News Nation Logo
Banner

निरंजनी अखाड़े के सचिव महंत रविन्द्रपुरी कोरोना पॉजिटिव, 17 संत भी संक्रमित

निरंजनी अखाड़े के सचिव रविन्द्र पुरी कोरोना संक्रमित हो गए हैं. उनको ऋषिकेश एम्स में भर्ती कराया गया है. रविन्द्रपुरी महाराज समेत अखाड़े के 17 संतो को कोरोना संक्रमण हुआ है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 16 Apr 2021, 04:46:47 PM
Mahant Ravindra Puri, secretary, Niranjani Akhara

निरंजनी अखाड़े के महंत रविन्द्रपुरी कोरोना पॉजिटिव (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • कोरोना संक्रमण का प्रकोप कुंभ पर हावी दिखाई दे रहा है
  • महाकुंभ में कोरोना से पहले संत की मौत हो गयी है
  • महामंडलेश्वर कपिलदेव की मौत से संत समाज सहमा

देहरादून :

कोरोना संक्रमण का प्रकोप कुंभ पर हावी दिखाई दे रहा है. कोविड-19 की वजह से महामंडलेश्वर कपिलदेव की मौत से संत समाज सहमा हुआ है. इस बीच एक और संत कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. उनके साथ 17 और साधु भी कोरोना संक्रमित हैं. दरअसल, निरंजनी अखाड़े के सचिव रविन्द्र पुरी कोरोना संक्रमित हो गए हैं. उनको ऋषिकेश एम्स में भर्ती कराया गया है. रविन्द्रपुरी महाराज समेत अखाड़े के 17 संतो को कोरोना संक्रमण हुआ है. सभी संतो की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है. निरंजनी अखाड़े के श्रीमहंत और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष पहले से ही कोरोना पॉजिटिव हैं. ऋषिकेश एम्स हॉस्पिटल में इनका इलाज चल रहा है.

यह भी पढ़ें : 'शहर को आखिर ये हुआ क्या, चारों तरफ लाशें ही लाशें', भोपाल में 36 बाद फिर खौफनाक मंजर

बता दें कि गुरुवार को महंत रविंद्रपुरी ने ही आगामी 17 अप्रैल को कुंभ के समापन की घोषणा की थी. इसके साथ ही 16 अन्य संत भी कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं. सभी संतों को उनके आवास पर ही आइसोलेट किया गया है. कोरोना नियमों का पालन करते हुए शंकराचार्य छावनी लगी रहेगी. उन्होंने कहा कि मेला समापन करने का अधिकार केवल प्रदेश के मुख्यमंत्री और मेला प्रशासन को है. उन्होंने कहा कि मेला जारी रहेगा और 27 अप्रैल को सभी बैरागी संत शाही स्नान करेंगे.

यह भी पढ़ें : ऑक्सीजन की कमी पर पीएम मोदी गंभीर, समीक्षा बैठक कर दिए निर्देश

दरअसल, महाकुंभ में कोरोना से पहले संत की मौत हो गयी है. कोरोना से एमपी से आए महामंडलेश्वर कपिल देव की मौत हो गयी है. वे मध्य प्रदेश से महाकुंभ में आए थे. महामंडलेश्वर. निर्वाणी अखाड़ा के महामंडलेश्वर कपिल देव कोरोना संक्रमित पाए गए थे. वे चित्रकूट से हरिद्वार कुंभ में शामिल हुए थे. संक्रमित होने के बाद इलाज के लिए निजी अस्पताल में हुए थ. भर्ती.13 अप्रैल को एक निजी अस्पताल में हुई थी गुरूवार को कपिल देव की मौत हाीे गयी.

यह भी पढ़ें : अमित शाह बोले - 2 मई को सोनार बांग्ला के युग की शुरुआत होगी

कैलाश अस्पताल के डायरेक्टर पवन शर्मा ने की पुष्टि की है. गौरतलब है कि महाकुंभ के दौरान कोरोना संक्रमण अखाड़ों की छावनियों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है. अखाड़ों में संक्रमित संतों की संख्या 40 तक पहुंच गई है. सभी 13 अखाड़ों की छावनियों में हजारों की संख्या में देशभर से आए संत कल्पवास कर रहे हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 16 Apr 2021, 04:20:52 PM

For all the Latest States News, Uttarakhand News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.