News Nation Logo

ट्रंप समर्थकों का कैपिटल बिल्डिंग में हंगामा, कर्फ्यू के बीच महिला की मौत

यह हंगामा उस समय हुआ जब अमेरिकी कांग्रेस में इलेक्टोरल कॉलेज को लेकर बहस चल रही थी. यहां पर जो बाइडेन की चुनावी जीत की पुष्टि की जानी थी.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 07 Jan 2021, 02:45:47 PM
Capitol Building Seige

कैपिटल बिल्डिंग के बाहर ट्रंप समर्थक हुए बेकाबू. हिंसा के बाद कर्फ्यू. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

वॉशिंगटन:

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) राष्ट्रपति चुनाव में हार मानने को तैयार नहीं हैं. इस कारण बीते कई हफ्तों से जारी राजनीतिक खींचतान अब हिंसा का रूप लेने लगी है. ऐसे ही एक घटनाक्रम में जब निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) कैपिटल बिल्डिंग में एक बैठक में भाग ले रहे थे, तो बाहर हजारों की संख्या में ट्रंप समर्थकों ने इमारत को घेर लिया. सुरक्षा कारणों से भीड़ को रोकने के लिए न सिर्फ कर्फ्यू लगाना पड़ा, बल्कि हिंसक झड़प में एक महिला की गोली लगने से मौत हो गई. इस बीच फेसबुक और ट्विटर ने हिंसा को बढ़ावा देने वाले वीडियो के चलते ट्रंप के अकाउंट को लॉक कर दिया है. निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस पूरे घटनाक्रम को राजद्रोह करार दिया है. 

इलेक्टोरल कॉलेज की बहस के दौरान हंगामा
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव 2020 के नतीजों पर सियासी खींचतान जारी है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चुनाव धांधली का आरोप लगाते हुए दबाव बनाने में लगे हुए हैं. इस कड़ी में निर्वाचन नतीजों को लेकर अमेरिकी संसद की बैठक से पहले ट्रंप समर्थकों की भीड़ अमेरिकी कैपिटल बिल्डिंग के बाहर एकत्रित हो गई. यह हंगामा उस समय हुआ जब अमेरिकी कांग्रेस में इलेक्टोरल कॉलेज को लेकर बहस चल रही थी. यहां पर जो बाइडेन की चुनावी जीत की पुष्टि की जानी थी. ट्रंप के समर्थकों ने कैपिटल बिल्डिंग पर हंगामा भी किया है. समाचार एजेंसी एपी के अनुसार हंगामा के दौरान एक महिला की गोली लगने से मौत हो गई.  

यह भी पढ़ेंः 

#WATCH | Outgoing US President Donald Trump's supporters staged a demonstration at US Capitol as Congress debated certification of Joe Biden's electoral victory on Wednesday (local time). pic.twitter.com/lwgSMSOt9I

January 6, 2021

वॉशिंगटन में लगाया गया कर्फ्यू
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार निर्वाचन नतीजों पर अमेरिकी संसद की बुलाई गई बैठक से पहले ट्रंप समर्थकों की भीड़ व्हाइट हाउस और अमेरिकी कैपिटल भवन के बाहर इकट्ठा हो गई. इसी दौरान ट्रंप समर्थक कैपिटल बिल्डिंग में घुस गए और हंगामा करने लगे. इसके चलते कांग्रेस को मजबूरन अपनी कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. वॉशिंगटन डीसी महापौर ने स्थानीय समयानुसार शाम 6 बजे तक कर्फ्यू का ऐलान किया है. ट्रंप समर्थकों और पुलिस बल के बीच हिंसक झड़प हुई है जिसमें कई घायल बताए जा रहे हैं. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैसे के गोले दागने पड़े हैं. वॉशिंगटन डीसी के पुलिस प्रमुख ने कहा कि ट्रंप समर्थकों ने कैपिटल बिल्डिंग में घुसने के लिए पुलिस बल पर रासायनिक पदार्थ फेंके.

कैपिटल बिल्डिंग की गई बंद
हालांकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने समर्थकों से शांति की अपील की है. वहीं हंगामा को देखते हुए नेशनल गार्ड का रवाना किया गया है. व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी ने ट्वीट करके कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप के निर्देश पर नेशनल गार्ड और दूसरी केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान रवाना कर दिए गए हैं. हम हिंसा के खिलाफ और शांति बनाये रखने के लिए राष्ट्रपति की अपील को दोहरा रहे हैं. वहीं सुरक्षा के मद्देनजर कैपिटल बिल्डिंग को बंद कर दिया गया है.

यह भी पढ़ेंः नेताओं की जुबान बेलगाम, बाप रे बाप ऐसा बयान, पढ़ें

जो बाइडन ने हिंसा को राजद्रोह बताया
इस बीच निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि मैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का आह्वान करता हूं कि वह अपनी शपथ पूरी करें और संविधान की रक्षा करें और इस घेराबंदी को समाप्त करने की मांग करें. बाइडेन ने कहा कि मैं साफ कर दूं कि कैपिटल बिल्डिंग पर जो हंगामा हमने देखा हम वैसे नहीं हैं. ये कानून न मानने वाले अतिवादियों की छोटी संख्या है. बाइडेन ने इसे राजद्रोह करार दिया. 

ट्रंप ने की शांति बनाए रखने की अपील
इस बीच, डोनाल्ड ट्रंप ने समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने कहा कि चुनाव में हमसे चोरी की गई. यह एक लैंड स्लाइड चुनाव था और हर कोई इसे जानता है, विशेष रूप से दूसरा पक्ष. लेकिन आपको (समर्थकों को) अभी घर जाना है. हमें शांति रखनी होगी. हमारे पास कानून और व्यवस्था है. हम नहीं चाहते कि कोई आहत हो. सीएनएन के मुताबिक ट्रंप के समर्थकों ने कैपिटल बिल्डिंग के बाहर नारेबाजी की. बिल्डिंग के बाहर लगे बैरिकेड्स को तोड़ दिया. हजारों की संख्या में ट्रंप समर्थकों ने उपराष्ट्रपति माइक पेंस पर दबाव बनाने के लिए बुधवार को वॉशिंगटन का रुख किया. ट्रंप समर्थक माइक पेंस पर राष्ट्रपति के चुनाव परिणामों को पलटने के लिए दबाव बना रहे हैं. 

यह भी पढ़ेंः  'मौत की खबर' के एक दिन बाद आई मौत, बॉन्‍ड गर्ल तान्‍या रॉबर्ट्स का निधन

फेसबुक ट्विटर ने उठाया ट्रंप के खिलाफ कदम
ट्रंप ने अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए एक वीडियो भी अपलोड किया था, जिसे हिंसा को उकसाने वाला करार दे ट्विटर ने ट्रंप को अकाउंट को लॉक कर दिया. इसके बाद फेसबुक ने भी ट्रंप के एक वीडियो को हटा दिया. फेसबुक के वाइस प्रेसिडेंट ऑफ इंटीग्रिटी, गाय रोसेन ने कहा, 'हमने ट्रंप के वीडियो को हटा दिया है क्योंकि हमारा मानना है कि ट्रंप का वीडियो जारी हिंसा के जोखिम को कम करने के बजाय योगदान दे रहा था.'

First Published : 07 Jan 2021, 07:24:31 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.