News Nation Logo

अब गन्ना किसानों की आय होगी दोगुनी, सरकार ने बढ़ाया गन्ने का न्यूनतम मूल्य

New Sugarcane FRP: भारत में गन्नें की फसल को अहम माना जाता है. कई राज्यों की राजनीति तो गन्ने को लेकर ही करवट लेती रहती है. इसी का ध्यान रखते हुए सरकार ने गन्ने का न्यूनतम मूल्य (Lowest Price)बढ़ाकर 305 रुपए प्रति क्ंविटल कर दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 04 Aug 2022, 01:14:26 PM
sugarcane

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • केन्द्रीय कैबिनेट की बैठक में बढ़ाया गया गन्ने का न्यूनतम रेट 
  • 290 से बढ़ाकर किया गया 305 रुपए प्रति क्विंटल
  • इससे कम पर गन्ना नहीं खरीद सकते मिल मालिक 

नई दिल्ली :  

New Sugarcane FRP: भारत में गन्नें की फसल को अहम माना जाता है. कई राज्यों की राजनीति तो गन्ने को लेकर ही करवट लेती रहती है.  इसी का ध्यान रखते हुए सरकार ने गन्ने का न्यूनतम मूल्य (Lowest Price)बढ़ाकर 305 रुपए प्रति क्ंविटल कर दिया है. सरकार का मानना है कि इससे किसानों की आय को दोगुना करने में मदद मिलेगी.  आपको बता दें कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली कैबिनेट बैठक (cabinet meeting) में गन्ने की  एफआरपी (Sugarcane FRP) बढ़ाने का निर्णय लिया गया है. आपको बता दें कि एफआरपी यानि 305 रुपए प्रति क्विंटल से कम पर देश में गन्ना नहीं खरीदा जाएगा. या यूं कहें कि गन्ने का यह एक तरह गारंटी मूल्य होगा. (CCEA)बैठक में गन्ने का न्यूनतम मूल्य घोषित कर 290 से 305 कर दिया गया है.

यह भी पढ़ें : E-Shram: अब छोटे दुकानदारों की आई मौज, हर माह 3,000 रुपए की मिलेगी पेंशन

आपको बता दें कि कैबिनेट मीटिंग में जो गन्ने का न्यूनतम लाभकारी मूल्य रखा गया है उसे 15 रुपए प्रति क्ंविटल बढ़ाया गया है. खासकर FRP वह मूल्य होता है जिससे कम पर फिर कोई भी प्रोडेक्ट नहीं खरीदा जा सकता. जानकारी के मुताबिक ये न्यूनतम मूल्य सत्र 2022-23 (अक्‍तूबर-सितंबर) के लिए लागू होगा. आपको बता दें कि सन 2022-23 में गन्ना 305 मूल्य से कम दाम पर नहीं खरीदा जाएगा.  मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक  FRP में बढ़ोतरी के साथ गन्‍ना किसानों की आमदनी बढ़कर लगभग दोगुनी हो जाएगी.  बताया जा रहा है कि गन्ने का अनुमानित का उत्पादन मूल्य 162 रुपए खर्चा आने का अनुमान है. अभी तक गन्ने का एफआरपी मूल्य 290 रुपए प्रति क्विंटल है. जिसे बढाया गया है.

5 करोड़ किसान होंगे लाभांवित 
जानकारी के मुताबिक मोदी सरकार के कार्यकाल को लगभग 8 साल हो चुके हैं. इन 8 सालों में गन्ने का गारंटी मूल्य लगभग 35 प्रतिशत बढ़ाया गया.  साथ ही सरकार का दावा है कि पूर्व की सरकारों की अपेक्षा बीजेपी शासनकाल में किसानों को भुगतान भी जल्दी कराया गया है. हाल ही में कुछ प्रदेशों में गन्ने का पैमेंट 10 दिनों में करने की गारंटी दी गई है.  प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली समिति ने जो गन्ने का गारंटी मूल्य बढ़ाकर 305 रुपए प्रति क्ंविटल किया है. इससे लगभग 5 करोड़ किसानों के सीधे लाभांवित होने की संभावना है.

First Published : 04 Aug 2022, 01:14:26 PM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.