News Nation Logo

किसान आंदोलन को समर्थन देने वाले कनाडाई पीएम अपने पर आई तो भाग खड़े हुए

कनाडा में कोरोना टीकाकरण अनिवार्य किए जाने और कोरोना लॉकडाउन के विरोध में कम से कम 20 हजार ट्रक प्रधानमंत्री आवास घेर कर खड़े हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 30 Jan 2022, 11:07:45 AM
Canada

50 हजार ट्रक चालक घेरे बैठे हैं पीएम आवास. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

20 हजार ट्रकों ने घेरा कनाडाई पीएम आवास

सड़कों पर ट्रकों की 70 किमी लंबी लाइन 

पीएम ट्रूडो परिवार समेत किसी गु्प्त स्थान को भागे

ओटावा:  

भारत में तीन कृषि कानूनों के खिलाफ शुरू हुए किसान आंदोलन को कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने न सिर्फ  समर्थन दिया था, बल्कि शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन को मानवाधिकार का मसला करार दे देश के आंतरिक मामले में हस्तक्षेप भी किया था. यह अलग बात है कि बात जब उन पर आई, तो वह परिवार समेत भाग खड़े हुए. जी हां, कनाडा में कोरोना टीकाकरण अनिवार्य किए जाने और कोरोना लॉकडाउन के विरोध में कम से कम 20 हजार ट्रक प्रधानमंत्री आवास घेर कर खड़े हैं. लगभग 50 हजार ट्रक चालकों का गुस्सा चरम पर है. यह देख कोरोना संक्रमित पीएम ट्रूडो परिवार समेत किसी गुप्त स्थान को चले गए हैं. यानी अपने यहां शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन देख उन्हें भागने को मजबूर होना पड़ा है.

ट्रक चालकों ने निकाला फ्रीडम कान्वॉइ
किसान आंदोलन को मानवाधिकार मसला बताने वाले कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो ने ट्रक चालकों को 'महत्व नहीं रखने वाले अल्पसंख्यक' तक करार दे दिया है. ऐसे में कोरोना वैक्सीन अनिवार्य करने और कोविड लॉकडाउन का विरोध कर रहे ट्रक चालक बुरी तरह से भड़के हुए हैं. अपना विरोध जताने के लिए शनिवार को ओटावा से ट्रकों का 'फ्रीडम कान्वॉइ' कनाडा की राजधानी को घेरने निकला था, जिसने अब पीएम आवास को बंधक बना लिया है. ये सभी च्रक चालक अमेरिका की सीमा को पार करने के लिए वैक्‍सीन अनिवार्य करने का विरोध कर रहे हैं. आलम यह है कि राजधानी ओटावा जाने वाले रास्‍ते पर 70 किमी तक बस ट्रक ही ट्रक दिख रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः गांधी जी की पुण्यतिथि पर PM मोदी करेंगे मन की बात, पहली बार ये बदलाव

तेज हॉर्न बजा विरोध कर रहे 50 हजार ट्रक चालक
इन कोरोना लॉकडाउन विरोधी ट्रक चालकों को टेस्ला के सर्वेसर्वा एलन मस्क का भी समर्थन मिल गया है. एलन मस्क ने एक ट्वीट कर इन्हें कनाडाई ट्रक चालकों का शासन करार दिया है. कानाड के इस विरोध प्रदर्शन की गूंज अमेरिका तक पहुंच गई है. इन ट्रक चालकों को हजारों ऐसे लोगों का भी सहयोग मिल रहा है, जि अलग-अलग कारणों से कोरोना प्रतिबंधों से कुपित हैं. रही सही कसर ट्रूडो के भड़काऊ बयान ने पूरी कर दी है. ट्रक चालक सड़कों पर लगातार हॉर्न बजा कर ट्रूडो के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं औऱ ट्रूडो इनका सामना करने के बजाय किसी सुरक्षित स्थान की ओर भाग खड़े हुए हैं.

First Published : 30 Jan 2022, 11:04:48 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.