News Nation Logo

Indian Railway: कोहरे की वजह से 17 ट्रेनें प्रभावित, देखें Trains List

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 25 Jan 2023, 10:37:22 AM
train

कोहरे की वजह से 17 ट्रेनें प्रभावित (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्ली:  

Indian Railway : उत्तर भारत में सर्दी (Cold Wave) तो थोड़ी कम है, लेकिन घने कोहरे (Heavy Fog) की चादरें छाई हुई हैं. घने कोहरे की वजह से रेल और सड़क यातायात प्रभावित है. हालांकि, आईएमडी (IMD) ने दो से तीन के अंदर भारी बारिश और बर्फबारी की भविष्यवाणी की है. इसके बाद फिर एक बार ठंड बढ़ जाएगी. इस बीच भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने घने कोहरे की वजह से देरी से चलने वाली ट्रेनों की एक लिस्ट जारी की है. 

यह भी पढ़ें : JNU में BBC की बैन डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग पर चले पत्थर, इंटरनेट-बत्ती गुल

इंडियन रेलवे (Indian Railway) द्वारा जारी लेट ट्रेनों की लिस्ट (Late Trains List ) के अनुसार, मैसूर-एमजीआर चेन्नई सेंट्रल सुपरफास्ट एक्सप्रेस, विशाखापत्तनम-नई दिल्ली आंध्र प्रदेश एक्सप्रेस और रानी कमलापति-हजरत निजामुद्दीन शान ई भोपाल एक्सप्रेस एक घंटे की देरी से चल रही हैं. बनारस-नई दिल्ली काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस और प्रतापगढ़-दिल्ली पद्मावत एक्सप्रेस दो घंटे के विलंब चल रही है. दुर्ग-हजरत निजामुद्दीन, डॉ अंबेडकर नगर-श्री माता वैष्णो देवी कटरा मालवा सुपरफास्ट एक्सप्रेस और दिल्ली ब्रह्मपुत्र मेल समेत कई ट्रेनें भी देरी से चल रही है. वहीं भारतीय रेलवे ने कहा कि हमसफर एक्सप्रेस भी अपने समय से ढाई घंटे विलंब से चल रही है. 

यह भी पढ़ें : Rakhi Sawant: पैपराजी के सामने झलक गया राखी का दर्द, कह दी ऐसी बात 

भुसावल-हजरत निजामुद्दीन गोंडवाना सुपरफास्ट एक्सप्रेस और जबलपुर-हजरत निजामुद्दीन गोंडवाना एक्सप्रेस ट्रेनें अपने तय वक्त से तीन घंटे से अधिक की देरी से चल रही है. आपको बता दें कि मंगलवार को भी घने कोहरे की वजह से कई ट्रेनें प्रभावित हुई थीं. ट्रेनों के विलंब से चलने की वजह कोहरा और सर्दी है. घने कोहरे (heavy fog) में दृश्यता शून्य हो जाती है, जिससे ट्रेनें यह तो कैंसिल हो जाती हैं या फिर देरी चलती हैं. इसकी वजह से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. 

First Published : 25 Jan 2023, 10:02:49 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.