News Nation Logo

E-Shram Card से पाएं 3000-3000 रुपए पेंशन, ये भी होंगे फायदे

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 20 Jan 2022, 04:27:04 PM
e shram scheem

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: NEWS NATION)

highlights

  • सरकार ने असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए शुरु की स्कीम 
  • लेबर क्लास लोगों के जीवन स्तर को अच्छा बनाने के लिए सरकार का प्रयास 
  • ई-श्रम कार्ड के माध्यम से तैयार किया जा रहा डाटा 

नई दिल्ली :  

E-Shram Card Labour Pension: ई-श्रमकार्ड लेबर पेंशन स्कीम (labor pension scheme) देश के असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे लोगों के लिए शुरु की गई स्कीम है.  सरकार का मानना है कि इस पेंशन स्कीम से गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यापन करने वाले लोगों के जीवन स्तर में सुधार होगा. यही नहीं उन्हे पेंशन के साथ इस स्कीम से अन्य लाभ भी मिलेंगे. इसलिए सरकार असंगठित वर्ग से संबंधित श्रमिकों के लिए विभिन्न योजनाओं को लाती रहती है जिससे उनका निरंतर उत्थान हो सके. केन्द्र की मोदी सरकार ने एक बार फिर ई-श्रम कार्ड पोर्टल (E-Shram Card Portal) के माध्यम से ऐसे पात्र लोगों के आवेदन मांगे हैं. जिन्हे वास्तव में सरकारी स्कीम की आवश्यकता है.

यह भी पढ़ें : Alert: बूस्टर डोज के नाम पर अकाउंट हो रहे खाली, digitally ठगों ने अपनाया नया तरीका

आप को बता दें की असंगठित क्षेत्र के कामगारों और श्रमिकों के हित के लिए केंद्र सरकार ने एक पोर्टल भी बनाया है. इस पोर्टल के माध्यम से सरकार ऐसे सभी श्रमिकों और कामगारों के बारे में जानकारी और डेटा एकत्रित करेगी. और इसी डेटा के अनुसार उनके लिए अलग अलग योजनाओं और सुविधाओं का लाभ प्रदान करेगी. इसलिए ये आवश्यक होगा की सभी योग्य श्रमिक इस  ई-श्रमिक पोर्टल (E-Shram Portal) पर अपना पंजीकरण आवश्यक रूप से करवा लें. सभी श्रमिकों को पोर्टल पर पंजीकरण कराने पर एक  ई-श्रम कार्ड (E-Shram Card) जारी किया जाएगा जिसके माध्यम से वो इन योजनाओं का लाभ ले सकेंगे. आप को बता दें की ये कार्ड एक 12 अंकों वाला श्रमिक कार्ड होता है. जो एक तरह से श्रमिकों के पहचान के तरह कार्य करता है.

इन्हे मिलेगा लाभ
(E-Shram Card Labour Pension) योजना का लाभ उन्हें मिलेगा जो श्रमिक असंगठित क्षेत्र से जुड़े हैं और जिनकी आयु 18 से 40 वर्ष है. जिनकी आय 15 हजार रूपए से कम है. जैसे की – निर्माण कार्य करने वाले, मछुवारे, नौकर, सफाई कर्मी, दर्जी, रिक्शा- चालक , रेहड़ी-पटरी वाले , बुनकर आदि मजदूर आदि. दरअसल ये योजना असंगठित वर्ग के श्रमिकों को उनके वृद्धावस्था में पेंशन राशि प्रदान करने के लिए दी गयी है. आप को बता दें की इस योजना में श्रमिकों को 60 वर्ष पूरे होने पर पेंशन के रूप में 3000 रूपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी. जिससे वृद्धावस्था में वो अपना गुजारा कर सकें. यही नहीं यदि श्रमिक की मृत्यु हो जाती है तो ऐसी स्थिति में उनके जीवनसाथी को 1500 रूपए की मासिक पेंशन मिलनी जारी रहेगी.

First Published : 20 Jan 2022, 04:27:04 PM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.