News Nation Logo
दिल्ली कैबिनेट का बड़ा फैसला, दिल्ली में पेट्रोल 8 रुपए सस्ता आईआरएस अधिकारी विवेक जौहरी ने CBIC के अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभाला निलंबित 12 विपक्षी सदस्य (राज्यसभा) निलंबन के विरोध में संसद में गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठे प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस और द्रमुक सांसदों ने लोकसभा से वाक आउट किया दिसंबर के पहले दिन ही महंगाई की मार, महंगा हो गया कॉमर्श‍ियल LPG सिलेंडर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन पर आज लोकसभा में होगी चर्चा UPTET पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय गिरफ्तार संसद भवन के कमरा नंबर 59 में लगी आग, बुझाने की कोशिश जारी पुलवामा एनकाउंटर में दो आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी

फ्लाइट में अब 85 प्रतिशत तक यात्री कर सकते हैं सफर, नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने दी मंजूरी

उड्डयन मंत्रालय ने शनिवार को यात्री क्षमता 72.5 प्रतिशत से बढ़ाकर 85 प्रतिशत कर दी. एक आधिकारिक अधिसूचना में, मंत्रालय ने कहा कि यह निर्णय अनुसूचित घरेलू परिचालन की वर्तमान स्थिति की समीक्षा के बाद लिया गया था. 

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 19 Sep 2021, 07:26:24 AM
flight

फ्लाइट में अब 85 प्रतिशत तक यात्री कर सकते हैं सफर (Photo Credit: ANI )

highlights

  • नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने फ्लाइट में यात्री क्षमता बढ़ा दी
  • अब 85 प्रतिशत यात्री विमान में कर सकते हैं सफऱ
  • टिकट के दाम में भी कमी लाने के दिए गए आदेश 

नई दिल्ली :

देश में कोरोना केस में गिरावट आने से लोग राहत की सांस ले रहे हैं. जिंदगी पटरी पर लौट रही है. इधर नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने भी कोविड-19 मामले में गिरावट के बाद फ्लाइट में यात्री क्षमता बढ़ा दी है. उड्डयन मंत्रालय ने शनिवार को यात्री क्षमता 72.5 प्रतिशत से बढ़ाकर 85 प्रतिशत कर दी. एक आधिकारिक अधिसूचना में, मंत्रालय ने कहा कि यह निर्णय अनुसूचित घरेलू परिचालन की वर्तमान स्थिति की समीक्षा के बाद लिया गया था.  मंत्रालय ने शनिवार को एक नया आदेश जारी किया, जिसमें उसने 12 अगस्त के आदेश को संशोधित करते हुए कहा कि 72.5 प्रतिशत क्षमता को 85 प्रतिशत क्षमता के रूप में पढ़ा जाए. शनिवार के आदेश में यह भी कहा गया है कि यह सीमा ‘‘अगले आदेश तक’’ लागू रहेगी.

पिछले साल लॉकडाउन के दौरान निर्धारित घरेलू उड़ानों पर पूर्ण प्रतिबंध के बाद, 33 प्रतिशत की क्षमता के साथ दो महीने के अंतराल के बाद, 25 मई, 2020 को परिचालन शुरू हुआ. सरकार ने दो महीने के ब्रेक के बाद पिछले साल 25 मई को निर्धारित घरेलू उड़ानों को फिर से शुरू किया था. मंत्रालय ने वाहकों को अपनी पूर्व-कोविड घरेलू सेवाओं के 33 प्रतिशत से अधिक नहीं संचालित करने की अनुमति दी थी. इसके बाद दिसंबर 2020 तक इसे बढ़ाकर 80 प्रतिशत कर दिया गया था. लेकिन कोरोना के बढ़ते मामले देखते हुए 1 जून 2021 को फिर से इसे घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया गया. फिर 5 जून को बढ़ाकर 65 फीसदी कर दिया गया. 12 अगस्त से घरेलू उड़ानें 72.5 फीसदी पर चल रही हैं.

इसे भी पढ़ें:सुनील जाखड़ हो सकते हैं पंजाब के नए सीएम, अंबिका भी रेस में

मंत्रालय ने कहा था कि देश भर में कोविड-19 के मामलों में अचानक वृद्धि, यात्रियों की संख्या में कमी के मद्देनजर 28 मई को एक जून से अधिकतम सीमा को 80 से 50 प्रतिशत तक लाने का निर्णय किया गया था.

इससे पहले नागर विमानन मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि हवाई किराये की निचली और ऊपरी सीमा किसी भी समय 15 दिनों तक लागू होगी और विमानन कंपनी 16वें दिन से बिना किसी सीमा के शुल्क लेने के लिए स्वतंत्र होंगी. इस साल 12 अगस्त से लागू यह व्यवस्था फिलहाल 30 दिनों के लिए थी और विमानन कंपनियां 31वें दिन से बिना किसी सीमा के शुल्क ले रही थीं.

First Published : 19 Sep 2021, 07:21:49 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.