News Nation Logo
अनन्या पांडे से सोमवार को फिर पूछताछ करेगी NCB अभिनेत्री अनन्या पांडे एनसीबी कार्यालय से रवाना हुईं, करीब 4 घंटे चली पूछताछ DRDO ने ओडिशा के चांदीपुर रेंज से हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (HEAT) का सफल परीक्षण किया कल जम्मू-कश्मीर जाएंगे गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक 27 अक्टूबर को, छठ पूजा उत्सव के लिए ली जाएगी अनुमति 1971 के भारत-पाक युद्ध ने दक्षिण एशियाई उपमहाद्वीप के भूगोल को बदल दिया: सीडीएस जनरल बिपिन रावत माता वैष्णों देवी मंदिर में तीर्थयात्रियों के बीच कोरोना का प्रसार रोकने के लिए नए दिशा-निर्देश जारी दिल्ली जा रही फ्लाइट में एक आदमी की अचानक तबीयत ख़राब होने पर फ्लाइट की इंदौर में इमरजेंसी लैंडिंग 1971 का युद्ध, इसमें भारतीयों की जीत और युद्ध का आधार बेहद खास है: राजनाथ सिंह केंद्र सरकार की टीम उत्तराखंड में आपदा से हुई क्षति का आकलन कर रही है: पुष्कर सिंह धामी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज बेंगलुरु में वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान का दौरा किया शिवराज सिंह चौहान ने शोपियां मुठभेड़ में शहीद जवान कर्णवीर सिंह को सतना में श्रद्धांजलि दी मुंबई के लालबाग इलाके में 60 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: कल शाम छह बजे सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस सीईसी की बैठक

EPF अकाउंट में गलत हो गया है नाम, पिता का नाम या जन्मतिथि, तो ऐसे कराएं ठीक

EPFO की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक कर्मचारी ऑफलाइन या ऑनलाइन मोड के जरिए नाम, पिता का नाम, पीएफ अकाउंट नंबर, जन्‍मतिथि, कंपनी ज्वाइन करने की तारीख और कंपनी छोड़ने की तारीख को सही करा सकता है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 14 Aug 2020, 01:43:24 PM
EPFO

EPFO (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

Employees Provident Fund Organisationअगर आपके EPF अकाउंट में आपका नाम, पिता का नाम, पीएफ अकाउंट नंबर, जन्‍मतिथि, कंपनी ज्वाइन करने की तारीख और कंपनी छोड़ने की तारीख में कुछ गड़बड़ी हो गई है तो घबराने की जरूरत नहीं है. EPFO की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक ऑफलाइन मोड में​ ईपीएफ अकाउंट में नाम आदि में संशोधन के लिए अकाउंट होल्‍डर होने की वजह से आपको अपनी और कंपनी की ओर से एक जॉइंट डिक्‍लेरेशन फॉर्म की जरूरत होती है. इसके अलावा आपको कुछ जरूरी दस्तावेज भी साथ में जमा करना होता है.

यह भी पढ़ें: सरकारी, निजी कंपनियों के कर्मचारियों को भी मिल सकेगी कोरोना कवच हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी, IRDAI ने दी मंजूरी

रीजनल ईपीएफओ कमिश्‍नर के पास भेजना होता है फॉर्म
पूरी तरह से भरे हुए फॉर्म को रीजनल ईपीएफओ कमिश्‍नर के पास भेजना होता है. इस फॉर्म के जरिए कर्मचारी अपना नाम, पिता या पति का नाम, पीएफ या ईपीएस अकाउंट नंबर, जन्‍मतिथि, कंपनी ज्वाइन करने की तारीख और कंपनी छोड़ने की तारीख को सही करा सकता है. बता दें कि ये सभी कॉलम फॉर्म में रहते हैं. हालांकि कर्मचारी को जिस चीज को सही कराना है उसे ही भरना चाहिए. फॉर्म पर कर्मचारी और कंपनी की ओर से संबंधित अधिकारी के हस्ताक्षर और कंपनी की सील लगने के बाद कर्मचारी इस फॉर्म को संबंधित EPFO अधिकारी को भेज सकता है.

यह भी पढ़ें: मई के दौरान EPFO के अंशधारकों की संख्या में हुई रिकॉर्ड बढ़ोतरी, पढ़ें पूरी खबर

ऑनलाइन मोड के जरिए भी कराया जा सकता है संशोधन
कर्मचारी ऑनलाइन मोड के जरिए भी संशोधन करा सकते हैं. कर्मचारी यूएएन मेंबर पोर्टल के जरिए स्वंय ई-केवाईसी कर सकता है. हालांकि इसे कंपनी द्वारा मंजूरी मिलना जरूरी है. दरअसल, EPF के आंकड़ों में सुधार की प्रक्रिया के तहत UAN पोर्टल के जरिये कर्मचारी के नाम, जन्म दिन या किसी और आंकड़ें में बदलाव कर नियोक्ता के पास भेज देगा. सिस्टम नए बदलाव पर गौर करेगा और उसे आधार (Aadhar) से मिलान करेगा. वैरिफिकेशन पूरा हो जाने के बाद यह आवेदन कंपनी को ट्रांसफर कर दिया जाएगा. इस प्रक्रिया के बाद कंपनी इस आवेदन को EPFO के पास भेज देगा और EPFO इस आवेदन के मुताबिक आवश्यक सुधार कर देगा.

First Published : 22 Jul 2020, 09:00:59 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो