News Nation Logo

Viral: दलदल में फंस गई थी हथिनी, वन विभाग के कर्मचारियों ने ऐसे बचाया

वायरल वीडियो कर्नाटक के बांदीपुर टाइगर रिजर्व के मोलेयूर रेंज का है. यहां एक हथिनी पोखर में पानी पीने के दौरान उसी में फंस गई. भारी भरकम वजन के कारण वो उस दलदल से निकल नहीं पा रही थी. वन विभाग के अधिकारियों ने समय रहते उसे बचा लिया.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 16 May 2021, 09:19:36 PM
elephant stuck in mud

elephant stuck in mud (Photo Credit: फोटो- Social Media)

highlights

  • वन विभाग ने जारी किया वीडियो
  • सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा वीडियो

नई दिल्ली:

हाथी (Elephant) इस धरती का सबसे विशालकाय जीव है. इस शानदार जीव में इतनी ताकत होती है कि बड़े से बड़े पेड़ों को पलभर में जड़ से उखाड़ कर फेंक सकता है. हालांकि कभी-कभी उसका वजन ही उसके लिए मुसीबत खड़ी कर देता है. ऐसी ही एक घटना कर्नाटक (Karnataka) में हुई, जहां हथिनी (Female Elephant) के वजन ने ही उसके लिए मुसीबत खड़ी कर दी थी. हथिनी पर संकट इतना बड़ा आया था कि शायद उसकी जान भी जा सकती थी, लेकिन वन विभाग की टीम ने समय पर पहुंचकर उसकी जान बचा ली. अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. 

ये भी पढ़ें- Viral: स्मोकिंग के दौरान यूज किया सैनिटाइजर, धूं-धूं कर जली कार

वायरल वीडियो कर्नाटक के बांदीपुर टाइगर रिजर्व के मोलेयूर रेंज का है. यहां एक हथिनी पोखर में पानी पीने के दौरान उसी में फंस गई. भारी भरकम वजन के कारण वो उस दलदल से निकल नहीं पा रही थी. तभी वन विभाग के अधिकारियों की उस पर नजर पड़ी और उन्होंने समय रहते उसे बचा लिया. वन विभाग के अधिकारियों ने जेसीबी की सहायता से हथिनी को उस दलदल से बाहर निकाला. वन विभाग ने इस पूरी घटना का वीडियो भी जारी किया है. जोकि सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी के साथ वायरल हो रहा है. 

इस वीडियो को एएनआई न्यूज एजेंसी ने भी ट्विटर पर शेयर किया है. जहां इसे 10 हजार से ज्यादा लोग देख चुके है. और सैकड़ों की संख्या में लोग इस पर कमेंट कर रहे हैं. हालांकि कुछ लोगों को जेसीबी का इस्तेमाल करना अच्छा नहीं लगा. एक यूजर @RUP_Says ने लिखा कि 'वे जेसीबी मशीन का उपयोग क्यों कर रहे हैं? क्या गलत है. जेसीबी के नुकीले दांतों से हाथिनी को चोट लग सकती है.'

ये भी पढ़ें- यूपी: बार-बालाओं का डांस देखने के लिए उमड़ी भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां

वहीं एक अन्य यूजर @Srivastwa_M ने लिखा कि 'लेकिन गर्भवती हथिनी को बचाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली प्रक्रिया और उपकरण संभावित रूप से अनुचित और असंवेदनशील थे. लेकिन प्रयास सफल रहा.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 16 May 2021, 09:19:36 PM

For all the Latest Viral News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.