबकि प्रति व्यक्ति रक्षा व्यय अमेरिका के 17वें हिस्से के बराबर था. एनपीसी के प्रवक्ता झांग युसुई ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान चीन के रक्षा बजट में पारदर्शिता का अभाव होने की बात से इनकार किया. रक्षा विश्लेषकों का कहना है कि बीजिंग के सैन्य और आधुनिक हथियारों का विस्तार उसकी घोषणाओं के मुकाबले बहुत अधिक है.

यह भी पढ़ेंः  Amphan Crisis: CM नवीन पटनायक ने ममता बनर्जी को दिया सहयोग का आश्वासन

छिपा हुआ सैन्य खर्च
झांग ने कहा कि चीन का कोई 'छिपा हुआ सैन्य खर्च' नहीं है. उन्होंने कहा कि चीन 2007 से हर साल संयुक्त राष्ट्र को अपने सैन्य खर्चों की रिपोर्ट देता रहा है. उन्होंने कहा, 'पैसे कहां से आते हैं, उन्हें कहां खर्च किया जाता है, सभी बातों का लेखाजोखा है.' स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसआईपीआरआई) के अनुसार 2019 में चीन का रक्षा खर्च 232 अरब अमरीकी डॉलर था. चीन के भारी रक्षा व्यय के चलते भारत और कई अन्य देशों को अपना रक्षा व्यय बढ़ाने पर मजबूर होना पड़ा है, ताकि शक्ति संतुलन कायम रखा जा सके. इंडियन इंस्टीट्यूट फॉर डिफेंस एंड एनालिसिस (आईडीएसए) के अनुसार भारत का रक्षा बजट 2020 में 66.9 अरब अमेरिकी डॉलर था. इस तरह चीन का ताजा रक्षा बजट भारत के मुकाबले 2.7 गुना अधिक है. झांग ने कहा कि चीन का रक्षा बजट उसकी जीडीपी के मुकाबले करीब 1.3 प्रतिशत है.

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 22 May 2020, 02:24:54 PM