News Nation Logo
Banner

13 साल की अनुष्का ने खुद की जान देकर बचाए तीन बच्चे..हैरत में पड़ गए लोग

घटना मनिया थाना क्षेत्र के खूबीपुरा गांव की है. जहां 23 अगस्त को फुलरिया विसर्जन का त्यौहार मनाया जा रहा था.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 25 Aug 2021, 05:08:44 PM
dholpur river rescue

अनुष्का का फाइल फोटो (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • नदी में डूब रहे तीन बच्चों को बचाने के बाद चौथे को बचाने की कर रही थी कोशिश
  • चौथे को बचाने के चक्कर में गवां बैठी अपनी जान
  •  फुलरिया विसर्जन के दौरान हुआ हादसा 

New delhi:

कहतें है कई बार अच्छा करने के चक्कर में बहुत बुरा हो जाता है. ऐसी ही एक घटना राजस्थान के धौलपुर जनपद से सामने आ रही है. जिसमें फुलरिया विसर्जन के दौरान एक 13 साल की लड़की अनुष्का ने अपनी जान की बाजी लगाकर तीन बच्चों की जान बचाई. साथ ही जब वो चौथे बच्चे की जान बचाने के नदी में कूदी तो वापस नहीं आ पाई. अनुष्का की वीरता की कहानी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है. जिसे सुनकर आपकी आंखें भी नम हो जाएंगी. ग्राम प्रधान ने ग्रामीणों की मदद से  रेस्क्यू कराकर अनुष्का व अन्य एक बच्ची के शव को बाहर निकाला है. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भिजवा दिया है.

ये भी पढें :जब रात के अंधेरे में हाइवे पर घूमने आ गए बाघ, फिर जो हुआ

 

घटना मनिया थाना क्षेत्र के खूबीपुरा गांव की है. जहां 23 अगस्त को फुलरिया विसर्जन का त्यौहार मनाया जा रहा था. त्यौहार के मद्देनजर ही गांव के कुछ बच्चे पारवती नदी पर गए थे. बच्चों में सबसे ज्यादा उम्र अनुष्का की ही थी. विसर्जन के दौरान नदी के तेज बहाव के चलते तीन बच्चे बहने लगे. बच्चों को बहते देख 13 साल की अनुष्का ने नदी में छलांग लगाकर तीनों को बचा लिया. इसी बीच उसकी छोटी बहन छवि भी पानी के बहाव के चलते बहने लगी. जैसे ही अनुष्का ने उसे बचाने के लिए पानी में छलांग लगाई तो पानी का इतना तेज बहाव था. जो अनुष्का और छवि दोनों को बहा ले गया. बामुश्किल ग्राम प्रधान ने ग्रामीणों की मदद से रेस्क्यू किया और बच्चियों के शवों को बाहर निकाला.

घर में मचा कोहराम 
गांव में एक साथ ही दो बच्चियों की मौत के बाद घर में कोहराम मच गया. पूरे गांव में बच्चियों के डूबने की ही चर्चा थी. दरअसल राजस्थान में रक्षाबंधन के बाद फुलरिया विसर्जन का त्यौहार मनाया जाता है. जिसमें बच्चे गेंहू से फुलरिया उगाते हैं. इसके बाद उसे नदी में विसर्जन करते हैं. साथ ही बहने अपने भाइयों को उपजी हुई फुलरियों को देती हैं. सोशल मीडिया पर 13 साल की अनुष्का की बाहदुरी की कहानी पर लोग काफी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. साथ ही बच्ची को बचाने के लिए अपनी जान गंवाने पर दुख बयां कर रहे हैं 

First Published : 25 Aug 2021, 05:08:44 PM

For all the Latest Viral News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.