News Nation Logo
अनन्या पांडे से सोमवार को फिर पूछताछ करेगी NCB अभिनेत्री अनन्या पांडे एनसीबी कार्यालय से रवाना हुईं, करीब 4 घंटे चली पूछताछ DRDO ने ओडिशा के चांदीपुर रेंज से हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (HEAT) का सफल परीक्षण किया कल जम्मू-कश्मीर जाएंगे गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक 27 अक्टूबर को, छठ पूजा उत्सव के लिए ली जाएगी अनुमति 1971 के भारत-पाक युद्ध ने दक्षिण एशियाई उपमहाद्वीप के भूगोल को बदल दिया: सीडीएस जनरल बिपिन रावत माता वैष्णों देवी मंदिर में तीर्थयात्रियों के बीच कोरोना का प्रसार रोकने के लिए नए दिशा-निर्देश जारी दिल्ली जा रही फ्लाइट में एक आदमी की अचानक तबीयत ख़राब होने पर फ्लाइट की इंदौर में इमरजेंसी लैंडिंग 1971 का युद्ध, इसमें भारतीयों की जीत और युद्ध का आधार बेहद खास है: राजनाथ सिंह केंद्र सरकार की टीम उत्तराखंड में आपदा से हुई क्षति का आकलन कर रही है: पुष्कर सिंह धामी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज बेंगलुरु में वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान का दौरा किया शिवराज सिंह चौहान ने शोपियां मुठभेड़ में शहीद जवान कर्णवीर सिंह को सतना में श्रद्धांजलि दी मुंबई के लालबाग इलाके में 60 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: कल शाम छह बजे सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस सीईसी की बैठक

सैलरी कम होने के बावजूद महंगे प्राइवेट अस्पताल में होगा बिल्कुल मुफ्त इलाज

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार ने ESIC लाभार्थियों के लिए बड़ा निर्णय लिया है. सरकार के निर्णय के तहत ESIC के लाभार्थी के घर के 10 किमी के दायरे में ईएसआईसी अस्पताल नहीं है तो ESIC के पैनल में शामिल अस्पतालों में लाभार्थी इलाज के लिए जा सकता है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 20 Feb 2021, 12:30:13 PM
सैलरी कम होने के बावजूद प्राइवेट अस्पताल में होगा बिल्कुल मुफ्त इलाज

सैलरी कम होने के बावजूद प्राइवेट अस्पताल में होगा बिल्कुल मुफ्त इलाज (Photo Credit: newsnation)

highlights

  • घर के 10 किलोमीटर के दायरे में ईएसआईसी अस्पताल नहीं होने पर पैनल में शामिल प्राइवेट अस्पतालों में करा सकते हैं इलाज
  • ईएसआई लाभार्थियों को ईएसआई के पैनल में शामिल अस्पताल में ओपीडी सेवा का फायदा मुफ्त में लेने के लिए जाना पड़ेगा

नई दिल्ली:

ESIC Scheme For Employees: अगर आपकी सैलरी काफी कम है और बीमार होने पर अस्पताल में भर्ती होने की नौबत आ गई है तो आपको घबराने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति की सैलरी 21 हजार रुपये से कम है और उसकी कंपनी ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) में आपका रजिस्ट्रेशन कराया हुआ है तो आप बड़े प्राइवेट अस्पतालों में भी इलाज के लिए जा सकते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार ने ESIC लाभार्थियों के लिए बड़ा निर्णय लिया है. सरकार के निर्णय के तहत अगर ESIC के लाभार्थी के घर के 10 किलोमीटर के दायरे में ईएसआईसी अस्पताल नहीं है तो कर्मचारी राज्य बीमा निगम के पैनल में शामिल प्राइवेट अस्पतालों में लाभार्थी इलाज के लिए जा सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक श्रम मंत्रालय के बयान के अनुसार ईएसआई योजना का विस्तार नए क्षेत्रों में होने की वजह से ईएसआई लाभार्थियों की संख्या में भारी बढ़ोतरी देखने को मिली है. 

यह भी पढ़ें: पीएम आवास योजना में 2.67 लाख रुपये तक की छूट के लिए ऐसे कर सकते हैं आवेदन

लाभार्थी को किसी ईएसआईसी अस्पताल या औषधालय से मंजूरी लेने की नहीं होगी जरूरत 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ईएसआई (How To Apply ESIC) सदस्यों को उनके घर के आस-पास बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सरकार ने यह महत्वपूर्ण फैसला किया है. सरकार ईएसआई सदस्यों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर निरंतर प्रयास कर रही है. श्रम मंत्रालय द्वारा जारी बयान के मुताबिक मौजूदा समय में कुछ इलाकों में 10 किलोमीटर के दायरे में ईएसआई के अस्पताल, औषधालय या इन्श्युर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर (आईएमपी) नहीं होने की वजह से ईएसआई लाभार्थियों को चिकित्सा सुविधा हासिल करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. बयान के अनुसार ईएसआई लाभार्थियों को ऐसे क्षेत्रों में ईएसआईसी के पैनल में शामिल अस्पतालों में स्वास्थ्य देखभाल की सुविधा प्राप्त करने का विकल्प उपलब्ध कराने की कोशिश की जा रही है. इस सुविधा का फायदा लेने के लिए लाभार्थी को किसी ईएसआईसी अस्पताल या औषधालय से मंजूरी लेने की जरूरत नहीं होगी.

यह भी पढ़ें: EPF को लेकर मोदी सरकार की ओर से आई बड़ी खबर, जानिए क्या है मामला

ईएसआई के पैनल में शामिल अस्पताल में ओपीडी सेवा का फायदा मुफ्त में लेने के लिए जाना पड़ेगा
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक श्रम मंत्रालय के अनुसार ईएसआई लाभार्थियों को इस तरह के इलाकों में ईएसआई के पैनल में शामिल अस्पताल में ओपीडी सेवा का फायदा मुफ्त में लेने के लिए जाना पड़ेगा. लाभार्थियों को इसके लिए ईएसआई ई-पहचान पत्र, स्वास्थ्य पासबुक के साथ आधार कार्ड अथवा सरकार द्वारा जारी पहचान पत्र प्रस्तुत करना जरूरी होगा. ओपीडी में डॉक्टर के द्वारा लिखी गई दवाओं के लिए किए गए भुगतान को वापस लेने की सुविधा ऐसे लाभार्थी को मिलेगी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ESIC अंशधारक इमरजेंसी में इलाज के लिए पैनल में शामिल या प्राइवेट अस्पताल में जा सकते हैं. पैनल में शामिल अस्पतालों में लाभार्थी का इलाज कैशलेस किया जाएगा.  

First Published : 20 Feb 2021, 11:48:37 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो