News Nation Logo
उत्तर प्रदेश : आज तीन बड़े मामले ज्ञानवापी, श्रीकृष्ण जन्मभूमि मथुरा और ताजमहल पर सुनवाई प्रधानमंत्री आवास पर कैबिनेट और CCEA की बैठक, कुछ MoU समेत अहम मुद्दों पर हो सकता है फैसला कपिल सिब्बल सपा कार्यालय में अखिलेश यादव के साथ मौजूद, बनेंगे राज्यसभा उम्मीदवार राज्यसभा के लिए कपिल सिब्बल, डिंपल यादव और जावेद अली होंगे समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार- सूत्र पंजाब : ग्रुप सी और डी के पदों के लिए पंजाबी योग्यता टेस्ट कंपलसरी, भगवंत मान सरकार का फैसला मथुरा : जिला अदालत में श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले में 31 मई को होगी अगली सुनवाई मुंबई : मोटरसाइकिल पर दोनों सवारों को हेलमेट पहनना अनिवार्य होगा, 15 दिनों में नियम पर अमल यासीन मलिक की सजा पर बहस पूरी- ऑर्डर रिजर्व, दोपहर बाद विशेष NIA कोर्ट सुनाएगी सजा ज्ञानवापी हिंदुओं को सौंपने-पूजा की मांग वाला नया मामला सिविल जज फास्ट ट्रैक कोर्ट में स्थानांतरित अयोध्या : 1 जून को श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह का शिला पूजन होगा, सीएम योगी होंगे शामिल उत्तराखंड : मौसम सामान्य होने के बाद आज दोबारा सुचारू रूप से शुरू हुई चारधाम यात्रा औरंगजेब की कब्र के बाद अब सतारा में मौजूद अफजल खान के कब्र पर बढ़ाई गई सुरक्षा
Banner

रूस को अमेरिका की धमकी से फिर गर्माया यूक्रेन मसला

ब्लिंकन ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि रूसी सेना यूक्रेन की सीमा में प्रवेश करती है और हमलावर रुख अपनाती है तो अमेरिका और हमारे मित्र देशों की ओर से उसका त्वरित और उचित जवाब दिया जाएगा.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 21 Jan 2022, 08:12:51 AM
Blinken

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने फिर साधा रूस पर निशाना. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने दी रूस को चेतावनी
  • यूक्रेन पर हमला करने पर दी गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी
  • शीत युद्ध की समाप्ति के बाद यूरोप नए संकट में फंसा

बर्लिन:  

शीत युद्ध की समाप्ति के बाद अमेरिका और रूस यूक्रेन को लेकर युद्ध की कगार तक आ पहुंचे हैं. अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने तो रूस को दो टूक चेतावनी देते हुए कहा कि अगर रूस यूक्रेन में कोई सैन्य बल भेजता है तो अमेरिका और उसके सहयोगियों की ओर से त्वरित और गंभीर कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही अमेरिका के वित्त मंत्रालय ने यूक्रेन के चार अधिकारियों पर नए प्रतिबंध लगा दिए हैं. इन पर आरोप है कि वे यूक्रेन पर हमला करने में रूस की मदद कर रहे हैं. इसके जवाब में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी अमेरिका और उसके सहयोगी नाटो देशों को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दे चुके हैं. 

रूस यूक्रेन में सैन्य कार्रवाई की नहीं सोचे
अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने जर्मनी के अपने समकक्ष के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में रुस को कड़े शब्दों में चेतावनी दी. ब्लिंकन ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि रूसी सेना यूक्रेन की सीमा में प्रवेश करती है और हमलावर रुख अपनाती है तो अमेरिका और हमारे मित्र देशों की ओर से उसका त्वरित और उचित जवाब दिया जाएगा. ब्लिंकन ने रूस पर यह आरोप भी लगाया कि उसने यूक्रेन की सीमा के पास एक लाख सैन्यकर्मियों को जमा करके विश्व व्यवस्था की नींव हिलाने का काम किया है. उन्होंने कहा कि रूस यदि यूक्रेन पर हमला करता है तो उसे गंभीर जवाब का सामना करना होगा. इससे पहले बाइडन ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को आगाह किया था कि अगर हमला हुआ तो रूस को वैश्विक बैंकिंग प्रणाली से प्रतिबंध झेलना पड़ेगा.

यह भी पढ़ेंः 5 साल तक के बच्चों को एंटीवायरल-मास्क से छूट, केंद्र की नई गाइडलाइन

हर गुजरते दिन के साथ गर्मा रहा यूक्रेन विवाद
बर्लिन में ब्लिंकन की यह टिप्पणी अमेरिका और उसके नाटो सहयोगियों के समक्ष किसी भी भ्रम को दूर करने के एक और प्रयास के रूप में देखा जा रहा है. दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के उस बयान की काफी आलोचना हुई जिसमें उन्होंने रूस द्वारा मामूली घुसपैठ के लिए उसके खिलाफ हल्की कार्रवाई की बात कही थी. जहां एक ओर जर्मनी के बर्लिन में विदेश मंत्री ने रुस को कड़े शब्दों में चेतावनी दी वहीं अमेरिका के वित्त मंत्रालय ने यूक्रेन के चार अधिकारियों पर नए प्रतिबंध लगा दिए गए हैं. अधिकारियों पर आरोप है कि वे यूक्रेन पर हमला करने में रूस की मदद कर रहे हैं. इनमें से दो अधिकारी- तारास कोजक और ओलेह वोलोशिन संसद के वर्तमान सदस्य हैं और दो अन्य पूर्व सरकारी अधिकारी हैं.

First Published : 21 Jan 2022, 08:12:51 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.