News Nation Logo

कर्नाटक से 100 टन टमाटर बिहार क्यों पहुंचा रहा है भारतीय रेलवे, जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर

Indian Railway-IRCTC: एसडब्ल्यूआर के बेंगलुरु डिवीजन मैनेजर अशोक कुमार वर्मा ने बताया कि कोलार स्टेशन से 10 रैक में लगभग 100 टन टमाटर 1 टन क्षमता के 10 बंद वैगनों में भरकर भेजा जाएगा.

IANS | Updated on: 07 Dec 2020, 09:46:24 AM
Indian Railway-IRCTC

Indian Railway-IRCTC (Photo Credit: newsnation)

बेंगलुरु :

Indian Railway-IRCTC: कोविड के समय में माल ढुलाई से अधिकतम कमाई के प्रयास के तहत दक्षिण-पश्चिम रेलवे (एसडब्ल्यूआर) जल्द ही कर्नाटक के कोलार से बिहार के पटना के पास दानापुर तक 100 टन टमाटर पहुंचाएगा. एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. एसडब्ल्यूआर के बेंगलुरु डिवीजन मैनेजर अशोक कुमार वर्मा ने बताया कि कोलार स्टेशन से 10 रैक में लगभग 100 टन टमाटर 1 टन क्षमता के 10 बंद वैगनों में भरकर भेजा जाएगा.

यह भी पढ़ें: 14 दिसंबर से होने वाला है ये बड़ा बदलाव, बदल जाएगा पैसों से जुड़ा नियम

रेलवे को अतिरिक्त राजस्व के रूप में प्रति रैक 5.76 लाख रुपये कमाने का अनुमान
चूंकि कोलार जिला टमाटर का एक प्रमुख उत्पादक है, जोनल डिवीजन किसानों और उनकी एपीएमसी (कृषि उत्पादकों की विपणन समिति) के साथ काम कर रहा है, ताकि वेगनों में लोडिंग के लिए स्टेशन पर सब्जी पहुंचाई जा सके. जोनल रेलवे ने अतिरिक्त राजस्व के रूप में प्रति रैक 5.76 लाख रुपये कमाने का अनुमान लगाया है.

यह भी पढ़ें: नेटफ्लिक्स पर Free में देखें फिल्में और वेब सीरीज, करना होगा ये काम

जोनल रेलवे राज्य भर में बेंगलुरु, मैसूरु, हुबली या बेलागवी से फलों और सब्जियों जैसे हानिकारक सामानों के परिवहन के लिए कोविड देखभाल केंद्रों में परिवर्तित किए गए कोचों को परिमार्जित करने की भी योजना बना रहा है. लगभग 320 द्वितीय श्रेणी के कोच कोविड के देखभाल केंद्रों में बदल दिए गए थे और दक्षिणी राज्यों में प्रमुख जंक्शनों पर प्लेटफॉर्म पर तैनात थे, ताकि रोगियों का परीक्षण किया जा सके.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 07 Dec 2020, 09:44:08 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.