News Nation Logo

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर, 22 लाशों से भरी एंबुलेंस की फोटो वायरल

ये तस्वीर बीड जिले के अंबाजोगाई में स्वामी रामानंद तीर्थ अस्पताल की है. यहां कोरोना से मरने वाले 22 मरीजों के शव रविवार को एक ही एम्बुलेंस में लादकर कब्रिस्तान ले जाया गया था.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 27 Apr 2021, 01:39:55 PM
कोरोना से मरने वालों के शव

कोरोना से मरने वालों के शव (Photo Credit: फोटो- @iFearlessSingh Twitter)

highlights

  • एक एंबुलेंस में 22 शवों को ठूंस-ठूंस कर भरा
  • सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीर
  • लोग बोले- मुर्दों को भी नहीं छोड़ा

नई दिल्ली:  

महाराष्ट्र में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है. हर रोज रिकॉर्ड नए मामले सामने आ रहे हैं. इतनी बड़ी संख्या में नए संक्रमितों के सामने आने से अस्पतालों में बेड्स, दवाएं और ऑक्सीजन की भारी कमी हो चुकी है. हर ओर चीख-पुकार मची हुई है. दवाओं के अभाव में मरीज तड़प-तड़प कर मर रहे हैं. सोशल मीडिया पर महाराष्ट्र प्रशासन की पोल खोलती कई तस्वीरें वायरल हो रही हैं. इनमें से एक तस्वीर देखकर आपका दिल कांप जाएगा. आंखों से आंसू निकल पड़ेंगे. दिल दहला देने वाली ये तस्वीर महाराष्ट्र के बीड से सामने आई है. इस तस्वीर में महाराष्ट्र में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की कितनी कमी है ये साफ नजर आ रहा है. 

ये भी पढ़ें- Watch: रामपुर के अस्पताल में मचा बवाल, डॉक्टर और नर्स ने एक-दूसरे को जड़े थप्पड़

एक एंबुलेंस के अंदर 22 लाशें रखी गईं

तस्वीर में दिख रहा है कि एक एंबुलेंस के अंदर 22 लाशों को ठूंस-ठूंस कर रखा गया है. जानकारी के मुताबिक ये तस्वीर बीड जिले के अंबाजोगाई में स्वामी रामानंद तीर्थ अस्पताल की है. यहां कोरोना से मरने वाले 22 मरीजों के शव रविवार को एक ही एम्बुलेंस में लादकर कब्रिस्तान ले जाया गया था. अस्पताल की दलील है कि उसके पास एंबुलेंस नहीं है. मेडिकल कॉलेज के डीन डॉक्टर शिवाजी शुक्रे ने बताया कि 'अस्पताल प्रशासन के पास मुनासिब एंबुलेंस नहीं हैं, जिसकी वजह से ऐसा हुआ. 

अस्पताल का जवाब- एंबुलेंस कम थीं

उन्होंने कहा कि उनके पास पिछले साल कोरोना के पहले दौर में पांच एंबुलेंस थीं. उनमें से तीन को बाद में वापस ले लिया गया और अब अस्पताल में दो एंबुलेंस में कोरोना मरीजों को लाया और ले जाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि 'कभी-कभी, मृतकों के संबंधियों को ढूंढने में समय लग जाता है. लोखंडी सवारगांव के कोविड-19 केन्द्र से भी लाशों को हमारे अस्पताल में भेजा रहा है क्योंकि उनके पास कोल्ड स्टोरेज नहीं है.' उन्होंने बताया कि उन्होंने 3 और एंबुलेंस मुहैया कराने के लिये 17 मार्च को जिला प्रशासन को पत्र लिखा था.

ये भी पढ़ें- Viral: 23 साल की उम्र में बनी 11 बच्चों की मां, चाहिए 105 बच्चे

दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई

इस तस्वीर के सामने आने के बाद अधिकारियों का कहना है कि 22 में से 14 मरीजों की मौत शनिवार को हो गई थी जबकि बाकी की मौत रविवार को. 9 की मौत लोखंडी सवरगांव जंबो कोविड सेंटर में हो गई थी. बीड जिला कलेक्टर रविंद्र जगताप ने कहा कि 'मैंने अंबाजोगई अडिशनल कलेक्टर को जांच के आदेश दिए हैं. हम दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे.'

First Published : 27 Apr 2021, 01:39:55 PM

For all the Latest Viral News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.