News Nation Logo

ब्रिटेन ने कोविड वैक्सीन 'कोविशील्ड' को दी मान्यता, नई ट्रैवल एडवायजरी जारी

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (MEA S Jaishankar) ने ब्रिटेन के सामने कोविशील्ड (Covishield) को मान्यता देने का मुद्दा उठाया था.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 22 Sep 2021, 02:46:41 PM
Covishield

Covishield (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • विदेश मंत्री ने कहा था कि कोविशील्ड की मान्यता नहीं देना एक भेदभाव पूर्ण रवैया 
  • चार अक्तूबर 2021 से ब्रिटेन की ताजा ट्रैवल गाइडलाइन लागू हो जाएगी

नई दिल्ली:

भारत (India) के द्वारा दबाव बनाने के बाद ब्रिटेन (Britain) ने भारत में बनी कोविड-19 वैक्‍सीन कोविशील्‍ड (Covidshield) को मान्‍यता दे दी है. बता दें कि भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (MEA S Jaishankar) ने ब्रिटेन के सामने कोविशील्ड (Covishield) को मान्यता देने का मुद्दा उठाया था. उस दौरान विदेश मंत्री ने कहा था कि कोविशील्ड को मान्यता नहीं देना एक भेदभाव पूर्ण रवैया है. ब्रिटेन ने इसके बाद मामले को जल्द से जल्द सुलझाने का आश्वासन दिया था. हालांकि ब्रिटेन की ओर से मान्यता मिलने के बाद भी भारत को फिलहाल जल्द राहत मिलने की संभावना नहीं है.  

यह भी पढ़ें: UN में ईरान अमेरिका पर बरसा, अमेरिका का 'शासन प्रणाली' बुरी तरह हुआ फेल

चार अक्तूबर 2021 से लागू हो जाएगी नई ट्रैवल गाइडलाइन
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चार अक्तूबर 2021 से ब्रिटेन की ताजा ट्रैवल गाइडलाइन लागू हो जाएगी. नई  ट्रैवल गाइडलाइन में कोविशील्ड के नाम को जोड़ दिया गया है. नई ट्रैवल गाइडलाइंस में चार लिस्टेड और वैक्सीनों के फॉर्मूलेशन एस्ट्राजेनिका कोविशील्ड, एस्ट्राजेनिका वैक्सजेवरिया, मॉडर्ना टाकेडा को वैक्सीन के रूप में मंजूरी दे दी गई है. इसके अलावा ब्रिटेन, यूरोप, अमेरिका के वैक्सीन प्रोग्राम के तहत जिस वैक्सीन को मान्यता मिली है उस वैक्सीन को लगवाए व्यक्ति को ही 'फुली वैक्सीनेटिड' माना जाएगा. 

यह भी पढ़ें: यूएन महासभा में दुनिया के नेताओं का संबोधन, जानिए अब तक किसने क्या कहा  

ब्रिटेन की ओर से फाइजर बायोएनटेक, मॉडर्ना, ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनिका और जॉनसन की वैक्सीन को मान्यता दी गई है. बता दें कि ब्रिटेन की यात्रा को लेकर लाल, एम्बर और हरे रंग की तीन सूचियां हैं. अलग-अलग देशों को खतरे के हिसाब से सूची में डाला गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सभी सूचियों को 4 अक्टूबर से मिला दिया जाएगा और सिर्फ लाल सूची ही बाकी रहेगी. ब्रिटेन की यात्रा के लिए लाल सूची में शामिल यात्रियों को पाबंदियों का सामना करना पड़ सकता है. जहां तक भारत की बात है तो यह अभी एम्बर सूची में है और अगर एम्बर सूची खत्म हो जाती है तो सिर्फ कुछ ही यात्रियों को पीसीआर टेस्ट से छूट मिल सकेगी.

First Published : 22 Sep 2021, 02:25:20 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो