News Nation Logo
Banner

Bank Strike 2021: आज से 2 दिन बैंकों की हड़ताल, सरकारी बैंकों के कामकाज पर दिख सकता है असर

Bank Strike 2021: जानकारी के मुताबिक इस हड़ताल (Bank Union Strike 2021) में 9 बैंक यूनियन हिस्सा ले रहे हैं. बैंकों के यूनियन ने निजीकरण के विरोध में इस हड़ताल का आह्वान किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 15 Mar 2021, 07:43:57 AM
Bank Strike News Update: Bank Union Strike 2021

Bank Strike News Update: Bank Union Strike 2021 (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के मोदी सरकार के फैसले के खिलाफ 15 मार्च और 16 मार्च को हड़ताल
  • यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियनंस के बैनर तले लगभग 10 लाख बैंक कर्मचारी हड़ताल में होंगे शामिल
  • बैंक यूनियनों और केंद्रीय वित्त मंत्रालय के बीच 4, 9 और 10 मार्च को हुई सुलह बैठक विफल रही थी

नई दिल्ली:

Bank Strike News Update: सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के मोदी सरकार (Modi Government) के फैसले के खिलाफ यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियनंस (United Forum of Bank Unions-UFBU) के बैनर तले लगभग 10 लाख बैंक कर्मचारी आज यानि 15 मार्च और 16 मार्च को हड़ताल करेंगे. जानकारी के मुताबिक इस हड़ताल (Bank Union Strike 2021) में 9 बैंक यूनियन हिस्सा ले रहे हैं. बैंकों के यूनियन ने निजीकरण के विरोध में इस हड़ताल का आह्वान किया है. इंडियन बैंक एसोसिएशन (Indian Banks Association-IBA) की ओर से यह जानकारी मिली है. ऑल इंडिया बैंक एम्पलाॉइज एसोसिएशन (All India Bank Employees Association-AIBEA) के महासचिव सी.एच. वेंकटचलम के अनुसार बैंक यूनियनों और केंद्रीय वित्त मंत्रालय के बीच 4, 9 और 10 मार्च को हुई सुलह बैठक विफल रही थी. 

यह भी पढ़ें: 1 अप्रैल से ऑनलाइन मिलेगा ऑल इंडिया टूरिस्ट परमिट

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में किया था 2 सरकारी बैंकों के निजीकरण का ऐलान

बता दें कि यूनियनों ने कहा था कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के अपने फैसले पर अगर सरकार पुनर्विचार करने पर सहमत हो जाती है तो वे अपनी हड़ताल पर पुनर्विचार करेंगे. वित्त मंत्रालय के प्रतिनिधि ऐसी कोई प्रतिबद्धता नहीं दिखा सके, इसलिए सुलह बैठक में कोई सकारात्मक परिणाम नहीं निकल सका था. AIBEA के महासचिव सी.एच. वेंकटचलम ने दावा किया था कि इस हड़ताल में करीब 10 लाख बैंक कर्मचारी शामिल हो सकते हैं. बता दें कि भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India-SBI), केनरा बैंक (Canara Bank) समेत कई सरकारी बैंकों ने ग्राहकों को हड़ताल को लेकर जानकारी दी है कि हड़ताल के दिन बैंक का कामकाज प्रभावित हो सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बैंकों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रस्तावित हड़ताल के दिन बैंकों और शाखाओं में सुचारू रूप से कामकाज के लिए बैंक जरूरी कदम उठा रहे हैं. बता दें कि बजट 2020-21 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दो सरकारी बैंकों और एक इंश्योरेंस कंपनी के निजीकरण का ऐलान किया था. उन्होंने वित्त वर्ष 2021-22 में दोनों बैंकों के निजीकरण की घोषणा की थी. 

यह भी पढ़ें: One Nation One Ration Card: मेरा राशन ऐप हुआ लॉन्च, जानिए कैसे कर सकते हैं इसका इस्तेमाल

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियनंस के सदस्यों में ऑल इंडिया बैंक एम्पलाॉइज एसोसिएशन, ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडेरेशन ((All India Bank Officers Confederation-AIBOC), बैंक एम्पलॉइज कन्फेडेरेशन ऑफ इंडिया (Bank Employees Confederation of India -BEFI), नेशनल कन्फेडेरेशन ऑफ बैंक एम्पलॉइज (National Confederation of Bank Employees- NCBE) और ऑल बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (All India Bank Officers Association-AIBOA) शामिल हैं.

First Published : 15 Mar 2021, 07:41:16 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.